Wednesday, November 30, 2022
Homeफ़ैक्ट चेकसोशल मीडिया फ़ैक्ट चेक2024 में समाप्त हो जाएगा मोदी का कार्यकाल, कानून के मुताबिक फिर नहीं बन...

2024 में समाप्त हो जाएगा मोदी का कार्यकाल, कानून के मुताबिक फिर नहीं बन पाएँगे PM: दावे में कितना दम

एंड्रिया उर्फ ​​रिया खुद को पूर्व आरजे और वीजे बताती है जो ज़ी टीवी में काम कर चुकी हैं। वह वर्तमान में भारतीय युवा कॉन्ग्रेस से जुड़ी हुई हैं।

भारतीय कानून प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को 2024 का चुनाव लड़ने की इजाजत नहीं देता है। यह दावा ट्विटर पर कॉन्ग्रेस कार्यकर्ता एंड्रिया डिसूजा उर्फ रिया ने किया है। उनका कहना है कि 2024 में मोदी का कार्यकाल समाप्त हो रहा है और इसके बाद वह कानूनन प्रधानमंत्री के तौर पर वापसी नहीं कर सकते। इस कांस्पीरेसी थ्योरी को हवा देते हुए रिया ने यह भी पूछ लिया है कि बीजेपी का अगला पीएम चेहरा कौन होगा।

रिया का ट्वीट

हालाँकि, एंड्रिया के दावे पूरी तरह से गलत हैं। भारत का संविधान किसी भी भारतीय नागरिक को देश का प्रधानमंत्री बनने का अधिकार देता है, बशर्ते वह व्यक्ति लोकसभा या राज्य सभा का सदस्य हो। इसके अलावा भारत में लोकसभा और राज्यसभा का सदस्य बनने के लिए न्यूनतम आयु क्रमशः 25 और 30 वर्ष निर्धारित है।

एक प्रधानमंत्री के तौर पर देश की सेवा करने की कोई सीमा नहीं है। इस परिप्रेक्ष्य में इन चीजों को इस तरह से समझा जा सकता है कि जवाहरलाल नेहरू स्वतंत्रता के ठीक बाद भारत के अंतरिम प्रधान मंत्री थे और उन्हें 1952, 1957 और 1962 के चुनावों में तीन बार फिर से चुना गया था।

हालाँकि, अमेरिका में कार्यकाल सीमित है। लेकिन भारत अपने संविधान से चलता है न कि अमेरिकी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 2024 का आम चुनाव भी लड़ सकते हैं और विजय हासिल करने पर तीसरे कार्यकाल के लिए प्रधानमंत्री के तौर पर शपथ भी ले सकते हैं। ऐसे में जाहिर है कि एंड्रिया उर्फ रिया एक काल्पनिक कानून की बात कर रही हैं।

कुछ लोगों ने तो यहाँ तक ​​कह दिया कि अगर रिया और अमीबा के बीच (बुद्धि का) मुकाबला हुआ तो अमीबा जीत जाएगा।

ऐसे कठिन समय में रिया की बदौलत नेटिज़न्स को खुलकर हँसने का मौका मिला, इसके लिए उन्हें धन्यवाद दिया जाना चाहिए।

एंड्रिया उर्फ ​​रिया खुद को पूर्व आरजे और वीजे बताती है जो ज़ी टीवी में काम कर चुकी हैं। वह वर्तमान में भारतीय युवा कॉन्ग्रेस से जुड़ी हुई हैं। वह ‘कामसूत्र 3डी’ और ‘फॉर एडल्ट्स ओनली’ के साथ ही पाकिस्तानी धारावाहिक ‘माटी’ में भी काम कर चुकी हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘मौलाना साद को सौंपी जाए निजामुद्दीन मरकज की चाबियाँ’: दिल्ली HC के आदेश पर पुलिस को आपत्ति नहीं, तबलीगी जमात ने फैलाया था कोरोना

दिल्ली हाईकोर्ट ने पुलिस को तबलीगी जमात के निजामुद्दीन मरकज की चाबी मौलाना साद को सौंपने की हिदायत दी। पुलिस ने दावा किया है कि वह फरार है।

e₹-R के लिए हो जाइए तैयार, डिजिटल रुपए के लॉन्च के लिए तैयार है रिजर्व बैंक: इन 8 बैंकों से होगी लेनदेन की शुरुआत,...

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने गुरुवार (1 दिसबंर, 2022) से रिटेल डिजिटल रुपए (Digital Rupee) या ई-रुपी (e₹-R) को लॉन्च करने का ऐलान किया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
236,110FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe