Saturday, July 31, 2021
Homeफ़ैक्ट चेकसोशल मीडिया फ़ैक्ट चेकFact Check: क्या पूरे देश में 25 सितंबर से फिर लागू होगा लॉकडाउन? जानिए...

Fact Check: क्या पूरे देश में 25 सितंबर से फिर लागू होगा लॉकडाउन? जानिए क्या है इस वायरल खबर की सच्चाई

वायरल हो रही खबर में कहा गया है कि आपदा विभाग के एक लेटरपैड पर सरकारी आदेश लिखा हुआ है कि ये लॉकडाउन 46 दिन का होगा। साथ ही कहा गया है कि एनडीएमए, योजना आयोग के साथ मिलकर पीएमओ और गृह मंत्रालय से गुजारिश करती है कि 25 सितंबर की रात से लॉकडाउन को लगा दिया जाए।

कोरोना के बढ़ते संक्रमण के बीच लॉकडाउन को फिर से लागू करने की अटकलें लगाई जा रही है। सोशल मीडिया पर एक खबर तेजी से वायरल हो रही है कि सरकार जल्द ही एक बार फिर से लॉकडाउन लगाने जा रही है।

46 दिन का होगा लॉकडाउन 

वायरल हो रही खबर में कहा गया है कि आपदा विभाग के एक लेटरपैड पर सरकारी आदेश लिखा हुआ है कि ये लॉकडाउन 46 दिन का होगा। साथ ही कहा गया है कि एनडीएमए, योजना आयोग के साथ मिलकर पीएमओ और गृह मंत्रालय से गुजारिश करती है कि 25 सितंबर की रात से लॉकडाउन को लगा दिया जाए। हालाँकि इस दौरान सभी आवश्यक सेवाएँ पहले की तरह चलती रहेंगी।

Whatsapp forward during the rounds about the imminent lockdown

इसी तरह से इन दिनों सोशल मीडिया पर नेशनल डिजास्टर मैनेजमेंट अथॉरिटी (NDMA) के नाम से एक सर्कुलर वायरल हो रहा है। इसमें बताया गया है कि एक बार फिर से 25 सितंबर से लॉकडाउन लगेगा।

Copy of alleged order being circulated on social media websites

वायरल हो रहे लेटर में लिखा है, “देश में कोरोना वायरस के मामलों को फैलने से रोकने और मृत्युदर को कम करने के लिए, योजना आयोग के साथ एनडीएमए भारत सरकार से आग्रह करता है और पीएमओ व गृह मंत्रालय को निर्देश देता है कि 25 सितंबर की आधी रात से 46 दिनों का देशव्यापी लॉकडाउन लागू किया जाए। देश में आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति शृंखला को बनाए रखने के लिए एनडीएमए मंत्रालय को सूचना जारी कर रहा है।”

क्या कहता है पीआईबी का फैक्ट

हालाँकि, सरकार की तरफ से प्रेस इंफोर्मेशन ब्यूरो (PIB) द्वारा किए गए फैक्ट चेक में इस खबर को फर्जी बताया गया है। पीआईबी फैक्ट चेक के मुताबिक केंद्र सरकार ने इस संबंध में न तो कोई आदेश जारी किया है, न ही इस संबंध में कोई विचार विमर्श के लिए नोटिस जारी किया है। पीआईबी ने अपने ट्वीट में लिखा, “यह लेटर फेक है। NDMA ने फिर से लॉकडाउन लागू करने के लिए कोई आदेश जारी नहीं किया है।”

गौरतलब है कि भारत में मार्च के अंत में देशव्यापी लॉकडाउन लगाया गया था। सरकार ने कोरोना वायरस के मामलों की रोकथाम के लिए लॉकडाउन लागू किया था। इसके बाद जून से कई फेज में लॉकडाउन को फिर से खोला गया। हालाँकि, स्कूल-कॉलेज अभी भी बंद हैं, जबकि मार्च महीने से बंद मेट्रो को एक हफ्ते पहले चलाने की हरी झंडी दी गई।

भारत में कोरोना वायरस के मरीजों का आँकड़ा 49 लाख के पार हो गया है। स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के ताजा आँकड़ों के अनुसार, बीते 24 घंटों में देश भर में 83,809 नए केस सामने आए हैं, वहीं 1,054 मरीजों ने जान गँवाई है। इस तरह कुल मरीजों का आँकड़ा 49,30,237 पार हो गया है। अभी 9,90,061 मरीजों का देश के विभिन्न अस्पतालों में इलाज चल रहा है। 38,59,400 मरीज ठीक हो चुके हैं, जबकि मृतकों का आँकड़ा 80,776 पहुँच गया है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

पेगासस: ‘खोजी’ पत्रकारिता का भ्रमजाल, जबरन बयानबाजी और ‘टाइमिंग’- देश के खिलाफ हर मसाले का प्रयोग

दुनिया भर में कुल जमा 23 स्मार्टफोन में 'संभावित निगरानी' को लेकर ऐसा बड़ा हल्ला मचा दिया गया है, मानो 50 देशों की सरकारें पेगासस के ज़रिए बड़े पैमाने पर अपने नागरिकों की साइबर जासूसी में लगी हों।

पिता ने उधार लेकर करवाई हॉकी की ट्रेनिंग, निधन के बाद अंतिम दर्शन भी छोड़ा: अब ओलंपिक में इतिहास रच दी श्रद्धांजलि

वंदना कटारिया के पिता का सपना था कि भारतीय महिला हॉकी टीम ओलंपिक में स्वर्ण पदक जीते। बचपन में पिता ने उधार लेकर उन्हें हॉकी की ट्रेनिंग दिलवाई थी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,163FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe