Monday, August 15, 2022
Homeफ़ैक्ट चेकसोशल मीडिया फ़ैक्ट चेकपूर्व PM मनमोहन के सलाहकार व NDTV पत्रकार ने फैलाया झूठ, कहा- चीन से...

पूर्व PM मनमोहन के सलाहकार व NDTV पत्रकार ने फैलाया झूठ, कहा- चीन से भारत में होने वाला आयात 27% बढ़ा

'PIB फैक्ट-चेक' ने इस दावे को फेक बताते हुए जानकारी दी कि चीन से भारत में होने वाले आयात में 27.63% की कमी आई है, न कि ये बढ़ा है। बढ़ा है तो निर्यात। अपनी पोल खुलने के बाद पंकज पचौरी दावा करने लगे कि कुछ भी हो, व्यापार तो बढ़ा है और वो इसी की बात कर रहे थे।

पत्रकार पंकज पचौरी ने भारत-चीन तनाव के बीच झूठ फैलाया है। NDTV में 15 वर्षों तक काम कर चुके पंकज पचौरी ने दावा किया कि जहाँ सीमा पर ‘लाइन ऑफ एक्चुअल कण्ट्रोल (LAC)’ पर चीन के सामने भारत अपनी आँखें लाल कर रहा है और QUAD राष्ट्रों को चीन को घेरने के लिए आमंत्रित कर रहा है, वहीं दूसरी तरफ चीन से होने वाले आयात (Imports) में अप्रैल-अगस्त के बीच 27% की बढ़ोतरी हुई है।

इसके साथ ही उन्होंने लिखा कि ‘राजनीति का कारोबार’ कभी भी ‘असली व्यापार’ के रास्ते का रोड़ा नहीं बन सकता, कभी नहीं। हालाँकि, ट्विटर पर ‘PIB फैक्ट-चेक’ ने उनके इस दावे की धज्जियाँ उड़ा दी। दरअसल, अप्रैल-अगस्त की अवधि में भारत में आयत नहीं, बल्कि भारत का निर्यात (Exports) इस अवधि में 27% बढ़ा है। यानी, भारत ने चीन को पिछली अवधि के मुकाबले ज्यादा सामान बेचा है।

यहाँ पंकज पचौरी आयात और निर्यात (Imports & Exports) के बीच का अंतर भूल बैठे और इस डेटा को बिना जाने-समझे ट्वीट कर दिया। ‘PIB फैक्ट-चेक’ ने इस दावे को फेक बताते हुए जानकारी दी कि चीन से भारत में होने वाले आयात में 27.63% की कमी आई है, न कि ये बढ़ा है। बढ़ा है तो निर्यात। अपनी पोल खुलने के बाद पंकज पचौरी दावा करने लगे कि कुछ भी हो, व्यापार तो बढ़ा है और वो इसी की बात कर रहे थे।

NDTV के मैनेजिंग एडिटर रहे पंकज पचौरी को डॉक्टर मनमोहन सिंह ने जनवरी 2012 में अपना मीडिया सलाहकार नियुक्त किया था। उन्हें ‘कम्युनिकेशंस एडवाइजर’ का पद दिया गया था। तब पीएम मनमोहन के मीडिया सलाहकार रहे हरीश खरे के इस्तीफे के बाद उन्हें इस पद पर लाया गया था। अब वो ‘GoNewsIndia’ नामक मीडिया पोर्टल चलाते हैं, जिसके संस्थापक भी वही हैं। उन्होंने कई दफा मनमोहन सरकार का बचाव भी किया था।

चीन की सत्ताधारी कम्युनिस्ट पार्टी के मुखपत्र ‘ग्लोबल टाइम्स’ ने भी कहा था कि 1 साल में भारत-चीन के बीच व्यापार में 10.9% की कमी आई है। चीन के आँकड़े अनुसार, चीन से भारत में होने वाला आयात में 17.7% नीचे गिरा है। और भारत से चीन में भारत से होने वाला निर्यात इतना ही बढ़ा है। चीन इस बात से घबराया हुआ है कि कहीं भारत में उसका बाजार ख़त्म न हो जाए। हाल ही में भारत ने कई चीनी एप्लीकेशंस को बैन किया

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

स्वतंत्रता के हुए 75 साल, फिर भी बाँटी जा रही मुफ्त की रेवड़ी: स्वावलंबन और स्वदेशी से ही आएगी आर्थिक आत्मनिर्भरता

जब हम यह मानते हैं कि सत्य की ही जय होती है तब ईमानदार सत्यवादी देशभक्त नेताओं और उनके समर्थकों को ईडी आदि से भयभीत नहीं होना चाहिए।

जालौर में इंद्र मेघवाल की मौत: मृतक की जाति वाले टीचर ने नकारा भेदभाव, स्कूल में 8 में से 5 स्टाफ SC/ST

जालौर में इंद्र मेघवाल की मौत पर दावा कि आरोपित हेडमास्टर ने मटकी से पानी पीने पर मारा, जबकि अन्य लोगों का कहना है कि वहाँ कोई मटकी नहीं है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
213,900FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe