Tuesday, July 27, 2021
Homeफ़ैक्ट चेकसोशल मीडिया फ़ैक्ट चेकफैक्टचेक: मौलवी हर रात नए बच्चे के साथ सोता है, हिन्दू बच्चियों से गलत...

फैक्टचेक: मौलवी हर रात नए बच्चे के साथ सोता है, हिन्दू बच्चियों से गलत काम करने बोलता है

बच्चे ने बड़ा खुलासा करते हुए बताया कि रात में भोजन करने के बाद मौलवी मदरसे के किसी न किसी बच्चे को लेकर अपने बिस्तर पर सो जाता है। उसने बताया कि मौलवी नहाने के समय गुसलखाने में भी लड़कों के साथ गन्दी बात करता है। वीडियो से प्रतीत होता है कि ये बच्चा किसी छोटी बच्ची को लेकर कहीं जा रहा था। उससे किसी ने पूछा कि...

सोशल मीडिया पर एक बच्चे का वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें वो एक मौलवी द्वारा किए गए काले करतूतों को लेकर बात कर रहा है। बच्चे ने वायरल वीडियो में बताया कि वो इस्लामिया मदरसा का छात्र है। उसने बताया कि उस मदरसे में जो मौलवी उर्दू पढ़ाता है, वो बच्चों के साथ सोता है। बच्चे ने बताया कि सुबह 4 बजे ही मदरसे में सबको उठा दिया जाता है, जिसके बाद उन्हें नमाज पढ़ाया जाता है।

मदरसे की दिनचर्या बताने के क्रम में बच्चे ने कहा कि सुबह के नाश्ते के बाद पढ़ाई होती है, फिर दोपहर में नमाज के बाद वो खा कर सो जाते हैं। बच्चे ने बताया कि मदरसे में उर्दू के अलावा कुछ और नहीं पढ़ाया जाता है। इसके अलावा हदीस पढ़ाया जाता है। उक्त मौलवी के बारे में बच्चे ने बताया कि वो सीतापुर का रहने वाला है, जो हाथरस में रहता है। साथ ही वो उर्दू के अलावा कुछ और की शिक्षा नहीं देता है।

बच्चे ने बड़ा खुलासा करते हुए बताया कि रात में भोजन करने के बाद मौलवी मदरसे के किसी न किसी बच्चे को लेकर अपने बिस्तर पर सो जाता है। उसने बताया कि मौलवी नहाने के समय गुसलखाने में भी लड़कों के साथ गन्दी बात करता है। वीडियो से प्रतीत होता है कि ये बच्चा किसी छोटी बच्ची को लेकर कहीं जा रहा था। उससे किसी ने पूछा कि वो इस बच्ची को लेकर क्यों जा रहा है?

इसके जवाब में बच्चे ने कहा कि मौलवी उसे गन्दी बातें करने को बोलते हैं और कहते हैं कि हिन्दुओं की लड़कियों के साथ ‘गन्दी बातें’ करो।

पुलिस ने इस वायरल वीडियो के बारे में अहम जानकारी दी। हाथरस पुलिस ने इस घटना को लेकर कहा कि उक्त प्रकरण में प्रभारी निरीक्षक सादाबाद द्वारा बताया गया कि उक्त वीडियो वर्ष 2018 का है। पुलिस ने बताया कि इसके संबंध में थाना सादाबाद पर वर्ष 2018 में अभियोग पंजीकृत कर 03 नामजद बालअपराधियों को बाल सुधारगृह एवं एक अन्य प्रकाश में आए अभियुक्त को गिरफ्तार कर जेल भेजा जा चुका है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘कारगिल कमेटी’ पर कॉन्ग्रेस की कुण्डली: लोकतंत्र की सुरक्षा के लिए राष्ट्रीय सुरक्षा राजनीतिक दृष्टिकोण का न हो मोहताज

हमें ध्यान में रखना होगा कि जिस लोकतंत्र पर हम गर्व करते हैं उसकी सुरक्षा तभी तक संभव है जबतक राष्ट्रीय सुरक्षा का विषय किसी राजनीतिक दृष्टिकोण का मोहताज नहीं है।

असम-मिजोरम बॉर्डर पर भड़की हिंसा, असम के 6 पुलिसकर्मियों की मौत: हस्तक्षेप के दोनों राज्‍यों के CM ने गृहमंत्री से लगाई गुहार

असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने ट्वीट कर बताया कि असम-मिज़ोरम सीमा पर तनाव में असम पुलिस के 6 जवानों की जान चली गई है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,363FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe