Wednesday, September 28, 2022
Homeफ़ैक्ट चेकसोशल मीडिया फ़ैक्ट चेकनेताजी के बदले एक्टर प्रसनजीत चटर्जी के पोट्रेट का राष्ट्रपति कोविंद ने कर दिया...

नेताजी के बदले एक्टर प्रसनजीत चटर्जी के पोट्रेट का राष्ट्रपति कोविंद ने कर दिया अनावरण? फैक्टचेक

"माननीय राष्ट्रपति सर, कृपया इस पोट्रेट को रिप्लेस करें। हम राष्ट्रपति भवन की पवित्र दीवारों पर फर्जी नेताजी नहीं देख सकते हैं।"

लिबरल गिरोह ने नेताजी सुभाष चंद्र बोस के नाम पर एक नया प्रोपेगेंडा शुरू किया है। इसमें वह नेताजी की उस पोट्रेट पर सवाल उठा रहे हैं जिसका अनावरण राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने उनकी 125वीं जयन्ती के मौके पर 23 जनवरी को किया था। 

इस पोट्रेट को लेकर गिरोह का दावा है कि वह सुभाष चंद्र बोस की तस्वीर नहीं है। उनके अनुसार ये पोट्रेट प्रसनजीत चटर्जी (Prosenjit Chatterjee) की है, जिन्होंने बोस पर बनी फिल्म में उनका किरदार अदा किया था।

राष्ट्रपति कोविंद पर इस संबंध में सवाल उठाने वालों की सूची बहुत लंबी है। इसमें बरखा दत्त, सागरिका घोष जैसे चर्चित नाम हैं। बरखा दत्त इस संबंध में लिखती हैं, “ये सुन कर हैरान हूँ कि राष्ट्रपति ने असली नेताजी की जगह उनका रोल निभाने वाले प्रसनजीत चटर्जी की पोट्रेट का अनावरण किया। इसे देखना पड़ेगा। मुझे दो बार चेक करना पड़ेगा कि आखिर ये है क्या। कितना शर्मनाक है।”

Netaji Prosenjit Chatterjee

सागरिका घोष लिखती हैं, “माननीय राष्ट्रपति सर, कृपया इस पोट्रेट को रिप्लेस करें। हम राष्ट्रपति भवन की पवित्र दीवारों पर फर्जी नेताजी नहीं देख सकते हैं।” 

डॉ. आदिल हुसैन लिखते हैं, “भारत के राष्ट्रपति ने राष्ट्रपति भवन में प्रसनजीत चटर्जी के आधिकारिक तस्वीर का अनावरण किया, नेताजी का नहीं। इन्होंने श्रीजीत मुखर्जी निर्देशित फिल्म गुमनामी में नेताजी का रोल अदा किया था। कास्टिंग की जय हो।”

Netaji Prosenjit Chatterjee

महुआ मित्रा लिखती हैं, “राम मंदिर के लिए 5 लाख रुपए की डोनेशन के बाद राष्ट्रपति, प्रसनजीत के चित्र का अनावरण नेताजी के सम्मान में कर रहे हैं जिन्होंने उनकी बॉयोपिक में उनका रोल निभाया। भगवान बचाए भारत को (क्योंकि ये सरकार तो नहीं बचा सकती।)”

Netaji prosenjit chatterjee

सोशल मीडिया में तमाम लोग इस तरह के दावे कर रहे हैं। ऐसे में जरूरी है ये जानना कि आखिर सच्चाई क्या है? क्या वाकई वामपंथी मीडिया गिरोह के कहे मुताबिक देश के राष्ट्रपति से इतनी बड़ी गलती हुई या फिर लोगों के मन में संशय उत्पन्न करके ये कोई प्रोपेगेंडा फैलाने का प्रयास है?

The portrait of Netaji on the Left and Prosenjit Chatterjee on the right
नेताजी सुभाष चंद्र बोस और उनका किरदार अदा करने वाले प्रसनजीत चटर्जी

भाजपा नेता कपिल मिश्रा ने ऐसे प्रश्नों का जवाब देते हुए तीन तस्वीर शेयर कर लिखा है, “बरखा दत्त और उनकी गैंग का शर्मनाक फर्जी प्रोपेगेंडा। पहली तस्वीर नेताजी की असली तस्वीर है। दूसरा उनका राष्ट्रपति भवन में स्केच है। तीसरी तस्वीर प्रसनजीत चटर्जी की है।” वह लिखते हैं “बरखा दत्त कहती हैं कि दूसरी तस्वीर तीसरी जैसी है लेकिन पहली जैसी नहीं है।”

चंद्र कुमार बोस का ट्वीट

उनके अलावा, नेताजी सुभाष चंद्र बोस के पोते चंद्र कुमार बोस ने भी अपने दादाजी की तस्वीर जनवरी 2020 में शेयर की थी। तस्वीर देख कर अंदाजा लगाया जा सकता है कि चंद्र बोस द्वारा शेयर फोटो और पद्मश्री से सम्मानित परेश मैती द्वारा बनाई गई तस्वीर एक ही हैं। मैती का काम किसी किरदार पर आधारित नहीं है, बल्कि असली नेताजी की तस्वीर से जुड़ा हुआ है। नए पोर्ट्रेट में मैती के हस्ताक्षर भी देखे जा सकते हैं।

The portrait is the work of a Bengali painter of repute and Padma Shri Awardee Paresh Maity and is definitely not Prosenjit Chatterjee
बंगाली पेंटर पद्म श्री द्वारा निर्मित नेताजी का स्केच

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

कुछ दिन शांत देख कर नींद में समझा क्या… PFI पर बैन के बाद लोगों को अमित शाह में दिखा ‘पुष्पा’, कहा – मौज...

PFI पर बैन लगने के बाद सोशल मीडिया में टॉप ट्रेंड बन गया #PFIBan. यूजर्स मीम्स शेयर कर के कह रहे हैं अपनी बात। मोदी सरकार की हो रही तारीफ़।

बंगाल का एक दुर्गा पूजा पंडाल ऐसा भी: याद उनकी जो चुनाव बाद मार डाले गए, सुनाई देगी माँ की रुदन

दुर्गा पूजा में अलग-अलग थीम के पंडाल के तैयार किए जाते हैं। पश्चिम बंगाल में इस बार एक पूजा पंडाल उन लोगों की याद में तैयार किया गया है जो विधानसभा चुनाव के बाद राजनीतिक हिंसा में मार डाले गए थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
224,749FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe