Thursday, June 30, 2022
Homeफ़ैक्ट चेकसोशल मीडिया फ़ैक्ट चेकपंजाब CM भगवंत मान के साथ खड़े गोल्डी बराड़ का सिद्धू मूसेवाला की हत्या...

पंजाब CM भगवंत मान के साथ खड़े गोल्डी बराड़ का सिद्धू मूसेवाला की हत्या में हाथ?: जानें वायरल दावे की सच्चाई

सोशल मीडिया पर एक वीडियो पोस्ट कर पंजाब के गोल्डी बराड़ ने ये स्पष्ट किया, “मैं गोल्डी बराड़, गाँव जंदवाला से राजिंदर सिंह का बेटा हूँ। सिद्धू मूसेवाला की हत्या की आज की दु:खद घटना में सोशल मीडिया पर मेरी तस्वीर का गलत इस्तेमाल हो रहा है। मैं उन लोगों के खिलाफ उचित कानूनी कार्रवाई करूँगा (मेरी तस्वीर साझा कर रहा हूँ)।”

पंजाबी गायक और कॉन्ग्रेस नेता रहे सिद्धू मूसेवाला के हत्या की हत्या की जिम्मेदारी लॉरेंस गैंग के कनाडा में रह रहे गैंगस्टर गोल्डी बराड़ ने ली है। इस हत्या के बीच पंजाब के सीएम भगवंत मान के साथ गोल्डी बराड़ नाम के ही एक व्यक्ति की तस्वीर सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रही है। इसमें दावा किया जा रहा है कि ये वही गैंगस्टर है, जिसने सिद्धू मूसेवाला की हत्या की जिम्मेदारी ली थी।

हालाँकि, जब ऑपइंडिया ने इस मामले की जाँच की तो पता चला किजिस गोल्डी बराड़ की इमेज सीएम भगवंत मान के साथ वायरल हो रही है वो ‘गैंगस्टर’ गोल्डी बराड़ नहीं हैं। जिस व्यक्ति को गैंगस्टर बताया जा रहा है वो दरअसल पंजाब के फजिल्का जिले के जंदवाला गाँव के रहने वाले हैं।

सोशल मीडिया पर वायरल हो रही तस्वीर

सोशल मीडिया पर एक वीडियो पोस्ट कर बराड़ ने ये स्पष्ट किया, “मैं गोल्डी बराड़, गाँव जंदवाला से राजिंदर सिंह का बेटा हूँ। सिद्धू मूसेवाला की हत्या की आज की दु:खद घटना में सोशल मीडिया पर मेरी तस्वीर का गलत इस्तेमाल हो रहा है। मैं उन लोगों के खिलाफ उचित कानूनी कार्रवाई करूँगा (मेरी तस्वीर साझा कर रहा हूँ)।”

कनाडा बेस्ड गैंगस्टर ली हत्या की जिम्मेदारी

पंजाब में सिंगर सिद्धू मूसेवाला के हत्या की जिम्मेदारी लॉरेंस बिश्नोई गैंग के एक गैंगस्टर गोल्डी बराड़ ने ली है। ये कनाडा में रहता है। फेसबुक अकाउंट से एक पोस्ट के जरिए बराड़ ने विवादित गायक की हत्या की जिम्मेदारी ली। उसने पोस्ट में लिखा कि मूसेवाला उसके कई साथियों की हत्या के मामले में जिम्मेदार था, लेकिन पुलिस ने उसके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की। ऐसे में उसने उसकी हत्या कर दी। हालाँकि, ये फैक्ट बड़ा ही दिलचस्प है कि राज्य में भगवंत मान की अगुआई वाली आम आदमी पार्टी ने मूसेवाला की हत्या से ठीक एक दिन पहले ही उनकी सुरक्षा को वापस ले लिया था।

हालाँकि, इस मामले में पंजाब पुलिस की प्रेस कॉन्फ्रेंस में डीजीपी ने दावा किया कि हत्या के दिन सिद्धू मूसेवाला जब अपने घर से निकले तो ये खुद ही कार चला रहे थे, उनके साथ दो अन्य लोग भी थे। इनके पीछे एक गाड़ी थी और इनके आगे दो गाड़ियाँ थीं। पुलिस का मानना है कि ये एक गैंगवार का केस हैं, क्योंकि सिद्धू मूसेवाला का शगनप्रीत का बिट्टू मूसेवाला केस में सामने आया था। ये उसी का रिएक्शन है।

पुलिस ने दावा किया कि सिद्धू मूसेवाला की सुरक्षा में पंजाब पुलिस के चार कमांडो तैनात थे, जिनमें से दो को वापस ले लिया गया था, जबकि दो इनके साथ थे। लेकिन उस दिन सिद्धू इन कमांडोज को अपने साथ नहीं ले गए और इनके पास एक प्राइवेट बुलेटप्रूफ कार भी थी, लेकिन ये उसे भी नहीं लेकर गए थे।

सिद्धू मूसेवाला की 29 मई को मनसा के एक गांव में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। कथित तौर पर, पंजाब सरकार ने 28 मई को उनकी सुरक्षा हटा दी थी।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आँखों के सामने बच्चों को खोने के बाद राजनीति से मोहभंग, RSS से लगाव: ऑटो चलाने से महाराष्ट्र के CM बनने तक शिंदे का...

साल में 2000 में दो बच्चों की मौत के बाद एकनाथ शिंदे का राजनीति से मोहभंग हुआ। बाद में आनंद दिघे उन्हें वापस राजनीति में लाए।

उत्तराखंड में चलती कार में महिला और उसकी 5 साल की बच्ची से गैंगरेप, BKU (टिकैत गुट) के सुबोध काकरान और विक्की तोमर सहित...

उत्तराखंड के रुड़की में महिला और उसकी पाँच साल की बच्ची से गैंगरेप के आरोप में टिकैत गुट के नेता समेत पाँच गिरफ्तार कर लिए गए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
201,188FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe