Thursday, July 29, 2021
Homeबड़ी ख़बरलोकसभा चुनाव टालने के लिए हुई एयर स्ट्राइक, यह BJP-RSS की चाल है: CPM

लोकसभा चुनाव टालने के लिए हुई एयर स्ट्राइक, यह BJP-RSS की चाल है: CPM

"मुस्लिम विरोधी भावना को बढ़ावा देकर एक सांप्रदायिक विभाजन पैदा करने की कोशिश की जा रही है। चुनाव में पराजय की आशंका से भाजपा लोगों के दिमाग में भय पैदा करने और युद्ध के हालात पैदा करने की कोशिश कर रही है।"

जहाँ चारों तरफ लोग भारत द्वारा पाकिस्तान स्थित आतंकी ठिकानों पर किए एयर स्ट्राइक की तारीफ़ कर रहे हैं, मार्क्सिस्ट कम्युनिस्ट पार्टी (CPM) ने इसे लेकर घटिया राजनीतिक बयानबाज़ी शुरू कर दिया है। CPM केरल के राज्य सचिव कोदियेरी बालाकृष्णन ने कहा कि आगामी आम चुनाव की प्रक्रिया को पटरी से उतारने के लिए ‘एयर स्ट्राइक’ की गई। उन्होंने इसे भाजपा और संघ की चाल बताया। उन्होंने कहा कि ये दोनों मिलकर युद्ध भड़काने के लिए ऐसी हरकतें कर रहे हैं। उन्होंने मोदी सरकार की कश्मीर नीति पर सवाल उठाते हुए कहा कि मुद्दे को सुलझाने की बजाय कश्मीरियों को दुश्मन बनाया जा रहा है।

बालाकृष्णन पार्टी द्वारा आयोजित ‘यात्रा’ के मौके पर बोल रहे थे। इस दौरान उन्होंने कहा:

“इस समय मुस्लिम विरोधी भावना को बढ़ावा देकर एक सांप्रदायिक विभाजन पैदा करने की कोशिश की जा रही है। चुनाव में पराजय की आशंका से भाजपा लोगों के दिमाग में भय पैदा करने और युद्ध के हालात पैदा करने की कोशिश कर रही है।”

बता दें कि मंगलवार (फरवरी 26, 2019) को भारतीय वायुसेना ने पाकिस्तान के ख़ैबर पख़्तूनख़्वा प्रान्त के बालाकोट सहित कई अन्य जगहों पर भीषण बमबारी कर कई आतंकवादी ठिकानों को तबाह कर दिया। 12 मिराज-2000 लड़ाकू विमानों का इस्तेमाल करते हुए वायुसेना ने 1000 किलोग्राम से भी अधिक बम बरसाए। इसके बाद पाकिस्तान ने आपात बैठक बुलाई और भारत को इसके परिणाम भुगतने की गीदड़-भभकी दी।

वहीं CPM के महासचिव सीताराम येचुरी ने भारतीय वायुसेना द्वारा किए गए इस ऑपरेशन की सराहना करते हुए कहा कि मंत्रियों व अधिकारियों ने विपक्षी नेताओं को इस एयर स्ट्राइक की जानकारी दी है। उन्होंने कहा कि वह इस प्रभावशाली ऑपरेशन के लिए वायुसेना की प्रशंसा करते हैं। बाद में एक और ट्वीट कर उन्होंने लिखा कि पार्टी ने सरकार से कहा है कि देश में अति-राष्ट्रवाद और कट्टरवाद को हवा देने के प्रयास नहीं होने चाहिए।

वामपंथी पार्टी के विरोधाभाषी बयानों के कारण ताज़ा सर्जिकल स्ट्राइक-2 पर उनकी सोच अस्पष्ट दिख रही है। एक तरफ येचुरी इसकी प्रशंसा करने के बाद कट्टरवाद बढ़ने का डर जता रहे हैं तो दूसरी तरफ केरल में उनकी पार्टी के नेता इसे भाजपा और संघ की साज़िश बता रहे हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘पूरे देश में खेला होबे’: सभी विपक्षियों से मिलकर ममता बनर्जी का ऐलान, 2024 को बताया- ‘मोदी बनाम पूरे देश का चुनाव’

टीएमसी प्रमुख ममता बनर्जी ने विपक्ष एकजुटता पर बात करते हुए कहा, "हम 'सच्चे दिन' देखना चाहते हैं, 'अच्छे दिन' काफी देख लिए।"

कराहते केरल में बकरीद के बाद विकराल कोरोना लेकिन लिबरलों की लिस्ट में न ईद हुई सुपर स्प्रेडर, न फेल हुआ P विजयन मॉडल!

काँवड़ यात्रा के लिए जल लेने वालों की गिरफ्तारी न्यायालय के आदेश के प्रति उत्तराखंड सरकार के जिम्मेदारी पूर्ण आचरण को दर्शाती है। प्रश्न यह है कि हम ऐसे जिम्मेदारी पूर्ण आचरण की अपेक्षा केरल सरकार से किस सदी में कर सकते हैं?

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,739FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe