Wednesday, July 6, 2022
Homeबड़ी ख़बरईस्टर के मौके पर श्रीलंका में सीरियल ब्लास्ट: 25 की मौत, 280 घायल

ईस्टर के मौके पर श्रीलंका में सीरियल ब्लास्ट: 25 की मौत, 280 घायल

आरंभिक जानकारी में तीन चर्च और तीन लक्जरी होटलों को निशाना बनाया गया है लेकिन कुछ समाचार एजेंसियाँ 8 स्थान भी बता रही हैं जहाँ ब्लास्ट हुआ है।

6 सीरियल धमाकों ने ईस्टर रविवार की सुबह ने श्रीलंका को हिला कर रख दिया। विस्फोटों से श्री लंका की राजधानी कोलंबो और देश के अन्य हिस्से दहल उठे। आरंभिक जानकारी में तीन चर्च और तीन लक्जरी होटलों को निशाना बनाया गया है लेकिन कुछ समाचार एजेंसियाँ 8 स्थान भी बता रही हैं जहाँ ब्लास्ट हुआ है। इस हमले में अभी तक कम से कम 25 लोगों के मारे जाने की ख़बर है, जबकि 280 से ज्यादा लोग घायल हुए हैं। सोशल मीडिया पर इस हमले पर प्रतिक्रिया दर्ज हो रही है, जिसमें लोगों से घरों में रहने की अपील की गई है।

ख़बर के अनुसार, पुलिस प्रवक्ता रूवान गुनसेकेरा ने कहा कि विस्फोट रविवार सुबह (कोलंबो समयानुसार) सुबह 8.45 बजे हुआ।

श्रीलंका की राजधानी कोलंबो में हुए सीरियल ब्लास्ट पर भारत की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने ट्वीट किया, “मैं कोलंबो में भारतीय उच्चायुक्त के लगातार संपर्क में हूँ, हम स्थिति पर पूरी नज़र बनाए हुए हैं।”

श्रीलंका के प्रधानमंत्री रानिल विक्रमसिंघे ने आपातकालीन बैठक बुलाई है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘अभिव्यक्ति की आज़ादी सिर्फ हिन्दू देवी-देवताओं के लिए क्यों?’: सत्ता जाने के बाद उद्धव गुट को याद आया हिंदुत्व, प्रियंका चतुर्वेदी ने सँभाली कमान

फिल्म 'काली' के पोस्टर में देवी को धूम्रपान करते हुए दिखाया गया है। जिस पर विरोध जताते हुए शिवसेना ने कहा कि अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता हिंदू देवताओं के लिए ही क्यों?

‘किसी और मजहब पर ऐसी फिल्म क्यों नहीं बनती?’: माँ काली का अपमान करने वालों पर MP में होगी कार्रवाई, बोले नरोत्तम मिश्रा –...

"आखिर हमारे देवी देवताओं पर ही फिल्म क्यों बनाई जाती है? किसी और धर्म के देवी-देवताओं पर फिल्म बनाने की हिम्मत क्यों नहीं हो पाती है।"

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
203,883FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe