Tuesday, August 11, 2020
Home राजनीति कलिकाल के संजय हैं दिव्यदृष्टिधारी जनेऊधारी शिवभक्त रामभक्त दत्तात्रेय गोत्री राहुल गाँधी

कलिकाल के संजय हैं दिव्यदृष्टिधारी जनेऊधारी शिवभक्त रामभक्त दत्तात्रेय गोत्री राहुल गाँधी

कुल मिलाकर राहुल गाँधी का अब एक सपना ही बाकी रह गया है, जो उन्होंने बचपन में देखा था, "मैं दत्तात्रेय गोत्रीय, गाँधी पुत्र राहुल, एक दिन देश का प्रधानमंत्री बनूँगा।"

कॉन्ग्रेस पार्टी की एकमात्र उम्मीद अपने राजनीतिक करियर में एक के बाद एक लगभग पिछत्तिस चुनाव हारने से इतने दुखी हुए हैं कि आए दिन वो कोई नया दिवास्वप्न देखने लगे हैं। लेटेस्ट दिवास्वप्न जो उन्होंने इस क्रम में देखा है, वो ये है कि गोवा के सीएम मनोहर पर्रिकर ने उनसे बताया था कि राफेल डील बदलते समय पीएम नरेंद्र मोदी ने मनोहर पर्रिकर से नहीं पूछा था।

शायद ऐसे स्वप्न देखकर वो अब ये सुबूत देना चाह रहे हैं कि जनेऊ धारण करते ही वो अब महाभारत और उसके पात्रों में विश्वास करते हैं और इनमें सबसे ज्यादा प्रभावित वो संजय के किरदार से हुए हैं, वही संजय जो अपनी दिव्यदृष्टि से धृतराष्ट्र को युद्धभूमि का हाल सुनते थे।

राहुल गाँधी ने शायद अब अपना एक ध्येय बना लिया है कि चाहे तथ्य कुछ भी कहें, लेकिन उन्होंने जो स्वप्न देखा है वही उनके तथ्य का पुख्ता सुबूत है। ऐसा करने में उन्होंने उस मीडिया गिरोह को भी पीछे छोड़ दिया है, जो ‘साँय -साँय’ वाली रहस्य और रोमाँच से भरी कहानियाँ अपनी ‘विशेष चर्चा’ में चलाने में माहिर हैं।

अलीगढ़ के ‘पिलर लंबर बारा’ पर बैठे हमारे एक ‘गुप्त सूत्र’ की रिसर्च की मानें तो ऐसे हादसे राहुल गाँधी के साथ ख़ासकर तब से होने लगे हैं, जब से उन्होंने यज्ञोपवीत धारण किया है। हमारे इस गुप्त सूत्र को शक है कि राहुल गाँधी को शायद जनेऊ ‘सूट’ नहीं  कर रहा है। और इसी वजह से वो आए दिन अनाप-शनाप सपने देखने लगे हैं।

- विज्ञापन -

इससे पहले राहुल गाँधी को स्वप्न आया था कि वो कैलाश मानसरोवर यात्रा पे 13 घंटे लगातार पैदल चलकर जा रहे हैं। हैरानी की बात ये है कि अपनी इस युवावस्था में ढलते-उजड़ते राजनैतिक करियर को सँभालने के लिए जब राहुल गाँधी को एक व्यक्तिगत राजनीतिक सलाहकार और तेज-तर्रार किसी PR दलों की सहायता लेनी चाहिए थी, वो फोटोशॉप करने वाले युवाओं की मदद ले रहे हैं।

अपनी कैलाश मानसरोवर यात्रा से काला चश्मा और कूल वाली टोपी के साथ स्वप्नद्रष्टा राहुल गाँधी द्वारा जारी तस्वीरें , तस्वीर में कहीं से लाठी की छाया लाकर लगाने वाले को मिलेगा ‘गुप्त सूत्र’ बाबा का ऑटोग्राफ़

बाज़ार में इसके पहले भी इस प्रकार के ‘स्वप्न-राहुलदोष’ के मामले चर्चा में आ चुके हैं, जब पहले अपनी चौड़ाई दिखाने के लिए राहुल गाँधी ने कहा था कि हाँ, वो चीन के साथ विवाद के बावजूद चीन के अधिकारियों से मिलने गए थे। लेकिन यह मामला जैसे ही ‘राष्ट्रवादी’ रंग में आया और सुरक्षा कारणों से यह मुलाकात एकदम बेवकूफ़ाना और राहुल गाँधी के स्तर की बताई गई, तब राहुल गाँधी एकता मंच यह कहता पाया गया कि नहीं, उन्होंने चीन में किसी से कोई मुलाकात नहीं की थी और अगर की भी होगी तो यह राजनयिकों से होने वाली मुलाकात का हिस्सा मात्र था, जो की विपक्ष का नेता होने के नाते वह कर सकते हैं।

विपक्ष का नेता? जी हाँ, यानी एक और स्वप्न, जब आपकी पार्टी के पास पिछले 4 सालों से विपक्ष लायक सीटें भी नहीं हैं, तो फिर आप किस विपक्ष के नेता हैं? मने भाई साब, विपक्ष की ये किस लाइन में आ गए आप?

यह राहुल गाँधी स्वप्नों का आदि हो चुका है और अब ये विपक्ष का ‘तंत्र-साधक’ नेता स्वप्न के दूसरे ही स्तर पर पहुँच चुका है। इस स्तर में होता यह है कि इंसान अपनी खुद की मुलाकातों के स्वप्न के अलावा ये भी दिव्यदृष्टि से जान लेता है कि दूसरे लोग किस-किस से मिल रहे हैं। इसका सबसे जबरदस्त उदाहरण है, जब कलिकाल के इस संजय ने अरुण जेटली की विजय माल्या से वो मुलाकात देख डाली, जिसमें अरुण जेटली माल्या की अटैची और बिस्तरबंद लेकर उन्हें एयरपोर्ट छोड़ने जा रहे थे।

अंधभक्त और गोदी मीडिया कभी भी नहीं मानेगा कि महाठगबंधन अपनी जगह पर है, लेकिन मोदी जी को अगर असल मायनों में कोई चुनौती दे रहा है, तो वो सिर्फ और सिर्फ राहुल गाँधी हैं। इसके लिए उनके पास कारण भी हैं। मामला चाहे राफ़ेल का हो या फिर कोई और, तमाम सरकारी स्पष्टीकरणों के बाद भी जिस चौड़ाई और हठ से वो अपने बयानों पर अड़े रहते हैं, वो वाकई देखने लायक और लाजवाब है।

गंदे नाले से बॉल निकाल लाने के लिए गली क्रिकेट में बड़े लड़के अक्सर उम्र में छोटे बच्चों को भी टीम में रख लेते हैं, लेकिन जब वो बैटिंग करने की हठ करता है तो घरवालों के मनाने से भी नहीं मानता है। इसी बच्चे से फिर अगर आप कह दें कि बॉउंड्री के उस पार की ही ‘सिक्स’ मानी जाएगी, लेकिन वो बच्चा तो बालहठ में बल्ले पर लगी ‘टुक्क’ को ही सिक्स मानता है, क्योंकि एक बार रूमी ने कहा था, ‘हिज़ लाइफ़ हिज़ रूल्ज़।’

तो मित्रो! इस तरह से राहुल गाँधी की दिव्यदृष्टि एक के बाद एक सपने देखने में अब तक लगातार कामयाब रही है। जैसे उनका एक सपना था कि राफेल डील की फ़ाइलें पर्रिकर के बेडरूम में थीं। दूसरा सपना था, मनोहर पर्रिकर ने कहा था कि उन्हें राफेल के बारे मे कोई जानकारी नही है।

इस तरह से कुल मिलाकर राहुल गाँधी का अब एक सपना ही बाकी रह गया है, जो उन्होंने बचपन में देखा था, “मैं दत्तात्रेय गोत्री, गाँधी पुत्र राहुल, एक दिन देश का प्रधानमंत्री बनूँगा।”

उम्मीद है कि राहुल गाँधी के सपनों को जल्द ही उड़ान मिले और वो इस ‘स्वप्न-काण्ड’ के प्रथम अध्याय से जागकर कुछ कर गुज़रें।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

आशीष नौटियाल
पहाड़ी By Birth, PUN-डित By choice

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जन्माष्टमी: सम्पूर्णता में जीने का सन्देश – श्री कृष्ण की 16 कलाएँ, उनके ग्वाले से द्वारकाधीश होने की सम्पूर्ण यात्रा

कृष्ण की सोलह कलाएँ उनके विशेष सोलह गुणों से सम्बंधित हैं। जो यदि किसी में हों तो जिस अनुपात में इन गुणों की व्याप्ति होगी उसी अनुपात में...

PM मोदी की दाढ़ी-मूँछ से नाराजगी: थरूर और बरखा दत्त की गंभीर चर्चा, बताया – ‘ऋषिराज योद्धा के लिए यह सब कुछ’

थरूर और बरखा की इस 'गंभीर चर्चा' के दौरान देश की मौजूदा स्थिति पर चर्चा कम हुई और पीएम मोदी की दाढ़ी कितनी बढ़ रही है, इस पर ज्यादा हुई।

8 जून को दिशा ने की सुसाइड, 14 को फंदे से लटके मिले सुशांत, इस बीच खूब हुई महेश भट्ट और रिया के बीच...

जिस दिन दिशा ने सुसाइड किया था, उसी दिन रिया ने सुशांत का घर छोड़ा। इसके बाद उसके और महेश भट्ट के बीच अचानक फोन कॉल बढ़ गए। सिलसिला सुशांत की मौत तक जारी रहा।

मस्जिद के अवैध निर्माण के खिलाफ याचिका डालने वाले वकील पर फायरिंग, अतीक अहमद गैंग का हाथ होने का दावा

प्रयागराज में बदमाशों ने इलाहाबाद हाईकोर्ट के वकील अभिषेक शुक्ला पर फायरिंग की। हमले में वे बाल-बाल बच गए।

सुप्रीम कोर्ट को प्रशांत भूषण की माफी कबूल नहीं, 11 साल पहले कहा था- पिछले 16 चीफ जस्टिस में आधे करप्ट

प्रशांत भूषण का माफीनामा खारिज करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि आपराधिक अवमानना के इस मामले को सुने जाने की जरूरत है।

बुर्के वाली औरतों की टीम तैयार की गई थी, DU के प्रोफेसर अपूर्वानंद ने दंगों का दिया था मैसेज: गुलफिशा ने उगले राज

"प्रोफेसर ने हमे दंगों के लिए मैसेज दिया था। पत्थर, खाली बोतलें, एसिड, छुरियाँ इकठ्ठा करने के लिए कहा गया था। सभी महिलाओं को लाल मिर्च पाउडर रखने के लिए बोला था।"

प्रचलित ख़बरें

बुर्के वाली औरतों की टीम तैयार की गई थी, DU के प्रोफेसर अपूर्वानंद ने दंगों का दिया था मैसेज: गुलफिशा ने उगले राज

"प्रोफेसर ने हमे दंगों के लिए मैसेज दिया था। पत्थर, खाली बोतलें, एसिड, छुरियाँ इकठ्ठा करने के लिए कहा गया था। सभी महिलाओं को लाल मिर्च पाउडर रखने के लिए बोला था।"

ऑटो में महिलाओं से रेप करने वाले नदीम और इमरान को मारी गोली: ‘जान बच गई पर विकलांग हो सकते हैं’

पूछताछ के दौरान नदीम और इमरान ने बताया कि वे महिला सवारी को ऑटो रिक्शा में बैठाते थे। बंधक बनाकर उन्हें सुनसान जगह पर ले जाते और बलात्कार करते थे।

मस्जिद में कुरान पढ़ती बच्ची से रेप का Video आया सामने, मौलवी फरार: पाकिस्तान के सिंध प्रांत की घटना

पाकिस्तान के सिंध प्रान्त स्थित कंदियारो की एक मस्जिद में बच्ची से रेप का मामला सामने आया है। आरोपित मौलवी अब्बास फरार बताया जा रहा है।

मस्जिद के अवैध निर्माण के खिलाफ याचिका डालने वाले वकील पर फायरिंग, अतीक अहमद गैंग का हाथ होने का दावा

प्रयागराज में बदमाशों ने इलाहाबाद हाईकोर्ट के वकील अभिषेक शुक्ला पर फायरिंग की। हमले में वे बाल-बाल बच गए।

लटका मिला था भाजपा MLA देबेन्द्र नाथ रॉय का शव: मुख्य आरोपी माबूद अली गिरफ्तार, नाव से भागने की थी योजना

भाजपा MLA देबेन्द्र नाथ रॉय के कथित आत्महत्या मामले में मुख्य आरोपित माबूद अली को गिरफ्तार कर लिया गया है। नॉर्थ दिनाजपुर के हेमताबद में...

कॉल रिकॉर्ड से खुली रिया चकवर्ती की कुंडली: मुंबई के DCP के संपर्क में थी, महेश भट्ट का भी नाम

रिया चक्रवर्ती की कॉल डिटेल से पता चला है कि वह मुंबई पुलिस के एक टॉप अधिकारी के संपर्क में थी।

जन्माष्टमी: सम्पूर्णता में जीने का सन्देश – श्री कृष्ण की 16 कलाएँ, उनके ग्वाले से द्वारकाधीश होने की सम्पूर्ण यात्रा

कृष्ण की सोलह कलाएँ उनके विशेष सोलह गुणों से सम्बंधित हैं। जो यदि किसी में हों तो जिस अनुपात में इन गुणों की व्याप्ति होगी उसी अनुपात में...

PM मोदी की दाढ़ी-मूँछ से नाराजगी: थरूर और बरखा दत्त की गंभीर चर्चा, बताया – ‘ऋषिराज योद्धा के लिए यह सब कुछ’

थरूर और बरखा की इस 'गंभीर चर्चा' के दौरान देश की मौजूदा स्थिति पर चर्चा कम हुई और पीएम मोदी की दाढ़ी कितनी बढ़ रही है, इस पर ज्यादा हुई।

8 जून को दिशा ने की सुसाइड, 14 को फंदे से लटके मिले सुशांत, इस बीच खूब हुई महेश भट्ट और रिया के बीच...

जिस दिन दिशा ने सुसाइड किया था, उसी दिन रिया ने सुशांत का घर छोड़ा। इसके बाद उसके और महेश भट्ट के बीच अचानक फोन कॉल बढ़ गए। सिलसिला सुशांत की मौत तक जारी रहा।

मस्जिद के अवैध निर्माण के खिलाफ याचिका डालने वाले वकील पर फायरिंग, अतीक अहमद गैंग का हाथ होने का दावा

प्रयागराज में बदमाशों ने इलाहाबाद हाईकोर्ट के वकील अभिषेक शुक्ला पर फायरिंग की। हमले में वे बाल-बाल बच गए।

रायपुर: 9 साल की बच्ची से मदरसे के मौलवी ने किया बलात्कार, अरबी पढ़ाने आता था पीड़िता के घर

छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर के एक मदरसे में पढ़ाने वाले 25 साल के मौलवी को 9 साल की बच्ची के साथ बलात्कार करने का आरोप में गिरफ्तार किया गया है।

आत्मनिर्भरता की रीति में बनी नई शिक्षा नीति

नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति-2020 में कहीं भी इस बात का बिल्कुल ही जिक्र नहीं है कि अंग्रेजी को एकदम हटाया जाए। इस नीति में यह स्पष्ट रूप से कहा गया है कि जो भी विदेशी भाषा है, उसको विदेशी भाषा के रूप में पढ़ाया जाएगा।

‘हरामियों को देखो, मस्जिद सिंगर और एक्टर के जाने की जगह नहीं’: सबा कमर पर टूटे इस्लामी कट्टरपंथी

पाकिस्तानी अभिनेत्री सबा कमर अपने एक डांस वीडियो की वजह से इस्लामी कट्टरपंथियों के निशाने पर आ गई हैं। इस वीडियो का कुछ हिस्सा मस्जिद में शूट किया गया है।

सुप्रीम कोर्ट को प्रशांत भूषण की माफी कबूल नहीं, 11 साल पहले कहा था- पिछले 16 चीफ जस्टिस में आधे करप्ट

प्रशांत भूषण का माफीनामा खारिज करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि आपराधिक अवमानना के इस मामले को सुने जाने की जरूरत है।

‘इसी महीने बीजेपी में शामिल हो सकते हैं शरद पवार के 12 MLA’: महाराष्ट्र के मंत्री नवाब मलिक ने बताया अफवाह

महाराष्ट्र में राष्ट्रवादी कॉन्ग्रेस पार्टी (एनसीपी) के 12 विधायक बीजेपी के संपर्क में हैं। वे इस महीने के अंत तक पार्टी का दामन थाम सकते हैं।

बुर्के वाली औरतों की टीम तैयार की गई थी, DU के प्रोफेसर अपूर्वानंद ने दंगों का दिया था मैसेज: गुलफिशा ने उगले राज

"प्रोफेसर ने हमे दंगों के लिए मैसेज दिया था। पत्थर, खाली बोतलें, एसिड, छुरियाँ इकठ्ठा करने के लिए कहा गया था। सभी महिलाओं को लाल मिर्च पाउडर रखने के लिए बोला था।"

हमसे जुड़ें

246,500FansLike
64,541FollowersFollow
295,000SubscribersSubscribe
Advertisements