Friday, May 24, 2024
Homeविविध विषयधर्म और संस्कृतिवीडियो: केदारनाथ मंदिर के कपाट खुले, पीएम मोदी ने किया पहला रुद्राभिषेक; 11 क्विंटल...

वीडियो: केदारनाथ मंदिर के कपाट खुले, पीएम मोदी ने किया पहला रुद्राभिषेक; 11 क्विंटल फूलों से की गई भव्य सजावट

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने केदारनाथ धाम में प्रथम रूद्राभिषेक पूजा की और जनकल्याण की कामना की। समारोह के समय रावल भीमाशंकर, मुख्य पुजारी बागेश लिंग, प्रशासन के कुछ अधिकारी और देवस्थानम बोर्ड मौजूद थे।

केदारनाथ मंदिर के कपाट छह महीने के बाद सोमवार (17 मई 2021) को खुल गए हैं। वहीं, बदरीनाथ धाम के कपाट मंगलवार (18 मई 2021) को खोले जाएँगे। कपाट खुलने की प्रक्रिया सुबह 3 बजे शुरू हुई थी। मुख्य द्वार पर पूजा अर्चना व मंत्रोचार के बाद ठीक 5 बजे भगवान केदारनाथ मंदिर के कपाट खोल दिए गए।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने केदारनाथ धाम में प्रथम रूद्राभिषेक पूजा की और जनकल्याण की कामना की। समारोह के समय रावल भीमाशंकर, मुख्य पुजारी बागेश लिंग, प्रशासन के कुछ अधिकारी और देवस्थानम बोर्ड मौजूद थे।

कोरोना के कारण चार धाम यात्रा को अस्थायी रूप से स्थगित किया ​

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने मंदिर के कपाट खुलने पर प्रसन्नता व्यक्त की साथ ही जनकल्याण और सबके अच्छे स्वास्थ्य के लिए प्रार्थना की। सीएम रावत ने कहा कि कोविड-19 महामारी के कारण यात्रा को अस्थायी रूप से स्थगित कर दिया गया था। हालाँकि, लोग बाबा केदारनाथ की पूजा अपने घरों से कर सकते हैं। उत्तराखंड के पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज के मुताबिक, कोरोना वायरस महामारी खत्म होते ही चार धामों की यात्रा फिर से शुरू की जाएगी।

शुभ मुहुर्त में खुले केदारनाथ के कपाट, 11 क्विंटल फूलों से सजाया गया मंदिर

इस अवसर पर मंदिर को 11 क्विंटल फूलों से सजाया गया। इससे केदारनाथ मंदिर की सुंदरता और बढ़ गई। वहीं, समारोह में उपस्थित सभी लोग कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करते नजर आए।

मालूम हो कि चारों धामों के कपाट शीतकालीन अवकाश में बंद कर दिए जाते हैं और इसके बाद अप्रैल-मई में भक्तों के लिए खोल दिए जाते हैं। यह लगातार दूसरा वर्ष है जब कोरोना महामारी के कारण मंदिर में यात्रियों के आने पर रोक लगाई गई ​है।

बता दें कि मंगलवार (18 मई 2021) को चमोली स्थित भगवान बदरीनाथ के कपाट भी सुबह सवा चार बजे ब्रह्ममुहूर्त में खोले जाएँगे। कोविड के कारण यहाँ भी श्रद्धालुओं को आने की अनुमति नहीं होगी।

उत्तराखंड सरकार द्वारा जारी एसओपी के मुताबिक, विधि विधान और पूजा अर्चना के साथ केदारनाथ और बदरीनाथ के कपाट खोले जाने के दौरान वहाँ तीर्थ पुरोहितों, देवस्थानम प्रबंधन बोर्ड के पदाधिकारियों और प्रशासनिक अधिकारियों समेत केवल 25 लोग ही उपस्थित रहेंगे।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बाबरी का पक्षकार राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा समारोह में आ गया, लेकिन कॉन्ग्रेस ने बहिष्कार किया’: बोले PM मोदी – इन्होंने भारतीयों पर मढ़ा...

प्रधानमंत्री ने स्पष्ट ऐलान किया कि अब यह देश न आँख झुकाकर बात करेगा और न ही आँख उठाकर बात करेगा, यह देश अब आँख मिलाकर बात करेगा।

कॉन्ग्रेस नेता को ED से राहत, खालिस्तानियों को जमानत… जानिए कौन हैं हिन्दुओं पर हमले के 18 इस्लामी आरोपितों को छोड़ने वाले HC जज...

नवंबर 2023 में जब राजस्थान में विधानसभा चुनाव को लेकर सरगर्मी चरम पर थी, जब जस्टिस फरजंद अली ने कॉन्ग्रेस उम्मीदवार मेवाराम जैन को ED से राहत दी थी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -