Friday, April 19, 2024
Homeविविध विषयधर्म और संस्कृतिसोने का गर्भगृह, 2022 तक निर्माण पूरा: भव्य राम मंदिर के लिए महावीर मंदिर...

सोने का गर्भगृह, 2022 तक निर्माण पूरा: भव्य राम मंदिर के लिए महावीर मंदिर देगा ₹10 करोड़

उत्तर प्रदेश सरकार 67 एकड़ जमीन और उससे जुड़ी भूमि को मिलाकर नया राजस्व ग्राम ‘श्रीरामलला विराजमान’ बनाने की तैयारी कर रही है। आसपास की कुछ और जमीनों के अधिग्रहण के बाद परिसर के पूरे क्षेत्र के करीब 100 एकड़ तक होने की संभावना जताई गई है।

उत्तर प्रदेश के अयोध्या में रामलला के भव्य मंदिर को लेकर तैयारियाँ शुरू हो गई हैं। ट्रस्ट का गठन हो गया है और आगामी बैठकों में काफ़ी कुछ स्पष्ट हो जाएगा। इस बीच ‘श्रीराम जन्मभूमि तीथ क्षेत्र’ के ट्रस्टी कमलेश्वर चौपाल ने राम मंदिर निर्माण पूरी होने की समयसीमा बताई है। चौपाल ने बड़ा बयान देते हुए कहा कि 2022 तक अयोध्या में भव्य राम मंदिर का निर्माण पूरा हो जाएगा। ट्रस्ट की पहली बैठक 19 फरवरी को प्रयागराज में होनी थी लेकिन अब इसके नई दिल्ली में होने की बात कही गई है। इसके 1 दिन पहले ट्रस्ट के सभी सदस्य दिल्ली पहुँचेंगे।

इस बैठक में इस बात पर विचार किया जाएगा कि अयोध्या में बनने वाले भव्य राम मंदिर का स्वरूप कैसा हो और उसे कैसे तैयार किया जाए। इसी बैठक में राम मंदिर के निर्माण की समयसीमा भी तय कर ली जाएगी। चौपाल ने ‘ज़ी न्यूज़’ से बातचीत करते हुए बताया कि सबसे पहले 67 एकड़ की भूमि का माप लिया जाएगा और ज़मीन को सीमांकित किया जाएगा। इसके बाद मंदिर के शिलान्यास का कार्यक्रम होगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से निवेदन किया जाएगा कि वो मंदिर का शिलान्यास करें। हालाँकि, चौपाल ने ये भी कहा कि भव्य राम मंदिर के निर्माण के लिए 67 एकड़ की भूमि से भी ज्यादा चाहिए।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 5 फरवरी को राम मंदिर के लिए ट्रस्ट की घोषणा की थी। वहीं ‘दैनिक भास्कर’ में प्रकाशित एक अन्य ख़बर के अनुसार, 2 अप्रैल को चैत्र रामनवमी के दिन राम मंदिर निर्माण कार्य प्रारम्भ किया जा सकता है। आर्किटेक्ट सुधीर श्रीवास्तव ने कहा कि भव्य राम मंदिर के निर्माण में 2 वर्ष से अधिक का समय नहीं लगेगा। उन्होंने उदाहरण के तौर पर बताया कि मायावती ने 2007 से 2012 के बीच मुख्यमंत्री रहते बड़े पत्थरों से आंबेडकर और कांशीराम के कई स्मारक बनवाए थे। पत्थरों को तराशने के लिए तकनीक का इस्तेमाल किया जा सकता है।

उधर पटना ‘महावीर मंदिर ट्रस्ट’ ने राम मंदिर निर्माण के लिए 10 करोड़ रुपए दान करने का फ़ैसला लिया है। ट्रस्ट के अध्यक्ष किशोर कुणाल ने फिलहाल 2 करोड़ रुपए का चेक भेजा है। कुणाल ने कहा कि अगर अनुमति मिलती है तो ‘महावीर मंदिर न्यास’ बिना किसी से चन्दा लिए राम मंदिर के गर्भगृह का अंदरूनी हिस्सा सोने का बनवा देगा। उन्होंने बताया कि 2016 में ही मंदिर के निर्माण के लिए रकम निकाल ली गई थी। अगर विहिप के मॉडल पर मंदिर बनता है तो कम समय लगेगा। अगर नया मॉडल बनता है तो समय और धन ज्यादा लगेगा। ऐसे में ”महावीर मंदिर न्यास’ हर वर्ष रुपए देगा।

उत्तर प्रदेश सरकार 67 एकड़ जमीन और उससे जुड़ी भूमि को मिलाकर नया राजस्व ग्राम ‘श्रीरामलला विराजमान’ बनाने की तैयारी कर रही है। आसपास की कुछ और जमीनों के अधिग्रहण के बाद परिसर के पूरे क्षेत्र के करीब 100 एकड़ तक होने की संभावना जताई गई है।

श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र: राम मंदिर ट्रस्ट का ऐलान, PM मोदी की घोषणा और लोकसभा में गूँजे ‘जय श्री राम’ के नारे

15 दिन में 2.75 लाख गाँव में लगेगी भगवान राम की प्रतिमा, इन्हीं गाँवों से 30 साल पहले राम मंदिर के लिए आई थी ईंटे

योगी आदित्यनाथ ने भव्य राम मंदिर के लिए हर परिवार से माँगे ₹11 और एक ईंट

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

लोकसभा चुनाव 2024 के पहले चरण में 21 राज्य-केंद्रशासित प्रदेशों के 102 सीटों पर मतदान: 8 केंद्रीय मंत्री, 2 Ex CM और एक पूर्व...

लोकसभा चुनाव 2024 में शुक्रवार (19 अप्रैल 2024) को पहले चरण के लिए 21 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों की 102 संसदीय सीटों पर मतदान होगा।

‘केरल में मॉक ड्रिल के दौरान EVM में सारे वोट BJP को जा रहे थे’: सुप्रीम कोर्ट में प्रशांत भूषण का दावा, चुनाव आयोग...

चुनाव आयोग के आधिकारी ने कोर्ट को बताया कि कासरगोड में ईवीएम में अनियमितता की खबरें गलत और आधारहीन हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe