Thursday, August 5, 2021
Homeविविध विषयमनोरंजनद‍िल पर हाथ रखकर कैसे झूठ बोल दूँ कि बॉलीवुड में ड्रग्स की समस्या...

द‍िल पर हाथ रखकर कैसे झूठ बोल दूँ कि बॉलीवुड में ड्रग्स की समस्या नहीं: अक्षय कुमार ने सुशांत सहित कई मुद्दों पर तोड़ी चुप्पी

“आज बड़े भारी मन से आपसे बात कर रहा हूँ। प‍िछले कुछ हफ्तों में कई बातें आई मन में कहने के लिए लेकिन हर तरफ इतनी निगेटिव‍िटी थी क‍ि समझ नहीं आता क‍ि क्‍या बोलूँ, किससे बोलूँ और कितना बोलूँ। स्‍टार भले ही हम कहलाते हैं लेकिन बॉलीवुड को आपने अपने प्‍यार से बनाया है। हम स‍िर्फ एक इंडस्‍ट्री नहीं है, हमने फिल्‍मों के जर‍िए अपने कल्‍चर, अपने वेल्‍यूज को दुनिया के हर कोने तक पहुँचाया है।”

एक्‍टर सुशांत स‍िंह राजपूत की मौत के बाद शुरू हुई जाँच ने बॉलीवुड में फैले ड्रग्‍स के महाजाल का खुलासा शुरू कर द‍िया। सुशांत की मौत के बाद से ही बॉलीवुड को लेकर दर्शकों में खासा गुस्‍सा देखा जा रहा है और लोग कई फिल्‍मों का बायकॉट कर रहे हैं। ऐसे में बॉलीवुड अभिनेता अक्षय कुमार ने इस सारे मामले पर बोलते हुए अपना एक वीडियो सोशल मीडिया पर शेयर किया है। अक्षय ने अपने इस वीडियो में कहा क‍ि बॉलीवुड में ड्रग्‍स की समस्‍या है इससे इनकार नहीं है लेकिन इसका मतलब ये नहीं क‍ि पूरी इंडस्‍ट्री को टारगेट क‍िया जाए।

अक्षय कुमार ने अपना वीडियो शुरू करते हुए कहा, “आज बड़े भारी मन से आपसे बात कर रहा हूँ। प‍िछले कुछ हफ्तों में कई बातें आई मन में कहने के लिए लेकिन हर तरफ इतनी निगेटिव‍िटी थी क‍ि समझ नहीं आता क‍ि क्‍या बोलूँ, किससे बोलूँ और कितना बोलूँ। स्‍टार भले ही हम कहलाते हैं लेकिन बॉलीवुड को आपने अपने प्‍यार से बनाया है। हम स‍िर्फ एक इंडस्‍ट्री नहीं है, हमने फिल्‍मों के जर‍िए अपने कल्‍चर, अपने वेल्‍यूज को दुनिया के हर कोने तक पहुँचाया है।”

वो कहते हैं, “जब-जब हमारे देश की जनता के सेंटिमेंट्स की बात आई, जो भी आप महसूस करते हैं, हमने उसे ही द‍िखाने की कोशिश की। फिर चाहे वो एंग्री यंग मैन वाला आक्रोश हो या फ‍िर करप्‍शन, गरीबी, बेरोजगारी, हर मुद्दे को स‍िनेमा ने अपने तरीके से द‍िखाने की कोशिश की है। अगर आज आपके सेंटिमेंट में गुस्‍सा है तो वो गुस्‍सा भी हमारे सिर माथे पर।”

अक्षय कुमार ने अपने इस वीडियो में आगे कहा, “सुशांत स‍िंह राजपूत की मौत के बाद से ऐसे कई मुद्दे सामने आए हैं, जिन्‍होंने हमें भी उतना ही दर्द द‍िया है, जितना आप सबको। और इन मुद्दों ने हमारे खुद के ग‍िरेबान में झाँकने के लिए हमें मजबूर क‍िया। हमारी फिल्‍म इंडस्‍ट्री की ऐसी कई खामियों को देखने को मजबूर किया है जिन पर ध्‍यान जाना बहुत ज्यादा जरूरी है।”

अक्षय ने कहा, “जैसे नारकोट‍िक्‍स और ड्रग्‍स के बारे में आजकल बात हो रही है। मैं आज द‍िल पर हाथ रखकर कैसे आपसे झूठ बोल दूँ कि ये प्रॉब्‍लम एग्जिस्‍ट नहीं करती। जरूर करती है। वैसे ही जैसे हर इंडस्‍ट्री में होती होगी, लेकिन हर इंडस्‍ट्री का हर इंसान उस समस्‍या में ल‍िप्‍त हो जरूरी नहीं। ऐसा नहीं हो सकता।”

अक्षय कुमार आगे कहते हैं, “ड्रग्स कानूनी मैटर है और मुझे यकीन है कि हमारी अथॉरिटी और कोर्ट इस पर जो भी एक्शन लेगा, वो बिल्कुल सही होगा। मैं यह भी जानता हूँ कि इंडस्ट्री का हर इंसान उनके साथ पूरी तरह सहयोग देगा। लेकिन प्लीज मैं आपसे हाथ जोड़कर कहता हूँ कि ऐसे तो मत करो न कि पूरी इंडस्ट्री को एक ही बदनाम दुनिया की नजरों के साथ देखने लगो। ये सही नहीं है। ये तो गलत है न।”

अक्षय ने आगे कहा, “मुझे पर्सनली हमेशा से मीडिया की ताकत में बहुत विश्वास रहा, अगर मीडिया सही मुद्दे सही वक्त पर न उठाए तो शायद बहुत से लोगों को न आवाज मिलेगी न इंसान। मैं मीडिया से तहेदिल से रिक्वेस्ट करता हूँ कि वो अपना काम, अपनी आवाज उठाना जारी रखे। लेकिन प्लीज थोड़ा सेंसेटिवली। क्योंकि एक निगेटिव न्यूज किसी इंसान की बरसों की इज्जत और कड़ी मेहनत को बर्बाद करके रख देगा।”

फैन्स को लेकर अक्षय ने कहा, “आखिर में लोगों से एक ही मैसेज ही यार आप सभी ने तो हमें बनाया है। आपका विश्वास जाने नहीं देंगे। अगर आपको कोई नाराजगी है तो हम और मेहनत करेंगे अपनी खामियों को दूर करने की। आपका प्यार और विश्वास जीतकर रहेंगे। आप हो तो हम हैं, बस साथ बनाए रखना।”

अक्षय की प्रोफेशनल लाइफ की बात करें तो हाल ही में उन्होंने अपनी अपकमिंग फिल्म ‘बेल बॉटम’ की शूटिंग खत्म की है। फिल्म में अक्षय के साथ हुमा कुरैशी, वाणी कपूर और लारा दत्ता लीड रोल में हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

अगर बायोलॉजिकल पुरुषों को महिला खेलों में खेलने पर कुछ कहा तो ब्लॉक कर देंगे: BBC ने लोगों को दी खुलेआम धमकी

बीबीसी के आर्टिकल के बाद लोग सवाल उठाने लगे हैं कि जब लॉरेल पैदा आदमी के तौर पर हुए और बाद में महिला बने, तो यह बराबरी का मुकाबला कैसे हुआ।

दिल्ली में कमाल: फ्लाईओवर बनने से पहले ही बन गई थी उसपर मजार? विरोध कर रहे लोगों के साथ बदसलूकी, देखें वीडियो

दिल्ली के इस फ्लाईओवर का संचालन 2009 में शुरू हुआ था। लेकिन मजार की देखरेख करने वाला सिकंदर कहता है कि मजार वहाँ 1982 में बनी थी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
113,029FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe