Friday, June 21, 2024
Homeविविध विषयमनोरंजनसंदिग्ध हालत में मिला टॉप फैशन डिजाइनर का शव, बेडरूम से कार्बन मोनो ऑक्साइड...

संदिग्ध हालत में मिला टॉप फैशन डिजाइनर का शव, बेडरूम से कार्बन मोनो ऑक्साइड सिलिंडर बरामद: माधुरी-रवीना के लिए भी किया था काम

पिछले साल प्रत्यूषा ने फेमिना को बताया था कि फैशन डिजाइनिंग में अपना करियर शुरू करने से पहले मास्टर की पढ़ाई के लिए यूके गई थीं। इसके बाद उन्होंने अपने पिता की एलईडी (LED) बनाने वाली कंपनी ज्वॉइन किया। हालाँकि, बहुत जल्दी ही इससे उनका मन ऊब गया था।

टॉलीवुड (Tollywood) की टॉप और बॉलीवुड (Bollywood) में भी लोकप्रिय फैशन डिजाइनर प्रत्यूषा गरिमेला (Prathyusha Garimella) का शव उनके अपार्टमेंट से बरामद हुआ है। माना जा रहा है कि उन्होंने डिप्रेशन में आकर आत्महत्या की है। पुलिस ने इसे संदिग्ध मौत मानते हुए मामला दर्ज कर लिया है।

प्रत्यूषा तेलंगाना की राजधानी हैदराबाद (Hyderabad, Telangana) के बंजारा हिल्स थाना क्षेत्र के अंतर्गत फिल्म नगर स्थित एक मकान में रहती थी। इसी फ्लैट में उनका शव बरामद हुआ है। पुलिस को 35 साल की प्रत्यूषा गरिमेला के बेडरूम से कार्बन मोनो ऑक्साइड (Carbon Mono Oxide) का सिलेंडर बरामद हुआ है। इसी आधार पर इसे आत्महत्या का मामला माना जा रहा है।

कहा जा रहा है कि प्रत्यूषा ने कार्बन मोनोऑक्साइड को सूंघकर मौत को गले लगाया है। इसका कारण डिप्रेशन (अवसाद) बताया जा रहा है। प्रत्यूषा के बेडरूम से एक नोट भी बरामद हुआ है, जिसमें लिखा है- “मैं डिप्रेशन में हूँ और बहुत अकेला महसूस कर रही हूँ।” नोट में उन्होंने इसको जिम्मेदार नहीं ठहराया है।

इस घटना की सबसे पहला जानकारी सिक्योरिटी गार्ड को मिली। शनिवार (11 जून 2022) को दोपहर सिक्योरिटी चेक के दौरान उसने प्रत्यूषा के दरवाजे को खुलवाने की कोशिश की तो उसे काफी देर तक कोई जवाब नहीं मिला। इसके बाद सशंकित गार्ड ने पुलिस को सूचना दी।

गार्ड की सूचना पर पुलिस मौके पर पहुँची और घर का दरवाजा तोड़कर अंदर दाखिल हुई। वहाँ बाथरूम में प्रत्यूषा का शव पड़ा हुआ मिला। इसके बाद पुलिस ने इसकी सूचना प्रत्यूषा के के घरवालों और दोस्तों को दी। इसके बाद पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए उस्मानिया अस्पताल भेज दिया है।

पिछले साल प्रत्यूषा ने फेमिना को बताया था कि फैशन डिजाइनिंग में अपना करियर शुरू करने से पहले मास्टर की पढ़ाई के लिए यूके गई थीं। इसके बाद उन्होंने अपने पिता की एलईडी (LED) बनाने वाली कंपनी ज्वॉइन किया। हालाँकि, बहुत जल्दी ही इससे उनका मन भर गया। उन्होंने बताया था कि उन्हें पता चल गया था कि वह नौकरी के लिए नहीं बनी हैं और उसकी रुचि कहीं और है।

प्रत्यूषा ने फैशन डिजाइनिंग की पढ़ाई अमेरिका से की थी और अपने करियर की शुरुआत हैदराबाद में की। साल 2013 में उन्होंने अपने नाम से एक लेबल भी शुरू किया था। प्रत्यूषा ने टॉलीवुड के अलावा बॉलीवुड की माधुरी दीक्षित, रवीना टंडन, काजोल, परिणति चोपड़ा, हुमा कुरैशी, श्रिया सरन, काजल अग्रवाल, जूही चावला, गौहर खान, नेहा धूपिया, भूमि पेडनेकर जैसे कई सेलिब्रेटी के लिए काम किया था।

कैसे होती से कार्बन मोनो ऑक्साइड से मौत

कार्बन मोनो ऑक्साइड शरीर को ऑक्सीजन पहुँचाने वाले रेड ब्लड सेल्स पर असर डालते हुए हीमोग्लोबिन मॉलिक्यूल को ब्लॉक देती है। इससे शरीर को ऑक्सीजन नहीं मिलता और पूरा प्रभावित होने लगता है। इसके बाद मितली होने लगती है। फिर चक्कर व बेहोशी छाने लगती है और फिर मौत हो जाती है।

जब कोई जीव, खासकर मनुष्य, साँस लेता है तो उसके शरीर में ऑक्सीजन का प्रवाह होता है। यह ऑक्सीजन रक्त में जाता है और उसमें मौजूद हीमोग्लोबिन में घुल जाता है और फेफड़ों के माध्यम से शरीर के अन्य हिस्सों तक पहुँचता है।

वहीं, हीमोग्लोबिन जब कार्बन मोनो ऑक्साइड के संपर्क में आता है तो वह घुलता नहीं है। इससे हीमोग्लोबिन मॉलिक्यूल ब्लॉक हो जाते हैं। फिर ऑक्सीजन नहीं मिलने के कारण शरीर के सेल्स मरने लगते हैं और मौत हो जाती है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आज भी ‘रलिव, गलिव, चलिव’ ही कश्मीर का सत्य, आखिर कब थमेगा हिन्दुओं को निशाना बनाने का सिलसिला: जानिए हाल के वर्षों में कब...

जम्मू कश्मीर में इस्लाम के नाम पर लगातार हिन्दू प्रताड़ना जारी है। 2024 में ही जिहाद के नाम पर 13 हिन्दुओं की हत्याएँ की जा चुकी हैं।

CM केजरीवाल ने माँगे थे ₹100 करोड़, हमने ₹45 करोड़ का पता लगाया: ED ने दिल्ली हाई कोर्ट को बताया, कहा- निचली अदालत के...

दिल्ली हाई कोर्ट ने मुख्यमंत्री और AAP मुखिया अरविन्द केजरीवाल की नियमित जमानत पर अंतरिम तौर पर रोक लगा दी है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -