Saturday, May 25, 2024
Homeविविध विषयमनोरंजनFCC के बाद प्रेस क्लब ऑफ़ इंडिया ने भी रद्द किया विवेक अग्निहोत्री का...

FCC के बाद प्रेस क्लब ऑफ़ इंडिया ने भी रद्द किया विवेक अग्निहोत्री का ‘ओपन प्रेस कॉन्फ्रेंस’: ‘द कश्मीर फाइल्स’ के निर्देशक ने सबूतों के साथ खोली पोल

"ये एंटी-फ्री स्पीच, एंटी-ट्रुथ, एजेंडा संचालित कुलीन क्लब लुटियन दिल्ली में सरकार की विशाल संपत्तियों पर फलते-फूलते हैं। समय आ गया है कि हम इन अहंकारी धोखेबाजों को बेनकाब करें।"

‘द कश्मीर फाइल्स’ के निर्देशन विवेक अग्निहोत्री अपनी फिल्म के खिलाफ अभी लगातार चलाए जा रहे हेट-कैम्पेन को उजागर करने में लगे हैं। इसी बीच मंगलवार (3 मई 2022) को खबर आई कि नई दिल्ली में विदेशी संवाददाता क्लब (Foreign Correspondents Club/FCC) ने विवेक रंजन अग्निहोत्री की प्रेस कॉन्फ्रेंस को रद्द कर दिया है। वहीं मंगलवार को ही प्रेस क्लब ऑफ़ इंडिया द्वारा भी उनके प्रेस कॉन्फ्रेंस को रद्द करने का मामला सामने आया।

बता दें कि यह एफसीसी का यह प्रेस कॉन्फ्रेंस 5 मई को दिल्ली में होने वाली थी, जिसमें कश्मीरी हिंदुओं के नरसंहार और ‘द कश्मीर फाइल्स’ को लेकर चर्चा की जानी थी। जहाँ फॉरेन कॉरेस्पोंडेंट्स क्लब का कहना है कि ‘कुछ शक्तिशाली मीडिया घरानों’ ने इस पीसी पर कड़ी आपत्ति जताई है और उन्हें धमकी भी दी है। जिसके बाद उन्होंने उसी निर्धारित समय पर प्रेस क्लब ऑफ़ इंडिया में ओपन प्रेस कॉन्फ्रेंस की घोषणा की थी।

वहीं प्रेस क्लब ऑफ़ इंडिया ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के वेन्यू के कैंसिल होने की सूचना देते हुए अपने ट्वीट में लिखा, “प्रेस क्लब ऑफ इंडिया 5 मई को किसी भी व्यक्ति या संगठन द्वारा किसी भी कार्यक्रम की सुविधा नहीं दे रहा है। क्लब केवल पहले से बुकिंग के आधार पर ही प्रेस कॉन्फ्रेंस की अनुमति देता है। जिसकी एक नियत प्रक्रिया है, और बुकिंग क्लब के एक सदस्य के माध्यम से होती है।”

प्रेस क्लब ऑफ़ इंडिया के इस ट्वीट का जवाब देते हुए विवेक रंजन अग्निहोत्री ने लिखा, “बहुत खूब! @PCITweets ने भी रद्द कर दिया। लोकतंत्र के पहरेदार और अभिव्यक्ति की आज़ादी के मसीहा ने न केवल मुझे अलोकतांत्रिक रूप से प्रतिबंधित किया, बल्कि अभी भी वो झूठ भी बोल रहे हैं।” उन्होंने अपने ट्वीट में आगे लिखा है कि-

  1. तथ्य संलग्न हैं।
  2. उन्होंने बिना किसी सदस्य के रेकमेंडेशन के हमारी एजेंसी के माध्यम से पहले ही बुकिंग कर ली थी। जिसका रसीद संलग्न है।

उन्होंने सिलसिलेवार ट्वीट करते हुए आगे बताया, “जब एफसीसी (विदेशी संवाददाता क्लब) के द्वारा प्रेस कॉन्फ्रेंस रद्द किए जाने का मेरा वीडियो वायरल हुआ, तब @PCITweets ने उनके साथ साजिश की और हमारे प्रेस कॉन्फ्रेंस को रद्द कर दिया। ये एंटी-फ्री स्पीच, एंटी-ट्रुथ, एजेंडा संचालित कुलीन क्लब लुटियन दिल्ली में सरकार की विशाल संपत्तियों पर फलते-फूलते हैं। समय आ गया है कि हम इन अहंकारी धोखेबाजों को बेनकाब करें।”

इतना ही नहीं विवेक अग्निहोत्री के आह्वान पर कई शुभचिंतक सामने आए हैं जिन्होंने प्रेस क्लब ऑफ़ इंडिया के इस कदम का विरोध करते हुए मुँहतोड़ जवाब दिया है।

द न्यू इंडियन के सीनियर एसोसिएट एडिटर प्रमोद कुमार सिंह प्रेस क्लब ोड इंडिया को जवाब देते हुए ट्वीट किया, “उस स्थिति में, 1999 से प्रेस क्लब ऑफ इंडिया के सदस्य के रूप में, मैं विवेक अग्निहोत्री के इस कार्यक्रम के लिए स्लॉट बुक कर रहा हूँ। समय- 5 मई 2022 को शाम 4 बजे। उससे पहले आवश्यक शुल्क जमा कर देंगे। पीसीआई अलग-अलग विचारों के लिए मंच प्रदान करता रहा है और #KashmirFiles के निर्माताओं को अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता से वंचित नहीं किया जा सकता है।”

गौरतलब है कि इससे पहले भी कल जब एफसीसी ने विवेक अग्निहोत्री के प्रेस कॉन्फ्रेंस को रद्द होने की सूचना दी तब अग्निहोत्री ने ट्वीट कर इस पूरे मामले की जानकारी दी थी। ट्विटर पर पोस्ट की गई वीडियो में विवेक अग्निहोत्री (Vivek Agnihotri) ने विदेशी पत्रकारों के एक समूह पर गंभीर आरोप लगाया है।

उन्होंने कहा, “कल, मेरे साथ एक असामान्य, चौंकाने वाली और बेहद अलोकतांत्रिक बात हुई। विदेशी संवाददाता क्लब के अध्यक्ष ने कल मुझे फोन किया और 5 मई को होने वाली प्रेस कॉन्फ्रेंस के रद्द होने की जानकारी दी। मैं एक हेट-कैम्पेन का शिकार हुआ हूँ। मेरी फ्री स्पीच को, एजेंडा चलाने वाले, सच का विरोध करने वाले कुछ शक्तिशाली मीडिया घरानों ने प्रतिबंधित कर दिया। उन्होंने इस पीसी पर आपत्ति जताई है और धमकी दी है। अब मैं 5 तारीख को शाम 4 बजे प्रेस क्लब ऑफ इंडिया में एक ओपन-हाउस पीसी रख रहा हूँ। सभी मीडिया आमंत्रित हैं।”

आज इसे भी प्रेस क्लब ऑफ़ इंडिया द्वारा रद्द कर दिया गया। जिसके बाद मुखर रूप से सबूतों के साथ एक बार फिर द कश्मीर फाइल्स के निर्देशक विवेक रंजन अग्निहोत्री को सामने आना पड़ा। जिसके बाद लोग प्रेस क्लब ऑफ़ इंडिया को उसकी दोहरी मानसिकता और रवैए के लिए लताड़ लगा रहे हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

OBC आरक्षण में मुस्लिम घुसपैठ पर कलकत्ता हाई कोर्ट का फैसला देश की आँख खोलने वाला: PM मोदी ने कहा – मेहनती विपक्षी संसद...

पीएम मोदी ने कहा कि मेरे लिए मेरे देश की 140 करोड़ जनता साकार ईश्वर का रूप है। सरकार और राजनीति दलों को जनता प्रति उत्तरदायी होना चाहिए।

SFI के गुंडों के बीच अवैध संबंध, ड्रग्स बिजनेस… जिस महिला प्रिंसिपल ने उठाई आवाज, केरल सरकार ने उनका पैसा-पोस्ट सब छीना, हाई कोर्ट...

कागरगोड कॉलेज की प्रिंसिपल डॉ रेमा एम ने कहा था कि उन्होंने छात्र-छात्राओं को शारीरिक संबंध बनाते देखा है और वो कैंपस में ड्रग्स भी इस्तेमाल करते हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -