Wednesday, July 24, 2024
Homeविविध विषयमनोरंजनदीपिका जानती हैं कि वो क्या कर रही हैं, लेकिन मैं टुकड़े-टुकड़े गैंग से...

दीपिका जानती हैं कि वो क्या कर रही हैं, लेकिन मैं टुकड़े-टुकड़े गैंग से साथ खड़ी नहीं होती: कंगना

कंगना रनौत ने कहा कि दीपिका जानती हैं कि वो क्या कर रही हैं और वो किन लोगों के साथ खड़ी हैं। इसलिए वे उनके बारे में कुछ नहीं कह सकती, लेकिन यहाँ कंगना ने ये भी साफ किया कि वे कभी भी टुकड़े-टुकड़े गैंग के पीछे नहीं खड़ी होती।

बॉलीवुड में कंगना रनौत को उनकी बेहतरीन अदाकारी के साथ हर मुद्दे पर उनके बेबाकी से राय रखने के लिए जाना जाता है। कंगना न केवल सामाजिक मुद्दों पर खुल पर बात करती है, बल्कि राजनीति पर भी उनकी राय हमेशा स्पष्ट दिखती है। हाल ही में कंगना ने अपनी इसी छवि को कायम रखते हुए दीपिका पादुकोण के जेएनयू पहुँचने पर बात की।

स्पॉटब्वॉय को दिए अपने एक साक्षात्कार में दीपिका पादुकोण को लेकर कंगना रनौत ने कहा कि दीपिका जानती हैं कि वो क्या कर रही हैं और वो किन लोगों के साथ खड़ी हैं। इसलिए वे उनके बारे में कुछ नहीं कह सकती, लेकिन यहाँ कंगना ने ये भी साफ किया कि वे कभी भी टुकड़े-टुकड़े गैंग के पीछे नहीं खड़ी होती।

इस साक्षात्कार में कंगना ने दीपिका के बारे बात करते हुए स्पष्ट कहा, “उन्हें (दीपिका को) अपने लोकतांत्रिक अधिकार को एक्सप्रेस करने का पूरा अधिकार है। वो जानती हैं, कि वो क्या कर रही हैं। मुझे उनके बारे में कुछ भी बोलने का अधिकार नहीं है, कि उन्हें क्या करना चाहिए और क्या नहीं करना चाहिए। मैं सिर्फ ये कह सकती हूँ कि मुझे क्या करना चाहिए।”

कंगना ने इस इंटरव्यू में टुकड़े-टुकड़े गैंग पर अपना पक्ष साफ करते हुए कहा, “मैं कभी भी टुकड़े गैंग के साथ खड़ी नहीं होती। मैं ऐसे किसी भी शख्स का सपोर्ट नहीं कर सकती, जो देश को तोड़ने की बातें करता हो। मैं सिर्फ अपनी बात कर सकती हूँ, किसी और के बारे में बोलने का मुझे अधिकार नहीं है।”

गौरतलब है कि इस दौरान कंगना ने दीपिका की फिल्म छपाक का सोशल मीडिया पर बहिष्कार करने को लेकर भी बयान दिया। उन्होंने कहा कि इन सबसे फिल्म पर असर नहीं पड़ता, अगर फिल्म अच्छी होती है तो जरूर चलती है।

बता दें कंगना रनौत इससे पहले भी जेएनयू को लेकर अपनी प्रतिक्रिया दी थी और जेएनयू के खिलाफ आवाज उठाई थी। जबकि दीपिका पादुकोण जेएनयू में हुई हिंसा के बाद विरोध कर रहे छात्रों का समर्थन करने गई थीं।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘मेरे बेटे को मार डाला’: आधुनिक पश्चिमी सभ्यता ने दुनिया के सबसे अमीर शख्स को भी दे दिया ऐसा दर्द, कहा – Woke वाले...

लिंग-परिवर्तन कराने वाले को उसके पुराने नाम से पुकारना 'Deadnaming' कहलाता है। उन्होंने कहा कि इसका अर्थ है कि उनका बेटा मर चुका है।

‘बंद ही रहेगा शंभू बॉर्डर, JCB लेकर नहीं कर सकते प्रदर्शन’: सुप्रीम कोर्ट ने ‘आंदोलनजीवी’ किसानों को दिया झटका, 15 अगस्त को दिल्ली कूच...

सुप्रीम कोर्ट ने पंजाब और हरियाणा के बीच शंभू बॉर्डर को अभी बंद ही रखने का आदेश दिया है। कोर्ट ने कहा किसान JCB लेकर प्रदर्शन नहीं कर सकते।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -