Thursday, June 20, 2024
Homeविविध विषयमनोरंजनकेरल की एक स्टोरी यह भी: ड्रग्स में डूबी है मलयालम फिल्म इंडस्ट्री, नशे...

केरल की एक स्टोरी यह भी: ड्रग्स में डूबी है मलयालम फिल्म इंडस्ट्री, नशे में धुत अभिनेताओं पर बैन; पुलिस के पहरे में शूटिंग

केरल फिल्म प्रोड्यूसर्स एसोसिएशन (KFPA) ने घोषणा की है कि वे शेन निगम और श्रीनाथ भासी के साथ और कॉपरेट नहीं कर सकते हैं। इसके चलते अब से फिल्म की शूटिंग के सभी लोकेशन्स पर पुलिस मौजूद रहेगी।

मलयालम फिल्म इंडस्ट्री काफी समय से विवादों में है। इसका कारण ड्रग्स के बढ़ते मामले हैं। इंडस्ट्री में काम करने वालों कलाकारों ने खुद इसका खुलासा किया है। उनके मुताबिक, मलयालम सिनेमा में नशीली दवाओं का उपयोग बड़े पैमाने पर हो रहा है। कुछ दिन पहले फिल्म के सेट पर एक्टर्स शेन निगम (Shane Nigam) और श्रीनाथ भासी (Sreenath Bhasi) को नशे में धुत पाया गया, जिसके बाद ‘द फिल्म एम्प्लॉइज फेडरेशन ऑफ केरल’ (एफईएफकेए)’ और ‘केरल फिल्म प्रोड्यूसर्स एसोसिएशन’ ने इन दोनों को 25 अप्रैल 2023 को बैन कर दिया। अब दोनों अभिनेता भविष्य में किसी भी प्रोजेक्ट पर काम नहीं कर सकेंगे। लेकिन उन्हें पहले से साइन किए गए सभी कार्यों को पूरा करना होगा।

जाने-माने फिल्म निर्माता एम रंजीत ने हाल ही में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा था कि दोनों अभिनेता ड्रग्स के नशे में फिल्म के सेट पर आते थे। इसके अलावा एक्टर्स पर अभद्र व्यवहार करने समेत सेट पर देर से आने, शेड्यूल के मुताबिक काम नहीं करने और स्पॉट एडिट की माँग करने के आरोप लगाए गए हैं। केरल फिल्म प्रोड्यूसर्स एसोसिएशन (KFPA) ने घोषणा की है कि वे शेन निगम और श्रीनाथ भासी के साथ और कॉपरेट नहीं कर सकते हैं। इसके चलते अब से फिल्म की शूटिंग के सभी लोकेशन्स पर पुलिस मौजूद रहेगी।

शेन निगम और श्रीनाथ भासी की खबर वायरल होने के बाद कई अन्य अभिनेताओं और निर्माताओं ने फिल्म के सेट पर बड़े पैमाने पर ड्रग्स के इस्तेमाल पर अपनी प्रतिक्रिया दी है। निर्माता सैंड्रा थॉमस ने 3 मई 2023 को सिनेमा एक्सप्रेस को दिए इंटरव्यू में बताया, “यह सच है कि मलयालम सिनेमा में ड्रग्स का उपयोग बड़े पैमाने पर हो रहा है। अब समय आ गया है कि हम इसे कंट्रोल करें, क्योंकि इसके साथ बहुत सारे मुद्दे जुड़े हुए हैं। जो लोग ड्रग्स का सेवन करते हैं उन्हें रात में नींद नहीं आती है, इसलिए उन्हें शूट के लिए हमेशा देर हो जाती है। हम यह भी नहीं जानते कि वे कब शांत हो जाते हैं। वे हमारी सभी बातों पर हामी भरेंगे, लेकिन उसे सुनेंगे नहीं। डेट ही भूल जाते हैं, जिसका खामियाजा निर्माता को भुगतना पड़ता है।”

वहीं ​बीते दिनों काम के दौरान ड्रग्स लेने वाले इन दोनों अभिनेताओं का नाम सामने आने के बाद हास्य अभिनेता टिनी टॉम ने कहा कि इंडस्ट्री में ड्रग्स के सेवन के जोखिम के कारण वह और उनकी पत्नी नहीं चाहते हैं कि उनका बेटा मलयालम सिनेमा में काम करे। ध्यान दें कि एसोसिएशन ऑफ मलयालम मूवी आर्टिस्ट्स (एएमएमए) के महासचिव एडावेला बाबू ने सबसे पहले इस विवाद के बारे में खुलासा किया था। उन्होंने हाल ही में एक बयान दिया कि वे केरल सरकार को उन अभिनेताओं की एक सूची देंगे, जो ड्रग्स के नशे में काम करते हैं।

गौरतलब है कि इससे पहले सितंबर 2022 में केरल फिल्म प्रोड्यूसर्स एसोसिएशन (KFPA) ने मलयालम अभिनेता श्रीनाथ भासी पर एक यूट्यूब चैनल को दिए साक्षात्कार के दौरान एक महिला एंकर के साथ दुर्व्यवहार करने के आरोप में फिल्मों से अस्थायी रूप से बैन लगाने का फैसला किया था।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बिहार का 65% आरक्षण खारिज लेकिन तमिलनाडु में 69% जारी: इस दक्षिणी राज्य में क्यों नहीं लागू होता सुप्रीम कोर्ट का 50% वाला फैसला

जहाँ बिहार के 65% आरक्षण को कोर्ट ने समाप्त कर दिया है, वहीं तमिलनाडु में पिछले तीन दशकों से लगातार 69% आरक्षण दिया जा रहा है।

हज के लिए सऊदी अरब गए 90+ भारतीयों की मौत, अब तक 1000+ लोगों की भीषण गर्मी ले चुकी है जान: मिस्र के सबसे...

मृतकों में ऐसे लोगों की संख्या अधिक है, जिन्होंने रजिस्ट्रेशन नहीं कराया था। इस साल मृतकों की संख्या बढ़कर 1081 तक पहुँच चुकी है, जो अभी बढ़ सकती है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -