Wednesday, April 17, 2024
Homeविविध विषयमनोरंजनसड़क 2 के बाद अब 'खाली पीली' का टीजर बना रहा डिसलाइक के नए...

सड़क 2 के बाद अब ‘खाली पीली’ का टीजर बना रहा डिसलाइक के नए रिकॉर्ड: नेपोटिज्म को फिर पड़ी मार

चाहे सड़क फिल्म के ट्रेलर की बात हो या खाली पीली फिल्म के टीज़र की। इन दोनों पर आई प्रतिक्रिया से बहुत कुछ साफ़ हो जाता है। बॉलीवुड की दुनिया में समीकरण बदलें या नहीं, बदलाव हो या नहीं। लेकिन बदलावों की पहले की बहस सतह पर है। बेशक इसके अपने प्रभाव होंगे और अपने नतीजे होंगे।

आज यानी 24 अगस्त 2020 को “खाली पीली” फ़िल्म का टीज़र लॉन्च हुआ। ध्यान रहे ट्रेलर नहीं टीज़र! ख़बर लिखे जाने के वक्त तक टीज़र यूट्यूब पर चौथे नंबर पर ट्रेंड कर रहा था और ट्विटर पर भी ट्रेंड कर रहा था। टीज़र को लाखों लोग देख चुके थे, लेकिन इस टीज़र पर जितना शोर मचा हुआ है उसकी कोई अच्छी वजह नहीं है।

असल में इस टीज़र को खबर लिखे जाने तक 2.8 लाख डिसलाइक और महज़ 35 हज़ार लाइक मिले थे। यह सिर्फ टीज़र का हाल है, अभी ट्रेलर आएगा, उस पर दर्शकों की क्या प्रतिक्रिया होगी? ट्रेलर के बाद फिल्म का क्या होगा?  

इस फिल्म के निर्देशक हैं मकबूल खान और इसके प्रोड्यूसर हैं अली अब्बास ज़फर और हिमांशु मेहरा। अब आती है ज़िक्र करने वाली बात, फिल्म में मुख्य भूमिका निभाई है ईशान खट्टर और अनन्या पाण्डेय। अनन्या पाण्डेय, अभिनेता चंकी पाण्डेय की बेटी हैं। यानी एक ऐसे परिवार से ताल्लुक रखती हैं जो फ़िल्मी हैं इसके बाद मुद्दा समझना काफी आसान होगा। वहीं ईशान अभिनेता शाहिद कपूर के भाई हैं। वे भी फिल्मी परिवार से ही आते हैं।

इस बात पर शायद ही कोई असहमति जता पाए कि सुशांत सिंह की मौत के बाद बॉलीवुड में नेपोटिज्म (भाई-भतीजावाद) पर शुरू हुई बहस का असर दिखने लगा है। खाली-पीली फिल्म के टीज़र पर आई प्रतिक्रिया उसका ही नतीजा है।

बॉलीवुड में भाई-भतीजावाद पर छिड़ी बहस का ही नतीजा था ‘सड़क’ फिल्म के ट्रेलर का हाल। ट्रेलर को अभी तक 6.7 करोड़ लोग देख चुके हैं। जिसमें से महज़ 6.8 लाख लोगों ने इसे लाइक किया है और 1.2 करोड़ लोगों ने डिसलाइक किया है। इस फिल्म के निर्देशक हैं महेश भट्ट और प्रोडूसर हैं मुकेश भट्ट। फिल्म में मुख्य भूमिकाएँ निभाई हैं संजय दत्त, आलिया भट्ट और आदित्य रॉय कपूर ने। इसके बाद यह बताने की ज़रूरत नहीं बचती कि इनमें से कौन-कौन बॉलीवुड के फ़िल्मी परिवारों से आता है।  

अब वापस लौटते हैं खाली-पीली की अभिनेत्री अनन्या पाण्डेय पर। वैसे तो इनके वीडियो अक्सर सोशल मीडिया पर वायरल होते रहते हैं लेकिन एक वीडियो सबसे अलग है। वीडियो है एक टीवी कार्यक्रम का जिसमें उनसे सब्जियों के नाम पूछे जाते हैं। अनन्या पाण्डेय के सामने करी पत्ता रखा गया और उनसे पूछा गया कि यह क्या है? जवाब में उन्होंने कई हरी सब्जियों का नाम ले लिया पालक, पुदीना और न जाने क्या-क्या। यानी असली नाम छोड़ कर बाकी सारे नाम ले लिए। हालाँकि सब्जियों का नाम जानना अनिवार्यता नहीं है, फिर भी अपने चहेते कलाकारों की छोटी और अनूठी बातें दर्शकों को पता होनी ही चाहिए।  

सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद बॉलीवुड में भाई भतीजावाद की बहस पर बड़ी बहस शुरू हुई। जिसकी चिंगारी को अक्सर कोई न कोई हवा दे ही देता है। सोनाक्षी सिन्हा से लेकर करीना कपूर तक और आलिया भट्ट से लेकर सोनम कपूर तक। हर बड़े बॉलीवुड घराने से आने वाले अभिनेता और अभिनेत्री इस बहस में घसीटे गए। करीना कपूर ने तो इतना कह दिया था कि अगर हमारी फ़िल्में अच्छी नहीं लगती तो देखने मत जाया करो। हमने कब आप पर दबाव बनाया कि आप हमारी फ़िल्में देखने जाइए।  

सोनाक्षी सिन्हा तो इस बहस से इतनी परेशान हुई कि उन्होंने ट्विटर छोड़ दिया। इसके अलावा कहा भी इससे दूर रहने में भी भलाई है। इसके बाद सोनाक्षी ने यह भी कहा कि अब उनकी इस प्लेटफॉर्म पर वापसी की कोई उम्मीद भी नहीं है। वहीं सोनम कपूर ने कहा था कि उन्हें इस बार पर फक्र है कि वह एक सुपरस्टार अभिनेता की बेटी हैं। उन्हें अपने परिवार से जो पहचान मिली है वह उस पर गर्व करती हैं। यह तो कुछ कलाकार हैं, इनके अलावा भी फ़िल्मी दुनिया के ऐसे कई नाम हैं। जो किसी न किसी तरह इस बहस का हिस्सा बने।

चाहे सड़क फिल्म के ट्रेलर की बात हो या खाली पीली फिल्म के टीज़र की। इन दोनों पर आई प्रतिक्रिया से बहुत कुछ साफ़ हो जाता है। बॉलीवुड की दुनिया में समीकरण बदलें या नहीं, बदलाव हो या नहीं। लेकिन बदलावों की पहले की बहस सतह पर है। बेशक इसके अपने प्रभाव होंगे और अपने नतीजे होंगे।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

स्कूल में नमाज बैन के खिलाफ हाई कोर्ट ने खारिज की मुस्लिम छात्रा की याचिका, स्कूल के नियम नहीं पसंद तो छोड़ दो जाना...

हाई कोर्ट ने छात्रा की अपील की खारिज कर दिया और साफ कहा कि अगर स्कूल में पढ़ना है तो स्कूल के नियमों के हिसाब से ही चलना होगा।

‘क्षत्रिय न दें BJP को वोट’ – जो घूम-घूम कर दिला रहा शपथ, उस पर दर्ज है हाजी अली के साथ मिल कर एक...

सतीश सिंह ने अपनी शिकायत में बताया था कि उन पर गोली चलाने वालों में पूरन सिंह का साथी और सहयोगी हाजी अफसर अली भी शामिल था। आज यही पूरन सिंह 'क्षत्रियों के BJP के खिलाफ होने' का बना रहा माहौल।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe