Tuesday, July 27, 2021
Homeविविध विषयमनोरंजन'सलमान खान के खिलाफ कुछ भी नहीं', कोर्ट के आदेश पर KRK ने कहा...

‘सलमान खान के खिलाफ कुछ भी नहीं’, कोर्ट के आदेश पर KRK ने कहा – फिल्मों की समीक्षा करूँगा, सुप्रीम कोर्ट भी जाऊँगा

"अगर आदेश संतोषजनक नहीं रहा तो मैं हाई कोर्ट और सुप्रीम कोर्ट भी जाऊँगा... VFX वाला बुड्ढा अभिनेता मेरी समीक्षाओं से डरता है। कुछ भी करो, मैं तुम्हारे करियर को 100% खा जाऊँगा! ये मेरी गारंटी है।"

बॉलीवुड अभिनेता सलमान खान द्वारा फिल्म क्रिटिक कमाल राशिद खान (केआरके) के खिलाफ दायर किए गए मानहानि का मामले में मुंबई की कोर्ट ने फैसला सुना दिया है। कोर्ट ने केआरके को सलमान खान या उनकी फिल्मों पर किसी भी तरह का कमेंट करने से रोक दिया है। वहीं केआरक ने कहा है कि वो इमानदारी से फिल्मों की समीक्षा करते हैं और करते रहेंगे। फिल्म समीक्षक ने यह भी कहा कि अभी तक उन्हें कोर्ट के आदेश की कॉपी नहीं मिली है। लेकिन वो अपने अभिव्यक्ति के अधिकार के लिए सुप्रीम कोर्ट तक जाएँगे।

केआरके ने दावा किया है कि उन्होंने कभी भी सलमान खान के बारे में कुछ भी अपमानजनक नहीं बोला है। पिछले महीने (मई 2021) सलमान खान ने ​​केआरके के खिलाफ मानहानि का केस किया था। इस पर केआरके ने इसे ‘राधे: योर मोस्ट वांटेड भाई’ के पक्ष में फिल्म की समीक्षा नहीं करने का बदला बताया था। हालाँकि, सलमान खान के वकीलों ने कहा था कि यह मुकदमा बीइंग ह्यूमन के खिलाफ भ्रष्टाचार और मनी लॉन्ड्रिंग के आरोपों के जवाब में था।

रिपोर्ट के मुताबिक, मुंबई की एक अदालत ने बुधवार (23 जून 2021) को सलमान खान द्वारा दायर मानहानि के मामले में अपना फैसला सुनाते हुए केआरके को सलमान पर कोई भी मानहानि वाला पोस्ट या वीडियो शेयर करने से अस्थायी तौर पर रोक दिया था। यह अस्थायी रोक मामले के अंतिम फैसले तक जारी रहेगी। अदालत ने अपने फैसले में कहा, “एक अच्छी प्रतिष्ठा व्यक्तिगत सुरक्षा का एक तत्व है और यह संविधान द्वारा समान रूप से जीवन, स्वतंत्रता और संपत्ति के आनंद के अधिकार के साथ रक्षित किया गया है।”

अदालत ने सुनवाई के दौरान पाया कि केआरके ने स्वतंत्रता की सीमा को पार कर सलमान खान की फिल्मों पर अपमानजनक टिप्पणी की है। कोर्ट ने कहा, “अगर प्रतिवादी (केआरके) को वादी (सलमान खान) के खिलाफ इस तरह के अपमानजनक शब्दों के इस्तेमाल की अनुमति दी जाती है तो वे आगे भी इसी तरह से इमेज को नुकसान पहुँचाएँगे।” इस केस में अगली सुनवाई 2 अगस्त को होगी।

केआरके की प्रतिक्रिया

कोर्ट के आदेश पर केआरके ने ट्वीट कर लिखा, “मुझे अभी तक कोर्ट के आदेश की कॉपी नहीं मिली है, लेकिन मैंने मीडिया रिपोर्ट्स के जरिए पढ़ा है कि अदालत ने मुझे सलमान खान के खिलाफ कुछ भी अपमानजनक नहीं कहने के लिए कहा है! न मैंने पहले कुछ भी अपमानजनक कहा है और न ही भविष्य में कहूँगा। मैं केवल ईमानदारी से फिल्मों की समीक्षा करता हूँ और करता रहूँगा।”

एक अन्य ट्वीट में केआरके ने कहा, “मैं मीडिया को बताना चाहता हूँ कि मुझे अब तक अदालत के आदेश की कॉपी नहीं मिली है। लेकिन अगर आदेश संतोषजनक नहीं रहा तो मैं हाई कोर्ट और सुप्रीम कोर्ट भी जाऊँगा। मैं अपनी अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के अधिकार की रक्षा के लिए संघर्ष करूँगा। धन्यवाद!”

ट्विटर पर एक पोल भी किया

हालाँकि, केआरके यहीं नहीं रुके उन्होंने सलमान खान का नाम लिए बिना ही ट्विटर पर एक पोल किया। इसमें उन्होंने अपने फॉलोवर्स से पूछा कि उन्हें लगता है कि वीएफएक्स वाला बुड्ढा अभिनेता उनकी समीक्षाओं से डरता है। इसके बाद केआरके ने लिखा, “देखो वीएफएक्स वाले दुधव अभिनेता, तुम कुछ भी करो, मैं तुम्हारे करियर को तो 100% खा जाऊँगा! ये मेरी गारंटी है।”

उन्होंने यह भी कहा कि बॉलीवुड के 20 से अधिक लोगों ने सलमान के साथ कानूनी लड़ाई में उनका समर्थन करने के लिए फोन किया है। फिल्म समीक्षक ने कहा, “अब मुझे परवाह नहीं है, परिणाम क्या होगा। लेकिन मैं उन सभी लोगों के लिए लड़ूँगा। मैं इतने सारे लोगों को निराश नहीं होने दे सकता। मैं उनका भरोसा नहीं तोड़ूँगा।”

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘कारगिल कमेटी’ पर कॉन्ग्रेस की कुण्डली: लोकतंत्र की सुरक्षा के लिए राष्ट्रीय सुरक्षा राजनीतिक दृष्टिकोण का न हो मोहताज

हमें ध्यान में रखना होगा कि जिस लोकतंत्र पर हम गर्व करते हैं उसकी सुरक्षा तभी तक संभव है जबतक राष्ट्रीय सुरक्षा का विषय किसी राजनीतिक दृष्टिकोण का मोहताज नहीं है।

असम-मिजोरम बॉर्डर पर भड़की हिंसा, असम के 6 पुलिसकर्मियों की मौत: हस्तक्षेप के दोनों राज्‍यों के CM ने गृहमंत्री से लगाई गुहार

असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने ट्वीट कर बताया कि असम-मिज़ोरम सीमा पर तनाव में असम पुलिस के 6 जवानों की जान चली गई है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,362FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe