Monday, August 15, 2022
Homeविविध विषयमनोरंजन200 करोड़ रुपए की वसूली वाले महाठग सुकेश से जैकलीन की नजदीकियाँ आईं सामने,...

200 करोड़ रुपए की वसूली वाले महाठग सुकेश से जैकलीन की नजदीकियाँ आईं सामने, ईडी जल्द दाखिल करेगी चार्जशीट

बेंगलुरु से आने वाले सुकेश चंद्रेशखर को अय्याश जिंदगी जीने के शौक ने शातिर ठग बना दिया। बेंगलुरु पुलिस ने जब सुकेश को पहली बार पकड़ा था, तब उसकी उम्र सिर्फ 17 साल थी। उस दौरान उसने कर्नाटक के पूर्व सीए

200 करोड़ रुपए की वसूली मामले में महाठग सुकेश चंद्रशेखर से रिश्ते को लेकर बॉलीवुड अभिनेत्री जैकलीन फर्नांडिस फँसती जा रही हैं। दरअसल, सुकेश और जैकलीन के बीच नजदीकियों को पुख्ता साबित करने वाला एक सबूत सामने आया है। जाँच एजेंसियों के हाथ ऐसी तस्वीरें लगी हैं, जिनमें सुकेश और जैकलीन एक साथ समय बिताते नजर आ रहे हैं।

आजतक की रिपोर्ट के मुताबिक, ये तस्वीरें उस समय की हैं, जब सुकेश चंद्रशेखर तिहाड़ जेल से जमानत पर बाहर आया था। तिहाड़ से निकलने के बाद वह फ्लाइट से चेन्नई गया और वहाँ फाइव स्टार होटल में जैकलीन से मिला था। अहम बात ये है कि जैकलीन के साथ के पलों को जिस मोबाइल फोन से वो कैद करने की कोशिश कर रहा है, ये वही मोबाइल फोन (आईफोन 12 प्रो) है, जिसके जरिए ठग ने 200 करोड़ रुपए की ठगी को अंजाम दिया था। हालाँकि, उसके पास अभी भी वही फोन है।

बहरहाल अब अगले महीने दिसंबर की शुरुआत में ही प्रवर्तन निदेशालय मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में दिल्ली की कोर्ट में चार्जशीट दाखिल करने जा रही है। इसमें जैकलीन और सुकेश के रिश्ते को लेकर पूरी विस्तृत जानकारी दी गई है।

गौरतलब है कि सुकेश ने बिजनेस मैन बनकर जैकलीन को अपने जाल में फँसाया था। इसी कारण से प्रवर्तन निदेशालय ने जैकलीन को पूछताछ के लिए बुलाया था। वो तिहाड़ जेल से स्पूफिंग के जरिए जैकलीन को कॉल करता था। इसके अलावा उन्हें महँगे गिफ्ट, फूल और चॉकलेट भेजता था। प्रवर्तन निदेशालय के पास उसके दो दर्जन से भी अधिक कॉल्स के रिकॉर्ड मौजूद हैं।

बेंगलुरु से आने वाले सुकेश चंद्रेशखर को अय्याश जिंदगी जीने के शौक ने शातिर ठग बना दिया। बेंगलुरु पुलिस ने जब सुकेश को पहली बार पकड़ा था, तब उसकी उम्र सिर्फ 17 साल थी। उस दौरान उसने कर्नाटक के पूर्व सीएम एचडी कुमारस्‍वामी के बेटे का दोस्‍त बनकर एक परिवार से 1.14 करोड़ रुपए ठगे थे। बेंगलुरु में जब उसकी पोल खुलने लगी तो वह चेन्‍नई भाग गया।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

₹180 करोड़ की फिल्म, 4 दिन में बस ₹38 करोड़: लाल सिंह चड्ढा के फ्लॉप होते ही सदमे में आमिर खान, डिस्ट्रीब्यूटर्स ने माँगा...

लाल सिंह चड्ढा की बॉक्स ऑफिस पर भद्द पिटने के बाद आमिर खान सदमे में चले गए हैं। वहीं डिस्ट्रीब्यूटर्स ने भी मेकर्स से मुआवजे की माँग शुरू कर दी है।

वो हिंदुस्तानी जो अभी भी नहीं हैं आजाद: PoJK के लोग देख रहे आशाभरी नजरों से भारत की ओर, हिंदू-सिखों का यहाँ हुआ था...

विभाजन की विभीषिका को भी भुलाया नहीं जा सकता। स्वतंत्रता-प्राप्ति का मूल्य समझकर और स्वतन्त्रता का मूल्य चुकाकर ही हम अपनी स्वतंत्रता को सुरक्षित और संरक्षित कर सकते हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
213,977FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe