Tuesday, May 21, 2024
Homeविविध विषयमनोरंजनक्या तुम ला-इलाहा-इल्लल्लाह का मतलब भूल गए?- गणेश चतुर्थी पर तिलक लगाए शाहरुख को...

क्या तुम ला-इलाहा-इल्लल्लाह का मतलब भूल गए?- गणेश चतुर्थी पर तिलक लगाए शाहरुख को समझाया ‘इस्लाम’

“क्या हाथी के सिर वाला व्यक्ति वाकई होता है? क्या तुम मुस्लिम हो? अगर हो तो यह शिर्क है। शिर्क़ का मतलब अल्लाह के अलावा दूसरे को भी मानना या बोलना... जो आपने अभी बोला वो भी शिर्क है।”

गणपति उत्सव के मौके पर कई बॉलीवुड सितारे अपने घरों में भगवान गणेश की प्रतिमा लेकर आते हैं। शाहरूख खान इस सूची में सबसे चर्चित नाम हैं। इस बार भी वह गणेश चतुर्थी के मौके पर प्रतिमा घर लेकर आए। भगवान गणपति की पूजा-पाठ की, उनका विसर्जन किया। 

सभी कार्य संपन्न होने के बाद शाहरूख खान ने सोशल मीडिया पर यह जानकारी देते हुए गणेश चतुर्थी की शुभकामनाएँ भी दीं। उन्होंने लिखा, “प्रार्थना और विसर्जन हो गया… इस गणेश चतुर्थी पर भगवान गणेश आप और आपके प्रियजनों पर कृपा बरसाएँ, आशीर्वाद और खुशियाँ। गणपति बप्पा मोरया।”

इस संदेश के बदले शाहरुख खान के फैन्स ने उन्हें बहुत सराहा। हालाँकि, इस मौके पर कुछ लोग ऐसे भी थे, जिन्हें शाहरुख के माथे पर टीका और गणपति के प्रति इतना प्रेम नहीं पचा और वह उन्हें संप्रदाय विशेष से होने के मायने समझाने लगे।

एक कामराम नाम के यूजर ने लिखा, “मुझे लगता है कि आप ला इलाहा इल इल्लाह” का मतलब भूल गए हैं। भगवान सिर्फ़ एक है, ‘अल्लाह’। दुनिया का प्यार पाने के लिए आप क्या बन गए हैं। क्या आप अपनी अगली जिंदगी के बारे में नहीं सोचते?

इसी रिप्लाई पर एक अबरार अहमद नाम का यूजर लिखता है, “वह अच्छे से जानते हैं लेकिन ये सब वह अपनी खुशी के लिए नहीं कर रहे। ये वह अपने फैन्स के लिए और अपनी पत्नी के लिए कर रहे हैं।”

इसके बाद एक शैफी अल फिराशाह नाम के यूजर ने शाहरुख ने ट्वीट पर गणपति का अपमान करने के लिए लिखा, “क्या हाथी के सिर वाला व्यक्ति वाकई होता है?”

जौहेर खान इसी बीच अपना अजेंडा चलाने के लिए बीच में लिखता है, “क्या फर्क पड़ता कि कितने उर्दू नामों ने यहाँ अपना सेकुलरिज्म साबित करने की कोशिश की। लेकिन हिंदुत्व के गुंडे (असली हिंदू नहीं) केवल तभी खुश होंगे जब वह अपने सभ्यता और परंपरा को गाली देंगे।”

जकारिया ने लिखा, “अल्लाह तुम्हारे किसी भी पाप को माफ कर सकता है। लेकिन एक चीज जिसे वह माफ नहीं कर सकता है। वह किसी के साथ भी साझेदारी।”

सैयद अब्दुल बासित ने शाहरुख खान के पोस्ट पर रिप्लाई करते हुए लिखा, “क्या तुम मुस्लिम हो? अगर हो तो यह शिर्क है। शिर्क़ का मतलब अल्लाह के अलावा दूसरे को भी मानना या बोलना जो आपने अभी बोला वो भी शिर्क है। अगर आप समझते हो।”

बता दें कि शाहरुख खान को पहली बार हिंदू त्योहार मनाने पर कट्टरपंथियों से इस्लाम की परिभाषा सुनने को नहीं मिली है। पिछली बार भी उनके पोस्ट पर ऐसा ही कुछ देखने को मिला था। उनके अलावा बॉलीवुड में कई और कलाकार हैं, जो अक्सर अपनी हिंदू देवी-देवताओं के साथ फोटो अपलोड करते हैं और कट्टरपंथी उनसे नाराज हो जाते हैं।

पिछले साल गणेश चतुर्थी के अवसर पर सैफ अली खान की बेटी और बॉलीवुड अदाकारा सारा अली खान को कट्टरपंथियों ने निशाने पर लिया था। साथ ही उनके साथ गाली-गलौच भी की थी। इसके अलावा राम जन्मभूमि की बधाई देने पर भी कई सेकुलरों का चेहरा सोशल मीडिया पर सामने आया था।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

J&K के बारामुला में टूट गया पिछले 40 साल का रिकॉर्ड, पश्चिम बंगाल में सर्वाधिक 73% मतदान: 5वें चरण में भी महाराष्ट्र में फीका-फीका...

पश्चिम बंगाल 73% पोलिंग के साथ सबसे आगे है, वहीं इसके बाद 67.15% के साथ लद्दाख का स्थान रहा। झारखंड में 63%, ओडिशा में 60.72%, उत्तर प्रदेश में 57.79% और जम्मू कश्मीर में 54.67% मतदाताओं ने वोट डाले।

भारत पर हमले के लिए 44 ड्रोन, मुंबई के बगल में ISIS का अड्डा: गाँव को अल-शाम घोषित चला रहे थे शरिया, जिहाद की...

साकिब नाचन जिन भी युवाओं को अपनी टीम में भर्ती करता था उनको जिहाद की कसम दिलाई जाती थी। इस पूरी आतंकी टीम को विदेशी आकाओं से निर्देश मिला करते थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -