Monday, August 2, 2021
Homeविविध विषयभारत की बातदिग्विजय ने 'नेपाली लड़का' कह जिनका उपहास किया था, उन्हें UN करेगा सम्मानित

दिग्विजय ने ‘नेपाली लड़का’ कह जिनका उपहास किया था, उन्हें UN करेगा सम्मानित

आचार्य बालकृष्ण को संयुक्त राष्ट्र ने 25 मई को स्विट्जरलैंड के जेनेवा में आयोजित होने वाली यूएनएसडीजी हेल्थ समिट में स्पीकर के रूप में आमंत्रित किया है। इसी कार्यक्रम के दौरान बालकृष्ण को यूनिवर्सल हेल्थ केयर अवॉर्ड से सम्मानित किया जाएगा।

पतंजलि योगपीठ के नाम एक और उपलब्धि जुड़ गई है। स्वास्थ्य सेवाओं में योगदान के लिए पतंजलि संस्थान के चेयरमैन आचार्य बालकृष्ण को संयुक्त राष्ट्र की संस्था यूनाइटेड नेशंस सस्टेनेबल डेवलपमेंट गोल्स (यूएनएसडीजी) ने विश्व के 10 सबसे प्रभावशाली लोगों की सूची में शामिल किया है। आचार्य बालकृष्ण को संयुक्त राष्ट्र ने 25 मई को स्विट्जरलैंड के जेनेवा में आयोजित होने वाली यूएनएसडीजी हेल्थ समिट में स्पीकर के रूप में आमंत्रित किया है। इसी कार्यक्रम के दौरान बालकृष्ण को यूनिवर्सल हेल्थ केयर अवॉर्ड से सम्मानित किया जाएगा। इस समारोह में दुनियाभर के 50 देशों के 500 से ज्यादा प्रतिभागियों के शामिल होने की उम्मीद है।

स्वामी रामदेव ने कल (मई 15, 2019) को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में इस बारे में बात करते हुए कहा कि यह पूरे देश के लिए गर्व का क्षण है कि पतंजलि आयुर्वेद और उसके प्रतिनिधि बालकृष्ण को संयुक्त राष्ट्र द्वारा सम्मानित किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि उनका लक्ष्य किसी सूची में स्थान प्राप्त करना नहीं, बल्कि समाज और मानवता की सेवा करना है। इस दौरान उन्होंने पतंजलि की उपलब्धियों पर भी प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कि पतंजलि के माध्यम से भारतीय चिकित्सा पद्धति में योग व आयुर्वेद को सम्पूर्ण विश्व में पुनः स्थापित किया गया। इससे करोड़ों साध्य-असाध्य रोगों से पीड़ित रोगियों को स्वास्थ्य लाभ मिला है।

वहीं, यूएन से सम्मान मिलने की बात पर आचार्य बालकृष्ण का कहना है कि यूएन ने भी मान लिया है कि योग और आयुर्वेद, स्वास्थ्य के लिए बहुत आवश्यक है। उन्होंने इस बात को भी माना है कि पतंजलि द्वारा जो कार्य किया जा रहा है, वह प्रभावशाली है। यह सम्मान योग और आयुर्वेद के लिए गर्व करने की बात है। संपूर्ण देशवासी, जो भारतीय संस्कृति और भारतीय परंपरा पर विश्वास रखते हैं, उनके लिए गर्व की बात है। उन्होंने बताया कि यह आयोजन वर्ल्ड हेल्थ फोरम द्वारा किया जा रहा है, और इसका लक्ष्य वैश्विक सार्वजनिक स्वास्थ्य और विकास को मंच प्रदान करना है, जिससे प्राइमरी हेल्थ केयर, नाॅन कम्युनिकेबल डिजीज कंट्रोल और डिजिटल हेल्थ को बढावा मिल सके।

बता दें कि, इस सम्मान के लिए पतंजलि योगपीठ हरिद्वार के चेयरमैन आचार्य बालकृष्ण के अलावा दुनिया की प्रतिष्ठित संस्था विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के महानिदेशक टेड्रोस एडहानॉम और यूनिसेफ के कार्यकारी निदेशक हेनरीटा फोर को भी चुना गया है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

मुहर्रम पर यूपी में ना ताजिया ना जुलूस: योगी सरकार ने लगाई रोक, जारी गाइडलाइन पर भड़के मौलाना

उत्तर प्रदेश में डीजीपी ने मुहर्रम को लेकर गाइडलाइन जारी कर दी हैं। इस बार ताजिया का न जुलूस निकलेगा और ना ही कर्बला में मेला लगेगा। दो-तीन की संख्या में लोग ताजिया की मिट्टी ले जाकर कर्बला में ठंडा करेंगे।

हॉकी में टीम इंडिया ने 41 साल बाद दोहराया इतिहास, टोक्यो ओलंपिक के सेमीफाइनल में पहुँची: अब पदक से एक कदम दूर

भारतीय पुरुष हॉकी टीम ने टोक्यो ओलिंपिक 2020 के सेमीफाइनल में जगह बना ली है। 41 साल बाद टीम सेमीफाइनल में पहुँची है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,543FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe