Thursday, February 22, 2024
Homeविविध विषयअन्य'कोविशील्ड' के बाद पहले स्वदेशी कोरोना टीके 'कोवैक्सीन' को मिली एक्सपर्ट कमेटी की मंजूरी

‘कोविशील्ड’ के बाद पहले स्वदेशी कोरोना टीके ‘कोवैक्सीन’ को मिली एक्सपर्ट कमेटी की मंजूरी

“कोरोना का टीका पहले चरण में तीस करोड़ लोगों को मुफ्त मिलेगा। इनमें एक करोड़ स्वास्थ्य कर्मी और दो करोड़ अग्रिम पंक्ति के कर्मचारी होंगे। तथा 27 करोड़ अन्य वरिष्ठ व्यक्तियों को जिनकी आयु 50 साल से ऊपर है।”

‘कोविशील्ड’ के बाद देश को पहला स्वदेशी टीका ‘कोवैक्सीन’ भी मिल गया है। केंद्रीय औषधि मानक नियंत्रण संगठन की कोविड-19 पर बनी विशेषज्ञों की समिति ने शनिवार (जनवरी 02, 2021) को भारत बायोटेक द्वारा विकसित इस टीके को भी आपातकालीन इस्तेमाल की मंजूरी दी

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने कहा, “कोरोना का टीका पहले चरण में तीस करोड़ लोगों को मुफ्त मिलेगा। इनमें एक करोड़ स्वास्थ्य कर्मी और दो करोड़ अग्रिम पंक्ति के कर्मचारी होंगे। तथा 27 करोड़ अन्य वरिष्ठ व्यक्तियों को जिनकी आयु 50 साल से ऊपर है।” इससे पहले, सीरम इंस्टीट्यूट की ‘कोविशील्ड’ वैक्सीन के आपात इस्तेमाल को मंजूरी दी गई थी।

बता दें कि ‘कोवैक्सीन’ पहली ऐसी कोविड-19 वैक्सीन है, जिसे ICMR के सहयोग से देश में ही विकसित किया गया है। इसे भारत बायोटेक ने विकसित किया है। इस वैक्सीन को भारत बायोटेक व एनआईवी पुणे ने मिलकर तैयार किया है।

जानकारी के मुताबिक कोरोना वायरस वैक्सीन का आकलन करने वाली विशेषज्ञों की समिति ने एक बैठक के बाद हैदराबाद स्थित भारत बायोटेक को शनिवार की दोपहर बैठक के लिए बुलाया था। प्राथमिकता के आधार पर लोगों को जुलाई तक किस तरह से टीका लगाया जाएगा, इस प्रक्रिया को अंतिम रूप दिया जा रहा है। इन लाभार्थियों में 50 वर्ष से अधिक आयु के लोग और पहले से किसी बीमारी से ग्रस्त इससे कम उम्र के लोग भी शामिल हैं। उन्होंने कहा, टीके को मंजूरी देने से पहले हम किसी भी प्रोटोकॉल से समझौता नहीं करेंगे।

दिल्ली के जीटीबी अस्पताल में टीकाकरण के पूर्वाभ्यास की समीक्षा करने पहुँचे केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने कहा, “कोरोना का टीका आने के बाद सबसे पहले स्वास्थ्य कर्मचारी, सुरक्षा जवान और पुलिसकर्मियों को उपलब्ध होगा। देश में अभी करीब एक करोड़ स्वास्थ्य कर्मचारी हैं और दो करोड़ सुरक्षा व पुलिस के जवान। इन लोगों को टीका देने के बाद नगर निगम/पालिका और पंचायत के कर्मचारी, पहले से बीमार और 50 या उससे अधिक वर्ष की आयु के लोगों को टीका दिया जाएगा।”

इनकी संख्या करीब 27 करोड़ है। इन्हें दो अलग-अलग चरणों में टीका दिया जाएगा। स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, 30 करोड़ लोगों को दो-दो खुराक उपलब्ध कराने में कम से कम पाँच से छ: महीने का वक्त लग सकता है। इसी साल के मध्य तक यह लक्ष्य पूरा कर लिया जाएगा। इसके बाद ही किसी और व्यक्ति को टीका मिल सकता है। वहीं, जब हर्षवर्धन से सवाल पूछा गया कि कोरोना वैक्सीन जैसे दिल्ली में मुफ्त होगी, क्या वैसे ही सभी राज्यों में भी मुफ्त होगी?

इस सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि कोरोना टीका दिल्ली में ही नहीं, बल्कि पूरे देश में मुफ्त होगा। उल्लेखनीय है कि शुक्रवार को ही कोरोना टीकाकरण के लिए सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के कोविशील्ड टीके को आपातकालीन इस्तेमाल की अनुमति दी गई थी। 

वहीं एम्स (AIIMS) के निदेशक रणदीप गुलेरिया (Director Dr. Randeep Guleria) ने शनिवार को कहा कि कोविड-19 के रोलआउट के लिए भारत आने वाले 10-14 दिनों में तैयार हो जाएगा।

डॉक्टर गुलेरिया ने कहा, “हम लोग बहुत धीमी गति से वैक्सीनेशन शुरू करेंगे, तब तक और वैक्सीन आ जाएँगे। वैक्सीनेशन प्रोसेस जब शुरू होगी तब एक प्रॉपर टाइ्म टेबल के साथ-साथ भीड़ को मैनेज करने के तरीके की भी जरूरत होगी। हम लोगों को यह भी तय करना होगा कि कोल्ड स्टोरेज की कमी की वजह से वैक्सीन बेकार न जाए। इस बात में ड्राइ रन हमारी मदद करेगा।”

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

अलवर में जहाँ कटती थी गाय उस मंडी को चलाता था वारिस, बना रखा था IPS का फर्जी कार्ड: रिपोर्ट में बताया- सप्लाई के...

मकानों को ध्वस्त किया गया है, बिजली के पोल गिरा कर ट्रांसफॉर्मर हटाए गए हैं और खेती भी नष्ट की गई है। खुद कलक्टर अर्पिता शुक्ला ने दौरा किया।

खनौरी बॉर्डर पर पुलिस वालों को घेरा, पराली में भारी मात्रा में मिर्च डाल कर लगा दी आग… किसानों ने लाठी-गँड़ासे किया हमला, जम...

किसानों द्वारा दाता सिंह-खनौरी बॉर्डर पर पुलिसकर्मियों को घेर कर पुलिस नाके के आसपास भारी मात्रा में मिर्च पाउडर डाल कर आग लगा दी गई।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
418,000SubscribersSubscribe