Wednesday, July 28, 2021
Homeविविध विषयअन्यभू-माफिया आजम खान के गेट पर पुलिस का नोटिस: कोई अप्रिय घटना न हो,...

भू-माफिया आजम खान के गेट पर पुलिस का नोटिस: कोई अप्रिय घटना न हो, इसलिए सुरक्षा साथ लेकर चलें

"आजम खान को वाई कैटेगरी की सुरक्षा मिली हुई है। लेकिन बावजूद इसके वह अपने साथ सुरक्षाकर्मियों को साथ नहीं रखते। इसलिए उन्होंने उनके घर के बाहर सतर्कता पोस्टर के रूप में ये नोटिस चिपकाया है।"

जमीनी घोटालों को लेकर भू-माफिया घोषित हो चुके सपा सांसद आजम खान एक बार फिर से सुर्खियों में हैं। लेकिन इस बार वह अपनी सुरक्षा को लेकर दिखाई गई लापारवाही के कारण चर्चा में हैं।

जानकारी के अनुसार आजम खान और उनके विधायक बेटे अब्दुल्ला को सुरक्षा के लिहाज से गनर मिले हुए हैं, लेकिन दोनों बाप-बेटे जानबूझकर उन्हें साथ लेकर नहीं चलते। ऐसे में गुरुवार को हुई घटना के बाद पुलिस ने आजम और उनके बेटे अब्दुल्ला को गनर को साथ लेकर चलने का निर्देश दिया है। पुलिस ने इसके लिए उन्हें नोटिस जारी किया है, जिसे आजम खान के घर के बाहर मेन गेट पर चिपकवाया गया है।

जी न्यूज की खबर के मुताबिक एसपी अजय पाल शर्मा ने इस मामले की जानकारी देते हुए बताया की रामपुर से सांसद और सपा के वरिष्ठ नेता आजम खान को वाई कैटेगरी की सुरक्षा मिली हुई है। लेकिन बावजूद इसके वह अपने साथ सुरक्षाकर्मियों को साथ नहीं रखते। इसलिए उन्होंने उनके घर के बाहर सतर्कता पोस्टर के रूप में ये नोटिस चिपकाया है।

गौरतलब है कि आजम खान पर ईडी ने 1 अगस्त को मनी लॉन्ड्रिंग के ख़िलाफ़ केस दर्ज किया है। इसके अलावा वह पहले ही जमीन से जुड़े घोटालों के कारण भू-माफिया घोषित हो चुके हैं। उनके द्वारा शुरू की गई यूनिवर्सिटी पर छापे पड़ रहे हैं, जहाँ से सदियों पुरानी चोरी हुई किताबें मिलने की भी खबर हैं।

उधर, आजम खान के बेटे अब्दुल्ला को गुरुवार को अपने समर्थकों के साथ धारा 144 के उल्लंघन के आरोप में 24 घंटों के भीतर दो बार गिरफ्तार किया गया। हालाँकि देर शाम पुलिस द्वारा उन्हें रिहा कर दिया गया, लेकिन इस घटना के बाद पुलिस सतर्क हो गई और नोटिस जारी करने का कदम उठाया।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बद्रीनाथ नहीं, वो बदरुद्दीन शाह हैं…मुस्लिमों का तीर्थ स्थल’: देवबंदी मौलाना पर उत्तराखंड में FIR, कभी भी हो सकती है गिरफ्तारी

मौलाना के खिलाफ़ आईपीसी की धारा 153ए, 505, और आईटी एक्ट की धारा 66F के तहत केस किया गया है। शिकायतकर्ता का आरोप है कि उसके बयान से हिंदू भावनाएँ आहत हुईं।

बसवराज बोम्मई होंगे कर्नाटक के नए मुख्यमंत्री: पिता भी थे CM, राजीव गाँधी के जमाने में गवर्नर ने छीन ली थी कुर्सी

बसवराज बोम्मई के पिता एस आर बोम्मई भी राज्य के मुख्यमंत्री रह चुके हैं, जबकि बसवराज ने भाजपा 2008 में ज्वाइन की थी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,573FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe