Thursday, June 20, 2024
Homeविविध विषयअन्यटेस्ट क्रिकेट को बढ़ावा देने के लिए बीसीसीआई का बड़ा ऐलान, अब खिलाड़ियों को...

टेस्ट क्रिकेट को बढ़ावा देने के लिए बीसीसीआई का बड़ा ऐलान, अब खिलाड़ियों को मिलेगी मोटी रकम, BCCI ने घोषित किया इंसेंटिव प्लान

बीसीसीआई ने टेस्ट मैच खेलने वाले खिलाड़ियों के लिए इंसेंटिव की घोषणा की है। जिसके बाद खिलाड़ियों पर पैसों की बारिश होने लगेगी। इसमें तीन शर्तें हैं।

भारत के लिए टेस्ट मैच खेलने वाले खिलाड़ियों के लिए इंसेंटिव की घोषणा की गई है। ताकि खिलाड़ी खेल के इस लंबे प्रारूप के बारे में भी गंभीरता से सोचें। कुछ समय पहले टेस्ट मैचों से कन्नी काटने वाले श्रेयस अय्यर और ईशान किशन जैसे खिलाड़ियों के कदमों के बाद बीसीसीआई ने ये कदम उठाया है। दरअसल, टेस्ट मैच पूरे 5 दिन खेले जाते हैं, लेकिन समय और मेहनत के हिसाब से अब तक कम पैसे मिलते थे। ऐसे में खिलाड़ी फर्स्ट क्लास और टेस्ट क्रिकेट की जगह क्रिकेट के छोटे प्रारूप यानी टी-20 और वनडे पर ध्यान लगाते थे। ऐसा न हो और सभी बेहतरीन खिलाड़ी टेस्ट क्रिकेट पर ध्यान दें, इसके लिए बीसीसीआई ने इंसेन्टिव देने का प्लान बनाया है।

खिलाड़ी हो जाएँगे मालामाल, पहले से कई गुना ज्यादा मिलेगी रकम

इस बीच बीसीसीआई ने टेस्ट मैच खेलने वाले खिलाड़ियों के लिए इंसेंटिव की घोषणा की है। जिसके बाद खिलाड़ियों पर पैसों की बारिश होने लगेगी। इसमें तीन शर्तें हैं। पहली शर्त ये है कि अगर एक सीजन में 9 टेस्ट मैच खेले जाते हैं, तो 4 या कम टेस्ट मैच खेलने वाले खिलाड़ियों को कोई इंसेंटिंव नहीं मिलेगा, लेकिन अगर खिलाड़ी अगर पूरे सीजन के 9 टेस्ट मैचों में 50 प्रतिशत यानि 5 से 6 मैच खेलते हैं तो मैच फीस 30 लाख प्रति मैच इंसेंटिव के तौर पर मिलेंगे।

इस प्लान के तहत प्लेइंग इलेवन का हिस्सा रहे बगैर 5 से 6 मैच तक बैठे रहते हैं तो उन्हें 15 लाख इंसेंटिव के तौर पर प्रति मैच मिलेंगे। इसके अलावा अगर कोई खिलाड़ी 9 मैचों के सीजन में 75 प्रतिशत यानि 7 से ज्यादा मैच खेलता हो तो मैच फीस 45 लाख प्रति मैच इंसेंटिव के तौर पर मिलेंगे. वहीं, सात मैचों के दौरान प्लेइंग इलेवन का हिस्सा रहे बगैर वह बेंच पर ही बैठा रहता है तो उसे 22.5 लाख इंसेंटिव के तौर पर प्रति मैच मिलेंगे।

धर्मशाला टेस्ट में भारतीय टीम का शानदार प्रदर्शन

इस बीच, भारत-इंग्लैंड के बीच धर्मशाला में खेले गए पाँच मैचों के आखिरी मैच को भारतीय टीम ने पारी और 64 रनों से जीत लिया है। धर्मशाला टेस्ट मैच में भारत ने पहली पारी में कुलदीप यादव के 5 विकेट और अश्विन के 4 विकेट की बदौलत इंग्लैंड को पहली पारी में 218 रन पर समेट दिया था। इसके बाद भारत ने शुभमन गिल (110) और रोहित शर्मा (103) के शतकों से पहली पारी में 477 रनों का विशाल स्कोर बनाकर इंग्लैंड पर 259 रनों की बढ़त हासिल कर डाली थी। इंग्लैंड की दूसरी पारी में अपना 100वाँ टेस्ट मैच खेलने वाले अश्विन ने 5 विकेट झटके और इंग्लैंड की पूरी पारी को महज 195 रनों पर समेट दिया। इस तरह से टीम इंडिया ने धर्मशाला टेस्ट मैच को पारी और 64 रनों के अंतर से जीत लिया और 4-1 से सीरीज पर कब्जा कर लिया।

इस मैच में बेहतरीन प्रदर्शन करने वाले कुलदीप यादव को मैन ऑफ द मैच का पुरस्कार दिया गया। उन्होंने इस मैच में 112 रन देकर 7 विकेट लिए, तो बल्ले से भी 30 रनों का योगदान दिया। वहीं, पूरी सीरीज में 2 दोहरे शतकों और तीन अर्धशतकों की मदद से 712 रन बनाने वाले यशस्वी जायसवाल को मैन ऑफ द सीरीज चुना गया।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

14 फसलों पर MSP की बढ़ोतरी, पवन ऊर्जा परियोजना, वाराणसी एयरपोर्ट का विस्तार, पालघर का पोर्ट होगा दुनिया के टॉप 10 में: मोदी कैबिनेट...

पालघर के वधावन पोर्ट की क्षमता अब 298 मिलियन टन यूनिट की जाएगी। इससे भारत-मिडिल ईस्ट कॉरिडोर भी मजबूत होगा। 9 कंटेनर टर्मिनल होंगे।

किताब से बहती नदी, शरीर से उड़ते फूल और खून बना दूध… नालंदा की तबाही का दोष हिन्दुओं को देने वाले वामपंथी इतिहासकारों का...

बख्तियार खिजली को क्लीन-चिट देने के लिए और बौद्धों को सनातन से अलग दिखाने के लिए वामपंथी इतिहासकारों ने नालंदा विश्वविद्यालय को तबाह किए जाने का दोष हिन्दुओं पर ही मढ़ दिया। इसके लिए उन्होंने तिब्बत की एक किताब का सहारा लिया, जो इस घटना के 500 साल बाद लिखी गई थी और जिसमें चमत्कार भरे पड़े थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -