Friday, October 7, 2022
Homeविविध विषयअन्य'मेरा बूट सबसे मजबूत' : भाजपा सांसद और विधायक में बहस के बाद हुई...

‘मेरा बूट सबसे मजबूत’ : भाजपा सांसद और विधायक में बहस के बाद हुई जमकर कुटाई

मामला एक प्रोजेक्ट के शिलापट्ट पर नाम लिखवाने को लेकर था। फाउंडेशन स्टोन पर किस का नाम होगा, इसी बात को लेकर विवाद हो गया और दोनों लोग आपस में भिड़ पड़े।

भारत पाकिस्तान के बीच युद्ध के बादल छँट चुके हैं लेकिन भाजपा के भीतर आज एक अलग किस्म की जंग देखने को मिली है। ख़बरों में आज उत्तर प्रदेश के संत कबीर नगर जिले से एक बेहद ही चौंकाने वाला वीडियो देखने को मिला है। वीडियों में संत कबीर नगर के विधायक और सांसद आपस में ही भिड़ गए। बातों की गरमा-गर्मी हाथापाई और एक दूसरे पर जूता-चप्पल चलाने पर भी आ गई। मामला इतना बढ़ गया कि बीजेपी सांसद शरद त्रिपाठी ने विधायक राकेश सिंह पर जूता फेंक दिया।

मामला एक प्रोजेक्ट के शिलापट्ट पर नाम लिखवाने को लेकर था। फाउंडेशन स्टोन पर किस का नाम होगा, इसी बात को लेकर विवाद हो गया और दोनों लोग आपस में भिड़ पड़े। वीडियो में साफ तौर पर दिख रहा है कि बीजेपी सांसद शरद त्रिपाठी इंजिनियर से कुछ सवाल पूछ रहे हैं, इसी बीच विधायक राकेश सिंह उन सवालों के बीच में कूद पड़ते हैं। 

इस निंदनीय घटना पर उत्तर प्रदेश बीजेपी के अध्यक्ष महेंद्र नाथ पांडेय ने कहा, “हमने इस निंदनीय घटना का संज्ञान लिया है और दोनों को लखनऊ तलब किया गया है। सख्त अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी।”

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जिन वीर सावरकर को ‘देशद्रोही’ बुलाते रहे राहुल गाँधी, उनके पोस्टर ‘भारत जोड़ो यात्रा’ में फिर दिखे: कॉन्ग्रेस ने पल्ला झाड़ा, अज्ञात लोगों पर...

कर्नाटक के मांड्या जिले में कॉन्ग्रेस की 'भारत जोड़ो' यात्रा के पोस्टर में वीर सावरकर की फोटो लगाई गई है। इससे पहले ऐसे पोस्टर केरल में भी दिखे थे।

नहीं मानूँगा राम-कृष्ण को भगवान, न पिंडदान करूँगा… दिल्ली में 10 हजार हिन्दुओं का धर्मांतरण, केजरीवाल के मंत्री ने भी मंच पर चढ़कर ली...

जय भीम मिशन कार्यक्रम में 10 हजार लोगों को शपथ दिलाई गई कि वे हिन्दू देवी-देवताओं की पूजा नहीं करेंगे और न ही उन्हें भगवान मानेंगे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
226,825FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe