Saturday, July 13, 2024
Homeविविध विषयअन्यहार्दिक-नताशा की शादी में दिनेश कार्तिक ने किया कन्यादान, मंत्रों को अंग्रेजी में समझाने...

हार्दिक-नताशा की शादी में दिनेश कार्तिक ने किया कन्यादान, मंत्रों को अंग्रेजी में समझाने के लिए ट्रांसलेटर भी रखा गया: क्रुणाल-पंखुरी ने किया हवन

उन्होंने नताशा स्तांकोविक की तरफ से कन्यादान की रस्म अदायगी की। वहीं हार्दिक के बड़े भाई क्रुणाल पंड्या की पत्नी पंखुड़ी शर्मा ने तोरण रस्म निभाया।

भारतीय क्रिकेट टीम के ऑलराउंडर हार्दिक पंड्या और सर्बिया की मॉडल नताशा स्तांकोविक ने राजस्थान के उदयपुर में शादी रचाई। बुधवार (15 फरवरी, 2023) को दोनों ने हिन्दू रीति-रिवाज से राजस्थान के ऐतिहासिक शहर में शादी रचाई। अब तक वहाँ इस कार्यक्रम के चर्चे हो रहे हैं। इस दौरान ये भी सामने आया है कि विकेटकीपर बल्लेबाज दिनेश कार्तिक ने इस शादी में कन्यादान की रस्म निभाई। पंडित बनवारी चरण शास्त्री ने दोनों के फेरे करवाए।

‘दैनिक भास्कर’ ने चांदपोल के निवासी पंडित बनवारी चरण शास्त्री से बातचीत के आधार पर बताया कि शाम के पौने 8 बजे हार्दिक-नताशा ने फेरे लिए। इससे एक दिन पहले वैलेंटाइन्स डे के दिन ईसाई रीति-रिवाज से दोनों ने शादी की थी। पंडित ने बताया कि नताशा के माता-पिता ठीक से हिंदी नहीं समझते हैं। इसीलिए, वहाँ एक ट्रांसलेटर भी रखा गया था जो सातों वचनों को अंग्रेजी में अनुवाद कर के बता रहा था। हालाँकि, इस दौरान कुछ कठिन हिंदी शब्दों को लेकर हार्दिक पंड्या ने भी पंडित से पूछा और उनका अर्थ समझा।

असल में फेरे के दौरान जब कन्यादान के रस्म की बारी आई तो कुछ सेकेंड्स तक कोई नहीं पहुँचा। पंडित ने कन्यादान करने वाले को मंडप में उपस्थित होने के लिए आवाज़ लगाई थी। इस दौरान पास में खड़े दिनेश कार्तिक सामने आए और कन्यादान करने की इच्छा ज़ाहिर की। फिर उन्होंने नताशा स्तांकोविक की तरफ से कन्यादान की रस्म अदायगी की। वहीं हार्दिक के बड़े भाई क्रुणाल पंड्या की पत्नी पंखुड़ी शर्मा ने तोरण रस्म निभाया।

इस दौरान उन्होंने हार्दिक पंड्या का पूजन किया। रस्म के हिसाब से हार्दिक पंड्या का साला उनकी गोद में भी बैठा। नताशा के माता-पिता को इन सबकी समझ नहीं थी, इसीलिए क्रुणाल-पंखुरी ने हवन किया। इस दौरान पंडित ने उन्हें वैदिक नियम से हवन वाला चम्मच पकड़ने की विधि बताई। मजाक में उन्होंने ये भी कहा कि आपने अब तक बल्ला-गेंद ही पकड़ा है, इसीलिए ये चम्मच पकड़ने में दिक्कत आ रही। इस दौरान पंडित शास्त्री ने अंग्रेजी में पंड्या भाइयों और उनकी पत्नियों को कहा कि लाइफ ‘वन टाइम ऑफर’ है, इसका अच्छा प्रयोग कीजिए। इस पर खूब तालियाँ बजीं।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

NITI आयोग की रिपोर्ट में टॉप पर उत्तराखंड, यूपी ने भी लगाई बड़ी छलाँग: 9 साल में 24 करोड़ भारतीय गरीबी से बाहर निकले

NITI आयोग ने सस्टेनेबल डेवलपमेंट गोल्स (SDG) इंडेक्स 2023-24 जारी की है। देश में विकास का स्तर बताने वाली इस रिपोर्ट में उत्तराखंड टॉप पर है।

लैंड जिहाद की जिस ‘मासूमियत’ को देख आगे बढ़ जाते हैं हम, उससे रोज लड़ते हैं प्रीत सिंह सिरोही: दिल्ली को 2000+ मजार-मस्जिद जैसी...

प्रीत सिरोही का कहना है कि वह इन अवैध इमारतों को खाली करवाएँगे। इन खाली हुई जमीनों पर वह स्कूल और अस्पताल बनाने का प्रयास करेंगे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -