Monday, April 22, 2024
Homeविविध विषयअन्यफेसबुक 6 घंटे डाउन ही नहीं रहा, मार्क जुकरबर्ग को ₹52000 करोड़ का चोट...

फेसबुक 6 घंटे डाउन ही नहीं रहा, मार्क जुकरबर्ग को ₹52000 करोड़ का चोट भी दे गया: अमीरों की लिस्ट में गिरे

अब जुकरबर्ग की नेटवर्थ कम होकर 122 अरब डॉलर रह गई है। कुछ दिन पहले वह अमीरों की लिस्ट में चौथे नंबर पर थे। लेकिन अब वह फिर से बिल गेट्स से पिछड़ गए हैं।

दुनिया भर में सोमवार (अक्टूबर 4, 2021) शाम तकरीबन 9 बजे अचानक फेसबुक, इंस्टाग्राम और व्हॉट्सएप की सेवाएँ ठप पड़ गईं। इससे आम लोगों को काफी परेशानी झेलनी पड़ी। लगभग 6 घंटे तक सर्वर डाउन रहने के बाद सेवाएँ बहाल हुईं। लेकिन ये कुछ घंटे मार्क जुकरबर्ग के लिए भारी साबित हुए और उन्हें काफी बड़ा नुकसान झेलना पड़ा है। फेसबुक के को-फाउंडर और सीईओ जुकरबर्ग के नेटवर्थ में 7 अरब डॉलर (करीब 52190 करोड़ रुपए) की गिरावट आ गई है। इसके कारण वह अरबपतियों की लिस्ट में एक पायदान नीचे फिसल गए हैं।

ब्लूमबर्ग बिलिनेयर इंडेक्स के अनुसार, जुकरबर्ग अब बिल गेट्स से नीचे 5वें पायदान पर पहुँच गए हैं। आँकड़े बताते हैं कि सितंबर से अब तक उनके नेटवर्थ में करीब 19 अरब डॉलर की गिरावट आई है। अमेरिकी शेयर बाजार में फेसबुक के शेयर भी लुढक गए। शेयर में 5 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई है। शेयर सितंबर के मध्य से लेकर अब तक 15 फीसदी तक गिरा है। अब जुकरबर्ग की नेटवर्थ कम होकर 122 अरब डॉलर रह गई है। कुछ दिन पहले वह अमीरों की लिस्ट में चौथे नंबर पर थे। लेकिन अब वह फिर से बिल गेट्स से पिछड़ गए हैं। गेट्स 124 अरब डॉलर की नेटवर्थ के साथ इस सूची में अब चौथे नंबर पर हैं।

13 सितंबर को वॉल स्ट्रीट जर्नल ने इंटरनल डॉक्यूमेंट्स के आधार पर एक सीरीज पब्लिश की थी, जिसमें खुलासा किया गया कि फेसबुक अपने सभी प्रोडेक्ट की खामियों के बारे में अच्छे से जानता है। इनमें इंस्टाग्राम से युवा लड़कियों की मेंटल हेल्थ को होने वाले नुकसान और 6 जनवरी के कैपिटल दंगों के बारे में गलत सूचना की घटनाएँ शामिल हैं।

ये खुलासा सोमवार को एक Whistleblower ने किया। इसके जवाब में फेसबुक ने इस बात पर जोर दिया है कि राजनीतिक ध्रुवीकरण सहित उसके प्रोडेक्ट को लेकर हो रही समस्याएँ जटिल हैं और ये सब केवल टेक्नॉलॉजी की वजह से नहीं हुआ है। फेसबुक के वैश्विक मामलों के उपाध्यक्ष निक क्लेग ने सीएनएन को बताया, “मुझे लगता है कि लोगों की समझ के लिए ये जरूरी है कि यूएस में राजनीतिक ध्रुवीकरण के मुद्दों के लिए एक तकनीकी स्पष्टीकरण होना चाहिए।”

फेसबुक के सीईओ मार्क जुकरबर्ग ने यूजर्स को हुई इस खामी के लिए माफी भी माँगी है। फेसबुक ने भी एक बयान जारी कर कहा है कि लोगों और कारोबारियों को विश्व भर में हुई परेशानी के लिए वह खेद जताती है। हालाँकि फेसबुक ने यह नहीं बताया है कि इस तकनीकी खामी का कारण क्या रहा है। वहीं व्हाट्सऐप ने भी एक बयान जारी कर यूजर को हुई परेशानी के लिए माफी माँगी है। कहा गया कि व्हाट्सऐप की सेवाएँ धीरे-धीरे सामान्य हो रही हैं और तकनीकी गड़बड़ियों पर काम किया जा रहा है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘मुस्लिमों के लिए आरक्षण माँग रही हैं माधवी लता’: News24 ने चलाई खबर, BJP प्रत्याशी ने खोली पोल तो डिलीट कर माँगी माफ़ी

"अरब, सैयद और शिया मुस्लिमों को आरक्षण का लाभ नहीं मिलता है। हम तो सभी मुस्लिमों के लिए रिजर्वेशन माँग रहे हैं।" - माधवी लता का बयान फर्जी, News24 ने डिलीट की फेक खबर।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe