Saturday, May 25, 2024
Homeविविध विषयअन्यराम-रावण बनने के लिए रणबीर-ऋतिक लेंगे 75-75 करोड़ रुपए: ₹750 करोड़ की होगी सीरिज,...

राम-रावण बनने के लिए रणबीर-ऋतिक लेंगे 75-75 करोड़ रुपए: ₹750 करोड़ की होगी सीरिज, ‘सीता’ बनने की न्यूज करीना ने फिक्स करवाई

नीतेश तिवारी और उनकी टीम राम और रावण के किरदार के लिए एक्टर मिलने के बाद अब सीता के रोल के लिए अभिनेत्री तलाश रहे हैं। कुछ लोग करीना कपूर के भी फिल्म से जुड़े होने की बातें कह रहे थे। हालाँकि, बाद में पता चला ये अफवाह उनकी मार्केटिंग टीम ने उड़वाई थी।

बॉलीवुड के दो जाने-माने चेहरे रणबीर कपूर और ऋतिक रौशन जल्द ही राम और रावण के किरदार में नजर आएँगे। फिल्म निर्देशक नीतेश तिवारी की ‘रामायण’ में दोनों के रोल देखने को मिलेंगे। जानकारी के मुताबिक, ये रामायण तीन पार्ट की सीरिज होगी। इसका कुल खर्च 750 करोड़ रुपए आएगा जबकि दोनों एक्टर्स को ये रोल करने के लिए 150 करोड़ (75-75 करोड़) रुपए दिए जाएँगे।

बता दें कि इससे पहले तमाम लोगों ने रामायण को पर्दे पर उतारने का बहुत प्रयास किया है। लेकिन जैसी ख्याति रामानंद सागर की रामायण को मिली, वैसी शायद ही कभी किसी को मिल पाए। उसके एक-एक किरदार और दृश्य से दर्शक इतने प्रभावित हैं कि तमाम प्रयास के बावजूद कोई निर्देशक उस स्तर पर नहीं पहुँच पाता ।

खैर, अब एक कोशिश और होने जा रही है और अच्छे खासे बजट के साथ, जिसमें लीड एक्टर्स को भी बड़ा अमाउंट मिलेगा। नीतेश तिवारी और उनकी टीम, राम और रावण के किरदार के लिए एक्टर मिलने के बाद अब सीता के रोल के लिए अभिनेत्री तलाश रहे हैं। कुछ लोग करीना कपूर के भी सीरिज से जुड़े होने की बातें कह रहे थे। हालाँकि, बाद में पता चला ये अफवाह उनकी मार्केटिंग टीम ने उड़वाई थी

इस बीच, ऋतिक रोशन और रणबीर कपूर ने हाल ही में नीतेश तिवारी और निर्माता मधु मंटेना के साथ अपनी पहली आधिकारिक मुलाकात की। जहाँ उन्होंने इस बड़े प्रोजेक्ट और यहाँ तक ​​कि अगले साल की दूसरी छमाही में इसे फ्लोर पर ले जाने की संभावित योजनाओं पर चर्चा की।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

18 साल से ईसाई मजहब का प्रचार कर रहा था पादरी, अब हिन्दू धर्म में की घर-वापसी: सतानंद महाराज ने नक्सल बेल्ट रहे इलाके...

सतानंद महाराज ने साजिश का खुलासा करते हुए बताया, "हनुमान जी की मोम की मूर्ति बनाई जाती है, उन्हें धूप में रख कर पिघला दिया जाता है और बच्चों को कहा जाता है कि जब ये खुद को नहीं बचा सके तो तुम्हें क्या बचाएँगे।""

‘घेरलू खान मार्केट की बिक्री कम हो गई है, इसीलिए अंतरराष्ट्रीय खान मार्केट मदद करने आया है’: विदेश मंत्री S जयशंकर का भारत विरोधी...

केंद्रीय विदेश मंत्री S जयशंकर ने कहा है कि ये 'खान मार्केट' बहुत बड़ा है, इसका एक वैश्विक वर्जन भी है जिसे अब 'इंटरनेशनल खान मार्केट' कह सकते हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -