Monday, May 16, 2022
Homeविविध विषयअन्यलता मंगेशकर के सम्मान में काली पट्टी बाँध खेलेंगे भारत-वेस्ट इंडीज के खिलाड़ी, आधा...

लता मंगेशकर के सम्मान में काली पट्टी बाँध खेलेंगे भारत-वेस्ट इंडीज के खिलाड़ी, आधा झुका रहेगा तिरंगा

"जब हम एक गेम हार जाते थे तो वह मुझे फोन करती थीं और पूछती थीं कि राजीव जी, हमने यह गेम कैसे खो दिया? हमें इसे आराम से जीतना चाहिए था। इतने रन बन सकते थे। उनके दिल में क्रिकेट का एक विशेष स्थान था।"

स्वर कोकिला लता मंगेशकर (Lata Mangeshkar) के देहांत पर भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) उन्हें सम्मान देने जा रहा है। इसके तहत रविवार (6 फरवरी 2022) को गुजरात के अहमदाबाद स्थित नरेंद्र मोदी स्टेडियम में भारत और वेस्टइंडीज के बीच होने वाले वनडे मैच के दौरान सभी खिलाड़ी अपनी बाँह पर काली पट्टी बाँध लता मंगेशकर को श्रद्धांजलि देंगे। इसकी जानकारी बीसीसीआई के उपाध्यक्ष राजीव शुक्ला ने दी।

उन्होंने कहा, “लता मंगेशकर के सम्मान में आज अहमदाबाद के नरेंद्र मोदी स्टेडियम में भारत और वेस्टइंडीज के बीच होने वाले मैच में हमारे खिलाड़ी काली पट्टी बाँधेंगे। राष्ट्रीय ध्वज भी आधा झुका रहेगा।” उन्होंने कहा कि इसके लिए खिलाड़ियों को निर्देशित कर दिया गया है।

राजीव शुक्ला ने कहा, “जब हम एक गेम हार जाते थे तो वह मुझे फोन करती थीं और पूछती थीं कि राजीव जी, हमने यह गेम कैसे खो दिया? हमें इसे आराम से जीतना चाहिए था। इतने रन बन सकते थे। उनके दिल में क्रिकेट का एक विशेष स्थान था।” बीसीसीआई अध्यक्ष और सचिव ने कहा है कि भारतीय खिलाड़ी वेस्ट इंडीज के खिलाफ अपने मैच के दौरान काली पट्टी बाँधेंगे।

गौरतलब है कि लता दीदी के नाम से मशहूर स्वर कोकिला लता मंगेशकर का रविवार (6 फरवरी 2022) को मुंबई के ब्रीच कैंडी अस्‍पताल में निधन हो गया। ‘भारत रत्‍न’ से सम्‍मानित दिग्गज गायिका लता मंगेशकर को 8 जनवरी 2022 को कोरोना संक्रमित पाए जाने पर हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था। बाद में उन्हें न्यूमोनिया हो गया था, जिससे उनकी हालत बिगड़ने लगी। इसके बाद उन्हें वेंटिलेटर सपोर्ट पर रखा गया था। उनकी हालत में सुधार के बाद वेंटिलेटर सपोर्ट भी हट गया था, लेकिन 5 फरवरी को उनकी स्थिति बिगड़ने लगी और उन्हें फिर से वेंटिलेटर सपोर्ट पर रखा गया। आखिरकार, 6 फरवरी को ‘स्वर कोकिला’ ने अंतिम साँस ली।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

नेपाल बिना तो हमारे राम भी अधूरे हैं: प्रधानमंत्री मोदी ने ‘बुद्ध की धरती’ पर समझाई भारत से दोस्ती की अहमियत, कहा- यही मानवता...

अपनी नेपाल यात्रा के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किए मायादेवी मंदिर के दर्शन और भारत और नेपाल को एक दूसरे के बिना अधूरा बताया।

CRPF करेगी ज्ञानवापी में मिले शिवलिंग की सुरक्षा, अदालत ने सील की जगह, वजू पर मनाही: जैसे ही दिखे बाबा, ‘हर-हर महादेव’ से गूँजा...

सर्वे के तीसरे दिन हिन्दू पक्ष की तरफ से सोमवार को करीब 12 फीट 8 इंच लंबा शिवलिंग नंदी के सामने विवादित ढाँचे के वजूखाने में मिलने का दावा किया गया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
186,091FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe