Saturday, July 31, 2021
Homeविविध विषयअन्य'नीता अंबानी BHU में पढ़ाएँगी' - झूठी खबर पर मचा था हल्ला, रिलायंस के...

‘नीता अंबानी BHU में पढ़ाएँगी’ – झूठी खबर पर मचा था हल्ला, रिलायंस के प्रवक्ता ने बताया सच

कुछ छात्र तो यहाँ तक कहने लगे थे कि BHU के लोग सरकार के इशारे पर पूंजीपतियों के हाथ में इस विश्वविद्यालय को सौंपने का षड्यंत्र कर रहे हैं, लेकिन ऐसा होने नहीं द‍िया जाएगा। जबकि सच यह है कि...

रिलायंस इंड्रस्टीज की कार्यकारी निदेशक नीता अंबानी के बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी (BHU) में विजिटिंग लेक्चरर होने की खबरों को रिलायंस इंडस्ट्री लिमिटिड के प्रवक्ता ने फर्जी बताया है। समाचार एजेंसी एएनआई को दिए हालिया बयान में उन्होंने कहा कि नीता अंबानी को बीएचयू की ओर से ऐसा कोई प्रस्ताव नहीं मिला है।

बता दें कि इस खबर के आने से पहले नीता अंबानी के विजिटिंग प्रोफेसर बनने की खबर हर जगह थीं। छात्रों ने इसे सच समझ कर वीसी आवास के बाहर विरोध भी शुरू कर दिया था। कुछ छात्रों का आरोप था कि बनारस हिंदू विश्वविद्यालय के लोग सरकार के इशारे पर पूंजीपतियों के हाथ में इस विश्वविद्यालय को सौंपने का षड्यंत्र कर रहे हैं, लेकिन ऐसा होने नहीं द‍िया जाएगा। 

छात्रों का कहना था कि जब तक यह प्रस्ताव रद्द नहीं किया जाता, तब तक वह इस मामले के विरोध में आवाज बुलंद करते रहेंगे। रिपोर्ट्स में बताया गया था कि नीता अंबानी को 12 मार्च को यह प्रस्ताव दिया गया था। इसमें उनसे काशी सहित पूर्वांचल भर में महिलाओं का जीवन स्तर सुधारने के लिए बीएचयू में शिक्षण प्रशिक्षण से जुड़ने का आग्रह किया गया था। 

भारी विरोध के बाद इस मुद्दे पर बीएचयू की ओर ऐसा कोई स्पष्टीकरण नहीं आया था कि नीता अंबानी को ऐसा प्रस्ताव नहीं भेजा गया है, बल्कि छात्रों के रोष को देखते हुए बीएचयू के कुलपति प्रो राकेश भटनागर ने सामाजिक विज्ञान संकाय के डीन समेत उच्चाधिकारियों को वीसी लॉज बुलाया था, जिस पर अधिकारियों ने कहा था कि छात्रों को बैठक के निष्कर्षों से अवगत करवाया जाएगा। मगर, आज रिलायंस इंडस्ट्री के प्रवक्ता ने यह बात साफ कर दी है कि नीता अंबानी को कोई प्रस्ताव नहीं मिला है और जो खबरें बताई जा रही हैं, वह गलत हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

20 से ज्यादा पत्रकारों को खालिस्तानी संगठन से कॉल, धमकी- 15 अगस्त को हिमाचल प्रदेश के CM को नहीं फहराने देंगे तिरंगा

खालिस्तान समर्थक सिख फॉर जस्टिस ने हिमाचल प्रदेश के 20 से अधिक पत्रकारों को कॉल कर धमकी दी है कि 15 अगस्त को सीएम तिरंगा नहीं फहरा सकेंगे।

‘हमारे बच्चों की वैक्सीन विदेश क्यों भेजी’: PM मोदी के खिलाफ पोस्टर पर 25 FIR, रद्द करने से सुप्रीम कोर्ट का इनकार

सुप्रीम कोर्ट ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आलोचना वाले पोस्टर चिपकाने को लेकर दर्ज एफआईआर को रद्द करने से इनकार कर दिया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,101FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe