Wednesday, October 20, 2021
Homeविविध विषयअन्यआधी मूँछ में खेलने उतरेंगे अश्विन, पुजारा ने जो ऑस्ट्रेलिया में नहीं किया... अगर...

आधी मूँछ में खेलने उतरेंगे अश्विन, पुजारा ने जो ऑस्ट्रेलिया में नहीं किया… अगर इंग्लैंड के खिलाफ कर देंगे तो!

टीम इंडिया के बैटिंग कोच विक्रम राठौर के साथ अश्विन बात कर रहे होते हैं। तभी पुजारा की बात करते हुए वो कोच से सवाल करते हैं। और अपने ही साथी खिलाड़ी पुजारा को चैलेंज देते हुए आधी मूँछ के साथ...

लोग कह रहे हैं कि अश्विन इंडिया के सबसे बड़े क्रिकेट कॉमेंटेटर बनेंगे। जबकि वो अभी टीम इंडिया के लिए खेल ही रहे हैं। लेकिन अपनी शैली से और कहानी गढ़ने की कला से उन्होंने अपने यूट्यूब चैनल को खासा लोकप्रिय बना दिया है।

ऑस्ट्रेलिया को उसी के घर में टेस्ट सीरीज हराने के बाद अश्विन ने अपने यूट्यूब चैनल पर सीरीज से संबंधित कई कहानियाँ सुनाईं। अब वो उसी एनर्जी के साथ इंग्लैंड के खिलाफ होने वाली सीरीज को लेकर अपने साथी खिलाड़ियों को चैलेंज दे रहे हैं।

चेतेश्वर पुजारा ने अपने शरीर पर 11 गेंदे खेल कर चौथे और निर्णायक टेस्ट में उस समय टीम को बाँधे रखा, जब विकेट गिरने का मतलब लगभग हार थी। अब उसी पुजारा को अश्विन ने इंग्लैंड के खिलाफ किसी भी स्पिनर पर क्रिज से निकल आगे बढ़ कर उड़ा कर शॉट खेलने का चैलेंज दिया है। साथ में एक चैलेंज खुद भी लिया है।

पुजारा अगर यह चैलेंज पूरा कर लेंगे तो अश्विन आधी मूँछ मूड़ कर मैदान पर खेलने पहुँच जाएँगे। यह सब कुछ अश्विन ने टीम इंडिया के बैटिंग कोच विक्रम राठौर के साथ बातचीत करते हुए कहा।

शुरुआत में अश्विन ने किसी भी ऑफ स्पिनर को आगे बढ़ कर पुजारा के द्वारा मारने के बारे में राठौर (बैटिंग कोच की हैसियत) से पूछा। इस पर राठौर ने बताया कि वो पुजारा को इसके लिए अभी तक सहमत नहीं कर पाए हैं, और इसके लिए उनके पास तमाम तर्क हैं। फिर अश्विन ने ऑफ-स्पिनर के बजाय दायरा बढ़ाते हुए किसी भी स्पिनर के खिलाफ पुजारा को आगे बढ़ कर मारने का चैलेंज दिया और ऐसा करने पर खुद को आधे मूँछ में क्रीज पर उतरने का भी।

पंत ने मैच जिताया लेकिन पुजारा ने 11 गेंदे शरीर पर झेलीं

ब्रिस्बेन में हुए अंतिम मैच की बात करें तो चेतेश्वर पुजारा ने चौथी पारी में भारत को जिताने में अहम् भूमिका निभाई। भले ही युवा शुभमण गिल और ऋषभ पंत ने इस मैच को भारत की झोली में डालने में बड़ा योगदान दिया, लेकिन पुजारा एक तरफ से खड़े थे। भारतीय टीम के अन्य बल्लेबाजों को पता था कि मैच को ड्रॉ कराने के लिए एक दीवार खड़ी है। पुजारा ने भी निराश नहीं किया।

चौथे टेस्ट मैच के दौरान 11 बार गेंद से उनके शरीर को निशाना बनाया गया या फिर शरीर पर आकर लगी, लेकिन वो टस से मस नहीं हुए।

IND Vs AUS सीरीज की सबसे ‘गंदी’ कहानी

अश्विन ने फील्डिंग कोच श्रीधर को बताया कि भारतीय क्रिकेटरों को सिडनी में लिफ्ट में प्रवेश करने की तब तक अनुमति नहीं थी, जब तक ऑस्ट्रेलियाई टीम का कोई भी सदस्य पहले से ही लिफ्ट के अंदर हो। अश्विन ने बताया:

“हम सिडनी पहुँचे। उन्होंने हम सब पर गंभीर प्रतिबंध लगा रखे थे। भारतीय और ऑस्ट्रेलियाई टीम दोनों ही बायो-बबल में थे। लेकिन जब ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी लिफ्ट में होते थे, तो भारतीय खिलाड़ियों को इसके अंदर जाने की अनुमति नहीं थी।”

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

अभी जेल में ही गुजरेंगी आर्यन खान की रातें, SRK के लाडले को नहीं मिली जमानत: पेश हुए थे दो-दो बड़े वकील

ड्रग्स मामले में शाहरुख़ खान के बेटे आर्यन खान को बुधवार (20 अक्टूबर, 2021) को भी जमानत नहीं मिली। स्पेशल NDPS कोर्ट ने नहीं दिया बेल।

‘इस्लाम ही एकमात्र समाधान है’: कानपुर में बिल की पर्ची से भी मजहबी प्रसार, IAS इफ्तिखारुद्दीन की भी यही भाषा

उत्तर प्रदेश स्थित कानपुर के कुछ कारोबारी व्यापारिक प्रतिष्ठानों के माध्यम से जिहादी विचारधारा फैला रहे हैं। ये लोग इस्लामी धर्मांतरण को बढ़ावा देने वाले IAS इफ्तिखारुद्दीन से प्रेरित हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
130,199FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe