टिमाटर-लहसुन ‘स्ट्राइक’ से ठुका पाकिस्तान कर रहा भारत से तस्करी

होलसेलर एसोसिएशन ने भारत के खिलाफ बैनर लगा रखे हैं, लेकिन कुछ कारोबारी भारत से आई सब्जियों को बेच कर मुनाफा कमा रहे हैं। लाहौर के मार्केट एसोसिएशन के महासचिव खलील महमूद ने दावा किया कि सीमा पर घूसखोरी के जरिए ट्रकों को पाकिस्तान में एंट्री दी जा रही है।

पुलवामा हमले के बाद से ही पाकिस्तान के साथ बढ़ रही तनातनी के कारण पाकिस्तान पिछले दिनों कई तरह की समस्याओं से गुजर रहा है। लेकिन अन्य सभी समस्याओं के समानांतर पाकिस्तान इन दिनों ‘टिमाटर’ और लहसुन की समस्या से भी जूझ रहा है।

पुलवामा अटैक और उसके बाद भारत की एयर स्ट्राइक के चलते पाकिस्तान में टमाटर और लहसुन की किल्लत काफी बढ़ गई है। जिस कारण लाहौर के बादामी बाग स्थित सब्जी मार्केट में 2 घंटे के भीतर भारत से पहुँची 2 ट्रक लहसुन हाथों-हाथ बिक गई। इस बात की पुष्टि पाकिस्तानी अखबार एक्सप्रेस ट्रिब्यून ने अपनी रिपोर्ट में की है। अखबार के अनुसार भारतीय पायलट अभिनंदन को छोड़े जाने के बाद भारत से टमाटर और लहसुन की तस्करी शुरू हो गई है।

दोनों देशों के बीच तनाव के चलते कारोबार ठप हो गया था और ट्रकों की आवाजाही भी रुक गई थी। लेकिन, अब श्रीनगर से पाकिस्तान के कब्जे वाले चकोटी के बीच ट्रकों का आवागमन शुरू हो गया है। रावलपिंडी और लाहौर के बाजारों में भारत से आई सब्जियों से लदे ट्रक पहुँचने लगे हैं।

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

शुक्रवार (मार्च 08, 2019) को लाहौर के सब्जी बाजार में भारत से गए 2 ट्रक लहसुन पहुँचे, बाजार के एक होलसेलर ने यह ऑर्डर दिया था। होलसेलर एसोसिएशन ने भारत के खिलाफ बैनर लगा रखे हैं, लेकिन कुछ कारोबारी भारत से आई सब्जियों को बेच कर मुनाफा कमा रहे हैं।

लाहौर के बादामी बाग फल एवं सब्जी मार्केट की एसोसिएशन के महासचिव के चौधरी खलील महमूद के मुताबिक यह ट्रक तस्करी के जरिए पहुँच रहे हैं। खलील ने दावा किया कि सीमा पर घूसखोरी के जरिए ट्रकों को पाकिस्तान में एंट्री दी जा रही है।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

शाहीन बाग़, शरजील इमाम
वे जितने ज्यादा जोर से 'इंकलाब ज़िंदाबाद' बोलेंगे, वामपंथी मीडिया उतना ही ज्यादा द्रवित होगा। कोई रवीश कुमार टीवी स्टूडियो में बैठ कर कहेगा- "क्या तिरंगा हाथ में लेकर राष्ट्रगान गाने वाले और संविधान का पाठ करने वाले देश के टुकड़े-टुकड़े गैंग के सदस्य हो सकते हैं? नहीं न।"

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

144,546फैंसलाइक करें
36,423फॉलोवर्सफॉलो करें
164,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: