Tuesday, July 27, 2021
Homeविविध विषयअन्य2018-19 में UPI लेन-देन 5 बिलियन के पार, डेबिट कार्ड से हुए लेनदेन को...

2018-19 में UPI लेन-देन 5 बिलियन के पार, डेबिट कार्ड से हुए लेनदेन को छोड़ा पीछे: RBI की रिपोर्ट

5.35 बिलियन का UPI लेन-देन, डेबिट कार्ड लेन-देन की तुलना में लगभग 1.2 गुना अधिक रहा, यानी डेबिट कार्ड का लेन-देन 4.41 बिलियन था। यह डेटा इस बात को स्पष्ट करता है कि...

मोदी सरकार की नीतियों की वजह से डिजिटल लेनदेन में लगातार बढ़ोतरी दर्ज की जा रही है। भारतीय रिज़र्व बैंक (RBI) की वार्षिक रिपोर्ट के मुताबिक वर्ष 2018-19 में यूनीफाइड पेमेंट इंटरफेस यानी UPI के ज़रिए डिजिटल पेमेंट ने डेबिट कार्ड से हुए लेनदेन को पीछे छोड़ दिया है।

ख़बर के अनुसार, 5.35 बिलियन का UPI लेन-देन, डेबिट कार्ड लेन-देन की तुलना में लगभग 1.2 गुना अधिक था, यानी डेबिट कार्ड का लेन-देन 4.41 बिलियन था। यह डेटा इस बात को स्पष्ट करता है कि UPI के यूज़र्स ने लेन-देन के इस माध्यम को हाथों-हाथ लिया है, जबकि इस तरह के ऐप को लॉन्च हुए केवल तीन साल हुए हैं।

2017-18 में, UPI के ज़रिए केवल 915.2 मिलियन लेन-देन हुआ, जबकि डेबिट कार्ड का लेन-देन 3.34 बिलियन था। दिलचस्प बात यह है कि इसी अवधि में एटीएम की संख्या 222,247 से घटकर 221,703 हो गई।

इसका मतलब यह साफ़ है कि अब उपभोक्ताओं को नकद भुगतान की बजाए ऑनलाइन भुगतान की ओर अग्रसर किया जा सकता है। केंद्रीय बैंक दिसंबर से अपने राष्ट्रीय इलेक्ट्रॉनिक फंड ट्रांसफर (NEFT) प्रणाली को 24×7 उपलब्ध कराने की योजना बना रहा है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी बैंकिंग सिस्टम में डिजिटल लेन-देन को बढ़ावा देने के लिए हर संभव प्रयास कर रहे हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘कारगिल कमेटी’ पर कॉन्ग्रेस की कुण्डली: लोकतंत्र की सुरक्षा के लिए राष्ट्रीय सुरक्षा राजनीतिक दृष्टिकोण का न हो मोहताज

हमें ध्यान में रखना होगा कि जिस लोकतंत्र पर हम गर्व करते हैं उसकी सुरक्षा तभी तक संभव है जबतक राष्ट्रीय सुरक्षा का विषय किसी राजनीतिक दृष्टिकोण का मोहताज नहीं है।

असम-मिजोरम बॉर्डर पर भड़की हिंसा, असम के 6 पुलिसकर्मियों की मौत: हस्तक्षेप के दोनों राज्‍यों के CM ने गृहमंत्री से लगाई गुहार

असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने ट्वीट कर बताया कि असम-मिज़ोरम सीमा पर तनाव में असम पुलिस के 6 जवानों की जान चली गई है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,362FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe