Friday, May 24, 2024
Homeविविध विषयअन्यनोएडा के जेवर में इंटरनेशनल एयरपोर्ट की आधारशिला रखेंगे PM मोदी, 5 अंतरराष्ट्रीय हवाई...

नोएडा के जेवर में इंटरनेशनल एयरपोर्ट की आधारशिला रखेंगे PM मोदी, 5 अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा वाला इकलौता राज्य बन जाएगा UP

एयरपोर्ट में 2 पैसेंजर टर्मिनल होंगे। टर्मिनल 1 की क्षमता 3 करोड़ यात्री प्रतिवर्ष और टर्मिनल 2 की क्षमता 4 करोड़ यात्री प्रतिवर्ष की होगी। पहला फेज 2024 तक पूरा होने की उम्मीद है।

उत्तर प्रदेश में 340.82 किलोमीटर लंबे पूर्वांचल एक्सप्रेसवे का उद्घाटन करने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुरुवार (25 नवंबर 2021) को नोएडा के जेवर अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे (एनआईए) की आधारशिला रखेंगे। प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) के अनुसार, इसके बाद उत्तर प्रदेश भारत का एकमात्र ऐसा राज्य बन जाएगा, जिसके पास पाँच अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे होंगे।

उत्तर प्रदेश राज्य प्रशासन द्वारा सोमवार को जारी एक बयान में कहा गया है, “25 नवंबर को निर्धारित नोएडा अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के शिलान्यास के साथ, राज्य अब 5 अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे बनाने की राह पर है, जो किसी राज्य में सबसे ज्यादा है।” भाजपा के नेतृत्व वाली उत्तर प्रदेश सरकार ने एक अपने बयान में आगे कहा है, “प्रधानमंत्री का गति शक्ति राष्ट्रीय मास्टर प्लान राज्य में बुनियादी ढाँचे का लगातार विकास कर रहा है।”

यह एयरपोर्ट दिल्ली एनसीआर में बनने वाला दूसरा अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट होगा और इंदिरा गाँधी अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट पर भीड़भाड़ कम करने में मदद करेगा। पीएमओ के अनुसार, हवाई अड्डा दिल्ली, नोएडा, गाजियाबाद, अलीगढ़, आगरा, फरीदाबाद और आसपास के क्षेत्रों सहित कई शहरों के लोगों की सेवा करेगा।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस एयरपोर्ट में 2 पैसेंजर टर्मिनल होंगे। टर्मिनल 1 की क्षमता 3 करोड़ यात्री प्रतिवर्ष और टर्मिनल 2 की क्षमता 4 करोड़ यात्री प्रतिवर्ष की होगी। बताया जा रहा है कि​ टर्मिनल 1 को दो फेज में पूरा किया जाएगा। पहला फेज 2024 तक पूरा होने की उम्मीद है। वहीं, दूसरे फेज को भी इसी तरह 2 चरणों में पूरा किया जाएगा।

मालूम हो कि इस साल 20 अक्टूबर को प्रधानमंत्री मोदी ने उत्तर प्रदेश में कुशीनगर हवाई अड्डे का उद्घाटन किया था, जो राज्य का तीसरा अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा है। इसके अलावा, लखनऊ और वाराणसी में दो अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पहले से चालू हैं। 2022 में अयोध्या हवाई अड्डे और 2024 में नोएडा हवाई अड्डे के खुलने के साथ उत्तर प्रदेश भारत का एकमात्र राज्य बन जाएगा, जिसमें पाँच अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे होंगे।

राज्य में फिलहाल आठ हवाई अड्डे चालू हैं, जबकि 13 हवाई अड्डों और सात हवाई पट्टियों को विकसित किया जा रहा है। हवाई अड्डे का निर्माण और संचालन स्विट्जरलैंड की ज्यूरिख एयरपोर्ट इंटरनेशनल एजी द्वारा किया जाएगा। नोएडा एयरपोर्ट के पहले चरण का काम 2024 तक लगभग 10,050 करोड़ रुपए की लागत से पूरा होने की उम्मीद है।

साभार: इंडिया टीवी

बता दें कि जेवर एयरपोर्ट प्रॉजेक्ट कुल 3500 हेक्टेयर जमीन पर पूरा होना है, लेकिन पहले चरण में सिर्फ 1300 हेक्टेयर पर ही काम होगा। इंदिरा गाँधी एयरपोर्ट से नोएडा अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा लगभग 72 किलोमीटर की दूरी पर है। नोएडा, फरीदाबाद और गाजियाबाद से इसकी दूरी 40 किलोमीटर है। ग्रेटर नोएडा से यह एयरपोर्ट 28 किमी, गुरुग्राम से 65 किमी और आगरा से 130 किमी की दूरी पर है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बाबरी का पक्षकार राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा समारोह में आ गया, लेकिन कॉन्ग्रेस ने बहिष्कार किया’: बोले PM मोदी – इन्होंने भारतीयों पर मढ़ा...

प्रधानमंत्री ने स्पष्ट ऐलान किया कि अब यह देश न आँख झुकाकर बात करेगा और न ही आँख उठाकर बात करेगा, यह देश अब आँख मिलाकर बात करेगा।

कॉन्ग्रेस नेता को ED से राहत, खालिस्तानियों को जमानत… जानिए कौन हैं हिन्दुओं पर हमले के 18 इस्लामी आरोपितों को छोड़ने वाले HC जज...

नवंबर 2023 में जब राजस्थान में विधानसभा चुनाव को लेकर सरगर्मी चरम पर थी, जब जस्टिस फरजंद अली ने कॉन्ग्रेस उम्मीदवार मेवाराम जैन को ED से राहत दी थी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -