Saturday, May 18, 2024
Homeविविध विषयअन्यIPL के इस सीजन में अब तक 3 गोल्डन डक लगा चुके हैं विराट...

IPL के इस सीजन में अब तक 3 गोल्डन डक लगा चुके हैं विराट कोहली, कहा – ‘आलोचकों से निपटने के लिए TV म्यूट कर देता हूँ’

आउट-ऑफ-फॉर्म विराट कोहली को लेकर कमेंटेटर्स का कहना है कि आमतौर पर अगर कोई बल्लेबाज 'ओवरकुक' हो जाता है तो उसे एक ब्रेक देने की जरूरत होती है।

इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) के मौजूदा सीज़न में आरसीबी के खिलाड़ी विराट कोहली के रनों की रफ्तार कछुए से भी धीमी है। आउट ऑफ फॉर्म चल रहे कोहली ने आईपीएल में अब तक 12 मैचों में कुल 216 रन ही बनाए हैं। वहीं एक सप्ताह के अंदर ही सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ खेलते हुए तीसरा गोल्डन डक (कोई खिलाड़ी पहली गेंद पर ही आउट हो जाता है तो वो गोल्डन डक होता है।) हासिल किया। वहीं इस टूर्नामेंट में ये उनका छठा गोल्डन डक था।

अब तक केवल एक बार इस सीजन में कोहली ने 50 रनों की पारी खेली है। हालाँकि, सीमित ओवरों में इस प्रारूप में वो 10,000 रनों के साथ भारत के सबसे सफल बल्लेबाजों में से एक हैं। इससे पहले, कोहली 2008 में मुंबई इंडियंस के खिलाफ, 2014 में पंजाब किंग्स के खिलाफ, 2017 में कोलकाता नाइट राइडर्स के खिलाफ, 2022 में लखनऊ सुपर जायंट्स और सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ गोल्डन डक रिकॉर्ड किया था।

इस आईपीएल के सीजन में तीसरी बार गोल्डन डक का रिकॉर्ड बनाने वाले 13वें खिलाड़ी हैं। इस लिस्ट में अमित मिश्रा, आशीष नेहरा, सुरेश रैना, राशिद खान, रोहित शर्मा और नीतीश राणा समेत कई अन्य भी शामिल हैं। इस बीच भारतीय टीम के पूर्व कोच रवि शास्त्री ने पूर्व कप्तान विराट कोहली (33) को कुछ समय के लिए क्रिकेट से ब्रेक लेने का सुझाव दिया है, ताकि वो फिर से खुद को एक्टिवेट कर सकें।

इसी तरह से इंग्लैंड के पूर्व बल्लेबाज केविन पीटरसन ने कहा कि कोहली को खुद को फिर से सक्रिय करने के लिए सोशल मीडिया से अपना ध्यान हटाने की सलाह दे डाली है।

आलोचकों से बचने के लिए टीवी म्यूट कर देते हैं कोहली

आउट-ऑफ-फॉर्म विराट कोहली को लेकर कमेंटेटर्स का कहना है कि आमतौर पर अगर कोई बल्लेबाज ‘ओवरकुक’ हो जाता है तो उसे एक ब्रेक देने की जरूरत होती है।

उनका विश्लेषकों के बारे में कहना है, “वे मेरे जूते में नहीं हो सकते हैं, वे वो महसूस नहीं कर सकते कि मैं क्या महसूस करता हूँ, वो मेरी जिंदगी नहीं जी सकते हैं, वे उन पलों को नहीं जी सकते हैं।” कोहली ने आलोचकों को लेकर कहा, “आप शोर से कैसे निपटते हैं? आप या तो टीवी को म्यूट कर देते हैं या लोग जो कह रहे हैं उस पर ध्यान नहीं देते। मैं ये दोनों चीजें करता हूँ।”

हालाँकि, इस तरीके से गोल्डन के शिकार हो रहे कोहली का कहना है कि इससे पहले उनके करियर में ऐसा कभी नहीं हुआ था। उन्होंने कहा, “मुझे लगता है। मैंने अब सब कुछ देखा है। यह बहुत लंबा रहा है, मैंने इस खेल में सब कुछ देखा है।”

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

स्वाति मालीवाल बन गई INDI गठबंधन में गले की फाँस? राहुल गाँधी की रैली के लिए केजरीवाल को नहीं भेजा गया न्योता, प्रियंका कह...

दिल्ली में आयोजित होने वाली राहुल गाँधी की रैली में शामिल होने के लिए AAP प्रमुख अरविंद केजरीवाल को न्योता नहीं दिया गया है।

‘अनुच्छेद 370 को हमने कब्रिस्तान में गाड़ दिया, इसे वापस नहीं लाया जा सकता’: PM मोदी बोले- अलगाववाद को खाद-पानी देने वाली कॉन्ग्रेस ने...

पीएम मोदी ने कहा, "आजादी के बाद गाँधी जी की सलाह पर अगर कॉन्ग्रेस को भंग कर दिया गया होता, तो आज भारत कम से कम पाँच दशक आगे होता।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -