Chandrayaan-2: भारत ने रचा इतिहास, अग्रणी चार देशों में शामिल

आज भारत विश्व पटल पर ऐसे मिशन को अंजाम देने वाले अग्रणी देशों की श्रेणी में आ गया है। पृथ्वी से चंद्रमा की औसत दूरी 3,84,000 किमी है। विक्रम लैंडर मिशन के 48 वें दिन चंद्रमा पर उतरेगा, जो आज शुरू होता है।

भारत एक बार फिर गौरवशाली इतिहास रचने को तैयार है। आज 22 जुलाई, 2019 को दोपहर 2.43 बजे देश के सबसे ताकतवर रॉकेट GSLV-MK3 से लॉन्च हो गया है। इस रॉकेट को बाहुबली रॉकेट कहा जाता है।

भारत का चंद्रयान-2 चाँद के फलक पर पहुँचने के लिए तैयार है। चंद्रयान-2 का काउंटडाउन समाप्त होते ही मिशन लॉन्च हो चुका है। आज पूरा विश्व भारत के इस मिशन पर आँख गड़ाए है। आज इसरो के इस ऐतिहासिक मिशन की लॉन्चिंग देखने के लिए श्रीहरिकोटा में कई गणमान्य अतिथि मौजूद हैं।

चंद्रयान-2 के लॉन्च होते ही, हमारी यह ऐतिहासिक यात्रा शुरू हो चुकी है। आज भारत विश्व पटल पर ऐसे मिशन को अंजाम देने वाले अग्रणी देशों की श्रेणी में आ गया है। पृथ्वी से चंद्रमा की औसत दूरी 3,84,000 किमी है। विक्रम लैंडर मिशन के 48 वें दिन चंद्रमा पर उतरेगा, जो आज शुरू होता है। भारत चंद्रयान-2 मिशन की लॉन्चिंग के साथ वैश्विक पटल पर चाँद पर ऐतिहासिक मिशन भेजने वालों में चौथा देश बन चुका है।

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

आज आप भी लाइव स्ट्रीमिंग के माध्यम से इसरो के इस गौरवशाली मिशन के साक्षी हो सकते हैं। लॉन्चिंग की लाइव स्ट्रीमिंग यहाँ देखे जा सकते हैं-

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

संदिग्ध हत्यारे
संदिग्ध हत्यारे कानपुर से सड़क के रास्ते लखनऊ पहुंचे थे। कानपुर रेलवे स्टेशन के सीसीटीवी से इसकी पुष्टि हुई है। हत्या को अंजाम देने के बाद दोनों ने बरेली में रात बिताई थी। हत्या के दौरान मोइनुद्दीन के दाहिने हाथ में चोट लगी थी और उसने बरेली में उपचार कराया था।

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

104,900फैंसलाइक करें
19,227फॉलोवर्सफॉलो करें
109,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: