Tuesday, April 20, 2021
Home विविध विषय विज्ञान और प्रौद्योगिकी क्या है एप्पल का M1 प्रोसेसर, क्यों बदल जाएगा आपका लैपटॉप सदा के लिए...

क्या है एप्पल का M1 प्रोसेसर, क्यों बदल जाएगा आपका लैपटॉप सदा के लिए पावर और परफॉर्मेंस दोनों में

M1 मैकबुक को 3.5 गुना ज्यादा तेज स्पीड देगा और ग्राफिक्स को 5 गुना अधिक। इसी तरह AI कंप्यूटेशन भी पहले से 11 गुना ज्यादा तेज होगा। पिछले साल बिकने वाले 98% लैपटॉप से तेज इसकी स्पीड होगी, ऐसा एप्पल का दावा है।

अमेरिकी कंपनी एप्पल (Apple) ने अपने आईफोन (i-phone), आईपैड (i-pad), आईवॉच जैसे प्रोडक्ट्स के लिए चिप (CHIP) तैयार करने बाद अब MAC प्रोडक्ट के लिए भी चिप तैयार कर ली है। कंपनी ने इस चिप को बेहद आसान नाम दिया है- M1 चिप। ये चिप कई मायनों में खास है। 

15 साल में पहली बार मैकबुक के लिए डिजाइन हुई इस चिप में मुख्य रूप से परफॉर्मेंस को अधिक ध्यान में रखा गया है। इसमें 8 कोर CPU (सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट) और 8 कोर जीपीयू (ग्राफिक प्रोसेसिंग यूनिट) बिल्ट किया गया है। इसके अलावा रैम को भी इसी में जगह दी गई है। एप्पल का दावा है कि उनका लैपटॉप 98% लैपटॉप और पीसी से ज्यादा तेज काम करेगा।

Apple M1 chip diagram

इस चिप के साथ ही एप्पल ने न केवल मैक के बेहतर परफॉर्मेंस को आश्वस्त किया है बल्कि इसके बैटरी बैक अप को भी पहले से बढ़िया बताया है। एप्पल फिलहाल इस चिप को MacBook Air, MacBook Pro 13 inch और Mac Mini में इस्तेमाल करेगा।

इस चिप के आने के बाद ऐसा नहीं है कि intel प्रोसेसर वाले प्रोडक्ट्स को बाजार जगह नहीं देगा, लेकिन अब इंटेल प्रोसेसर के साथ ग्राहकों के पास इस नई तकनीक को एक्सपीरियंस करने का भी मौका होगा।

क्या होगी खासियत?

मौजूदा जानकारी के अनुसार मैक एयर में उपभोक्ता लगभग 15 घंटे तक ब्राउजिंग कर पाएगा। वही मैकबुक प्रो 13 इंच में यही समय सीमा 17-18 घंटे भी पहुँचेगी। एप्पल का दावा है कि 4 higher core और 4 lower core के साथ यह M1 चिप दुनिया का सबसे तेज सीपीयू कोर होगा। कंपनी ने दावा किया है कि हर पावर लेवल पर M1 बेहतर प्रदर्शन करेगा। इसमें वीडियो एडिटिंग और गेम्स को लेकर भी आपका अनुभव अधिक स्मूथ रहेगा, ऐसा एप्पल का कहना है।

M1 चिप में 16 बिलियन ट्रांजिस्टर का इस्तेमाल किया गया है। एप्पल का कहना है कि उसने पहली बार एक चिप में इतने ट्रांजिस्टर का प्रयोग किया है। इस तकनीक के इस्तेमाल के साथ ही मैक यूजर पहले से अधिक एप्स को चला पाएँगे।

Apple M1 chip diagram

कंपनी ने यह भी कहा है कि आने वाले समय में इस नई चिप के साथ एप्स की संख्या में सिर्फ़ बढ़ोतरी देखने को मिलेगी। इस चिप में 5 नैनोमीटर प्रोडक्शन प्रोसेस का इस्तेमाल हुआ है, बिलकुल आईफोन 12 में यूज हुई A14 चिप की तरह।

सिक्यॉरिटी के मामले में भी एप्पल M1 चिप के साथ अपने उपभोक्ताओं को आश्वास्त करता है। एप्पल के अनुसार M1 और macOS Big sur किसी भी पर्सनल कंप्यूटर को एडवांस हाई सिक्यॉरिटी प्रदान करता है।

कितना तेज होगा M1 चिप?

एप्पल के अनुसार, M1 चिप कई चीजों में इंटेल प्रोसेसर से तेज होगा और इसे मैक में रिप्लेस किया जाएगा। M1 मैकबुक को 3.5 गुना ज्यादा तेज स्पीड देगा और ग्राफिक्स को 5 गुना अधिक। इसी तरह AI कंप्यूटेशन भी पहले से 11 गुना ज्यादा तेज होगा। पिछले साल बिकने वाले 98% लैपटॉप से तेज इसकी स्पीड होगी, ऐसा एप्पल का दावा है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘भारत में कोरोना के डबल म्यूटेशन ने दुनिया को चिंता में डाला’: मीडिया द्वारा बनाए जा रहे ‘डर के माहौल’ का FactCheck

'ब्लूमबर्ग' की रिपोर्ट में दावा किया गया कि भारत के इस डबल म्यूटेशन ने दुनिया को चिंता में डाल दिया है। जानिए क्या है इसके पीछे की सच्चाई।

‘सरकार पर विश्वास नहीं’: मजदूरों ने केजरीवाल की नहीं सुनी, 5 लाख ने पकड़ी ट्रेन-बस टर्मिनल पर 50000; दिल्ली से घर लौटने की मारामारी

घर वापसी की यह होड़ केजरीवाल सरकार की साख पर सवाल है। यह बताती है कि दिल्ली के सीएम की बातों पर मजदूरों को भरोसा नहीं है।

कोरोना से लड़ाई में मजबूत कदम बढ़ाती मोदी सरकार: फर्जी प्रश्नों के सहारे फिर बेपटरी करने निकली गिद्धों की पाँत

गिद्धों की पाँत फिर से वैसे ही बैठ गई है। फिर से हेडलाइन के आगे प्रश्नवाचक चिन्ह के सहारे वक्तव्य दिए जा रहे हैं। नेताओं द्वारा फ़र्ज़ी प्रश्न उठाए जा रहे हैं। शायद फिर उसी आकाँक्षा के साथ कि भारत कोरोना के ख़िलाफ़ अपनी लड़ाई हार जाएगा।

‘कॉन्ग्रेसी’ साकेत गोखले ने पूर्व CM के खिलाफ दर्ज कराई शिकायत, शिवसेना नेता कहा- ‘फडणवीस के मुँह में डाल देता कोरोना’

शिवसेना के विधायक संजय गायकवाड़ ने पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस को लेकर विवादित बयान दिया है। उन्‍होंने कहा है कि अगर उन्हें कहीं कोरोना वायरस मिल जाता, तो वह उसे भाजपा नेता देवेंद्र फडणवीस के मुँह में डाल देते।

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने 26 अप्रैल तक 5 शहरों में लगाए कड़े प्रतिबन्ध, योगी सरकार ने पूर्ण लॉकडाउन से किया इनकार

योगी आदित्यनाथ सरकार ने शहरों में लॉकडाउन लगाने से इंकार कर दिया है। यूपी सरकार ने कहा कि प्रदेश में कई कदम उठाए गए हैं और आगे भी सख्त कदम उठाए जाएँगे। गरीबों की आजीविका को भी बचाने के लिए काम किया जा रहा है।

वामपंथियों के गढ़ जेएनयू में फैला कोरोना, 74 छात्र और स्टाफ संक्रमित: 4 की हालत गंभीर

जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय, दिल्ली में भी कोविड ने एंट्री मार ली है। विश्वविद्यालय के स्वास्थ्य केंद्र से मिली जानकारी के मुताबिक 74 छात्र और स्टाफ संक्रमित पाए गए हैं।

प्रचलित ख़बरें

‘वाइन की बोतल, पाजामा और मेरा शौहर सैफ’: करीना कपूर खान ने बताया बिस्तर पर उन्हें क्या-क्या चाहिए

करीना कपूर ने कहा है कि वे जब भी बिस्तर पर जाती हैं तो उन्हें 3 चीजें चाहिए होती हैं- पाजामा, वाइन की एक बोतल और शौहर सैफ अली खान।

‘छोटा सा लॉकडाउन, दिल्ली छोड़कर न जाएँ’: इधर केजरीवाल ने किया 26 अप्रैल तक कर्फ्यू का ऐलान, उधर ठेकों पर लगी कतार

केजरीवाल सरकार ने 26 अप्रैल की सुबह 5 बजे तक तक दिल्ली में लॉकडाउन की घोषणा की है। इस दौरान स्वास्थ्य सुविधाओं को दुरुस्त कर लेने का भरोसा दिलाया है।

‘मैं इसे किस करूँगी, हाथ लगा कर दिखा’: मास्क के लिए टोका तो पुलिस पर भड़की महिला, खुद को बताया SI की बेटी-UPSC टॉपर

महिला ने धमकी देते हुए कहा कि उसका बाप पुलिस में SI के पद पर है। साथ ही दिल्ली पुलिस को 'भिखमंगा' कह कर सम्बोधित किया।

नासिर ने बीड़ी सुलगाने के लिए माचिस जलाई, जलती तीली से लाइब्रेरी में आगः 3000 भगवद्गीता समेत 11 हजार पुस्तकें राख

कर्नाटक के मैसूर की एक लाइब्रेरी में आग लगने से 3000 भगवद्गीता समेत 11 हजार पुस्तकें राख हो गई थी। पुलिस ने सैयद नासिर को गिरफ्तार किया है।

पुलिस अधिकारियों को अगवा कर मस्जिद में ले गए, DSP को किया टॉर्चरः सरकार से मोलभाव के बाद पाकिस्तान में छोड़े गए बंधक

पाकिस्तान की पंजाब प्रांत की सरकार के साथ मोलभाव के बाद प्रतिबंधित इस्लामी संगठन TLP ने अगवा किए गए 11 पुलिसकर्मियों को रिहा कर दिया है।

‘F@#k Bhakts!… तुम्हारे पापा और अक्षय कुमार सुंदर सा मंदिर बनवा रहे हैं’: कोरोना पर घृणा की कॉमेडी, जानलेवा दवाई की काटी पर्ची

"Fuck Bhakts! इस परिस्थिति के लिए सीधे वही जिम्मेदार हैं। मैं अब भी देख रहा हूँ कि उनमें से अधिकतर अभी भी उनका (पीएम मोदी) बचाव कर रहे हैं।"
- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

292,985FansLike
82,220FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe