Tuesday, February 7, 2023
Homeदेश-समाजदिल्ली में होना था लोन वुल्फ अटैक: बड़ी हस्ती थी ISIS आतंकी के निशाने...

दिल्ली में होना था लोन वुल्फ अटैक: बड़ी हस्ती थी ISIS आतंकी के निशाने पर, कुकर बम और 15 किलो IED मिला

उत्तर प्रदेश के आतंकरोधी स्क्वाड का एक दस्ता भी दिल्ली पहुँच गया है। टीम स्पेशल सेल के साथ मिल कर जानकारियाँ जुटाने में लगी हुई है। कई मीडिया रिपोर्टस में ये भी कहा जा रहा है कि ISIS आतंकी अबू यूसुफ खान दिल्ली में किसी बड़ी हस्ती को निशाना बनाने वाला था।

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने शुक्रवार देर रात एनकाउंटर के बाद वैश्विक आतंकी संगठन ISIS के अबू यूसुफ खान को गिरफ्तार किया था। अब जो जानकारी सामने आई है उससे पता चला है कि वह लोन वुल्फ अटैक की फिराक में था। निशाने पर कोई बड़ी हस्ती थी। एक आतंकी के फरार होने की बात भी कही जा रही है।

अबू बाइक पर विस्फोटक लेकर दिल्ली में आतंकी हमले को अंजाम देने की कोशिश में था। पुलिस ने 15 किलो IED और कुकर बम बरामद किया है।

आतंकी अबू यूसुफ खान उत्तर प्रदेश के बलरामपुर का रहने वाला है। लोधी कॉलोनी स्थित दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल के दफ्तर में उससे पूछताछ की गई है। वह दिल्ली में ही किसी बड़े हमले को अंजाम देने की फिराक में था लेकिन पुलिस ने समय रहते उसे धर दबोचा। उक्त आतंकी ने कई जगह रेकी भी की थी, ताकि बाद में आसानी से हमला कर सके। इसके बाद दिल्ली से लेकर यूपी तक छापेमारी जारी है।

पुलिस इस पूरे नेटवर्क का खुलासा करना चाहती है, क्योंकि एक आतंकी भी भी फरार है। ये लोग कहाँ से विस्फोटक लेकर आए थे और कौन-कौन लोग इसमें शामिल थे, इसका पता लगाया जा रहा है। कई जगह छापेमारी जारी है। इससे पहले 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस के दिन भी आतंकी हमले की आशंका से चेतावनी जारी की गई थी।

अबू की गिरफ़्तारी के वाद पूरे उत्तर प्रदेश में हाई अलर्ट जारी कर दिया गया है। डीजीपी ने सभी एसपी और सुरक्षा एजेंसियों को निर्देश दिया है कि वे सतर्क रहें। चूँकि गिरफ्तार आतंकी के पास से 15 किलो IED विस्फोटक मिला है, इसकी और भी खेप उनके पास हो सकती है। शनिवार (अगस्त 22, 2020) की सुबह एनएसजी के कमांडोज ने कुकर बम को डिफ्यूज किया।दिफ्यूज करने में सफलता पाई है।

उत्तर प्रदेश के आतंकरोधी स्क्वाड का एक दस्ता भी दिल्ली पहुँच गया है। टीम स्पेशल सेल के साथ मिल कर जानकारियाँ जुटाने में लगी हुई है। कई मीडिया रिपोर्टस में ये भी कहा जा रहा है कि ISIS आतंकी अबू यूसुफ खान दिल्ली में किसी बड़ी हस्ती को निशाना बनाने वाला था। धौलाकुआँ में घटनास्थल पर एनएसजी के कमांडोज डेरा डाले हुए हैं। आतंकी के पास मिली बाइक की नंबर प्लेट भी फर्जी है।

पुलिस ने बुद्धा जयंती पार्क एरिया में भी सर्च अभियान चलाया है। वो दिल्ली में ‘लोन वुल्फ़’ अटैक को अंजाम देना चाहता था। उसके कई साथी अभी भी राजधानी में ही छिपे हो सकते हैं, इसी आशंका के कारण जगह-जगह छापेमारी जारी है। उसे दिल्ली में ही कुछ साथियों ने संसाधन मुहैया कराया था। एनएसजी और बॉम्ब डिस्पोजल स्क्वायड आईईडी विस्फोटक के कंटेंट की जाँच करेंगे।

उक्त आतंकी के बारे में ये भी पता चला है कि वो ‘इस्लामिक स्टेट इन खोरासन प्रोविंस (ISKP)’ के भी संपर्क में था और अफगानिस्तान के आतंकियों की मदद से भारत में हमला करने वाला था। वो कश्मीर में सक्रिय आतंकी संगठनों से भी संपर्क में था। उसे यूपी पुलिस आगे की जाँच के लिए उसके पैतृक क्षेत्र बलरामपुर लेकर आएगी। वो साइबरस्पेस के जरिए देश-विदेश के आतंकियों के साथ संपर्क में था।

ज्ञात हो कि ISIS आतंकी अबू युसूफ खान को दिल्ली के करोलबाग और धौलाकुआँ के बीच रिज रोड इलाके से गिरफ्तार किया गया था। उसने पुलिस पर फायरिंग भी की थी। पुलिस ने उस पिस्टल को भी जब्त कर लिया है, जिसका इस्तेमाल कर उसने गोली चलाई थी। गिरफ्तार करने से पहले पुलिस और आतंकी के बीच कुछ देर तक शूटआउट भी चला। उसे आधी रात 12 बजे के करीब गिरफ्तार किया गया। 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आफताब ने श्रद्धा की हड्डियों को पीस कर बनाया पाउडर, जला डाला चेहरा, डस्टबिन में डाल दी थी आँतें, ₹2000 की ब्रीफकेस में पैक...

आफताब ने पुलिस को यह भी बताया है कि उसने जिस दिन श्रद्धा की हत्या की थी। उसी दिन श्रद्धा के अकांउट से अपने अकाउंट में 54000 रुपए भेजे थे।

‘मैं रामचरितमानस को नहीं मानती, तुलसीदास कोई संत नहीं’: सपा MLA को तुलसीदास के ग्रन्थ से दिक्कत, कहा – हिम्मत है तो मेरी ताड़ना...

सपा विधायक पल्लवी पटेल ने कहा है कि वह रामचरितमानस को नहीं मानती हैं और इसमें शूद्र शब्द हटाने के लिए आंदोलन करेंगी। उनके लिए तुलसीदास संत नहीं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
244,281FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe