Saturday, October 16, 2021
Homeदेश-समाजप्रतिबंधित संगठन PFLI के 3 नक्सली गिरफ्तार, 5 महीने से घर बदल-बदल कर रांची...

प्रतिबंधित संगठन PFLI के 3 नक्सली गिरफ्तार, 5 महीने से घर बदल-बदल कर रांची में छिपे हुए थे

पकड़े गए तीनों नक्सलियों ने जानकारी दी है कि अब तक वे 25 व्यवसायियों से लेवी की माँग कर चुके हैं। इनमें से लगभग 15 व्यवसायियों ने रकम उनको दी है। लेकिन, किसी ने पुलिस में शिकायत नहीं की। तीनों ने यह भी बताया कि...

झारखंड पुलिस ने रविवार (अगस्त 30, 2020) को राँची से प्रतिबंधित संगठन पिपुल्स लिबरेशन फ्रंट ऑफ इंडिया के 3 नक्सलियों को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की। इनके नाम विनय तिग्गा (28), कचना पाहन (25) और सनी कच्छप (20) हैं। ये पिछले 5 महीने से किराए का घर बदल बदल कर राँची के अलग-अलग इलाकों में रुके हुए थे और एरिया कमांडर पुनई उरांव के इशारे पर व्यवसायियों से वसूली करके संगठन को पैसा पहुँचाने का काम करते थे।

गिरफ्तारी के बाद पुलिस ने इनके पास से 2 देसी बंदूकें, 31 कारतूस, 3 मोबाइल फोन और एक बाइक जब्त की है। टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के अनुसार, राँची एसएसपी को खूफिया सूत्रों से इनकी मूवमेंट की सूचना मिली थी। इसके बाद एसएसपी के निर्देशों पर राँची डीएसपी के नेतृत्व में टीम गठित हुई और इन लोगों को चुटिया के केतारीबागन इलाके से गिरफ्तार किया गया।

ग्रामीण एसपी नौशाद आलम ने बताया कि पकड़े गए तीनों नक्सलियों ने जानकारी दी है कि अब तक वे 25 व्यवसायियों से लेवी की माँग कर चुके हैं। इनमें से लगभग 15 व्यवसायियों ने कुछ रकम उनको दी है। लेकिन, किसी ने पुलिस में शिकायत नहीं की। तीनों ने यह भी बताया कि व्यवसायियों से लेवी की माँग करने के लिए व्हाट्सएप कॉलिंग का इस्तेमाल किया जाता है।

यहाँ बता दें कि तीनों के पकड़े जाने के बाद पड़ताल में यह भी मालूम चला कि इनमें से दो पहले से हिस्ट्रीशीटर हैं व इन पर कई मामले दर्ज हैं। पुलिस अधीक्षक सुरेंद्र कुमार झा ने रविवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि विनय तिग्गा के खिलाफ राँची में तीन मामले दर्ज हैं।

पुलिस अधीक्षक सुरेंद्र कुमार झा ने कहा कि वर्ष 2016 में धुर्वा थाना से जुआ कांड में आरोपित, वर्ष 2018 में नगड़ी थाना से रंगदारी लूटपाट और आर्म्स एक्ट में आरोपित और वर्ष 2019 में नगड़ी थाना से अपने चाचा प्रकाश तिग्गा की हत्या कांड में विनय तिग्गा फरार था।

वहीं सनी कच्छप के खिलाफ नगड़ी थाने क्षेत्र में बाबू खान की हत्या करने, रातू थाना क्षेत्र में इम्तियाज अंसारी की हत्या करने और मांझी थाना क्षेत्र में सुंदर दास को गोली मारने का आरोप है।

दैनिक जागरण की रिपोर्ट के अनुसार, इन तीनों ने पूछताछ में अपने तीन अन्य साथियों का भी खुलासा किया जिसके बाद अन्य तीन भी पकड़ लिए गए। यह भी लेवी के लिए शहर में ठहरे हुए थे। रिपोर्ट का कहना है कि इन तीनों की गिरफ्तारी की अभी तक आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

खुले में सड़क पर नमाज पढ़ने से परेशान हिंदू, गुरुग्राम में लगातार चौथे सप्ताह भजन-कीर्तन कर किया विरोध प्रदर्शन

गुरुग्राम के लोगों का कहना है कि यह सब प्रशासन की रजामंदी से हो रहा है। वहीं, एसीपी अमन यादव का कहना है कि नमाज के लिए वैकल्पिक जगह तलाशने समेत समाधान के प्रयास जारी हैं।

शाहरुख के लिए लिबरल गिरोह ने पढ़ी दुआ… फिर भी हार गई KKR: CSK ने ‘मुस्लिम सुपरस्टार’ को हराया – नेटिजंस का रिएक्शन

IPL-2021 में CSK की जीत ने जाहिरतौर पर केकेआर फैन्स को निराश किया होगा। लेकिन उससे भी ज्यादा रोना आया होगा लिबरल गिरोह के सक्रिय सदस्यों को।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
128,877FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe