Thursday, May 23, 2024
Homeदेश-समाजकबाड़ की दुकान में विस्फोट से 4 की मौत, आइसक्रीम बेचता था इश्तियाक अंसारी:...

कबाड़ की दुकान में विस्फोट से 4 की मौत, आइसक्रीम बेचता था इश्तियाक अंसारी: बेटा और 2 पड़ोस के बच्चे भी आ गए चपेट में, झारखंड की घटना

आशंका जताई जा रही है कि इसमें बम था। तमाम सामान छाँटने के बाद इश्तियाक ने जैसे ही कबाड़ तो तौलने के लिए तराजू पर चढ़ाया, उसमें विस्फोट हो गया। विस्फोट इतना तेज था कि उसकी आवाज दूर तक सुनाई पड़ी।

झारखंड के पलामू में हुए एक ब्लास्ट की वजह से 4 लोगों की मौत हो गई है। मरने वालों में 3 नाबालिग हैं। धमाका एक कबाड़ी की दुकान में हुआ है। मरने वालों के नाम इश्तियाक अंसारी, शहादत, शहीद और वारिस हैं। माजिद, महरुमा, अफसाना और रुखसाना घायल हैं जिनका इलाज अस्पताल में चल रहा है। इश्तियाक इस कबाड़ की दुकान का मालिक था। पुलिस ने केस दर्ज कर के जाँच शुरू कर दी है। घटना रविवार (12 मई, 2024) की है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, घटना पलामू के थाना क्षेत्र मनातू की है। यहाँ रहने वाला 50 साल का इश्तियाक अंसारी गाँव-गाँव फेरी लगा कर कबाड़ खरीदता था। कबाड़ के बदले वह आइसक्रीम बेचता था। रविवार को वह डीजल पम्प सेट का एक पुर्जा खरीद कर लाया। आशंका जताई जा रही है कि इसमें बम था। तमाम सामान छाँटने के बाद इश्तियाक ने जैसे ही कबाड़ तो तौलने के लिए तराजू पर चढ़ाया, उसमें विस्फोट हो गया। विस्फोट इतना तेज था कि उसकी आवाज दूर तक सुनाई पड़ी।

आसपास के लोग दौड़ कर इश्तियाक के घर पहुँचे। तब तक इश्तियाक के साथ उसके 8 वर्षीय बेटे शहादत की मौत हो चुकी थी। पड़ोस के 2 बच्चे 8 वर्षीय शाहिद और 10 साल के वारिश आइसक्रीम खरीदने इश्तियाक के घर गए थे। वो दोनों भी इस धमाके की चपेट में आ गए। धमाके की वजह से इश्तियाक की बीवी महरुमा, 7 साल का बेटा माज़िद और 17 साल की रुखसाना व 14 वर्षीया अफसाना खातून नाम की बेटियाँ बुरी तरह से घायल हो गईं।

मामले की जानकारी होते ही पुलिस मौके पर पहुँची। घायलों को अस्पताल भेजा गया है जिनकी हालात स्थिर बताई जा रही है। पुलिस ने घटनास्थल सील कर के जाँच की और वहाँ से सैम्पल जमा किए। पुलिस का कहना है कि जाँच होने के बाद ही ब्लास्ट की असली वजह बताई जा सकेगी। हालाँकि, प्रथम दृष्टया इसे घर में रखे कबाड़े में धमाका माना जा रहा है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘प्यार से माँगते तो जान दे देती, अब किसी कीमत पर नहीं दूँगी इस्तीफा’: स्वाति मालीवाल ने राज्यसभा सीट छोड़ने से किया इनकार

आम आदमी पार्टी की राज्यसभा सांसद स्वाति मालीवाल ने अब किसी भी हाल में राज्यसभा से इस्तीफा देने से इनकार कर दिया है।

‘टेबल पर लगा सिर, पैर पकड़कर नीचे घसीटा’: विभव कुमार ने CM केजरीवाल के घर में कैसे पीटा, स्वाति मालीवाल ने अब कैमरे पर...

स्वाति मालीवाल ने बताया कि जब उन्होंने विभव कुमार को धक्का देने की कोशिश की तो उन्होंने उनका पैर पकड़ लिया और नीचे घसीट दिया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -