Friday, June 14, 2024
Homeदेश-समाजजामिया का इंजीनियरिंग छात्र मोहसिन अहमद निकला ISIS आतंकी, फंड जुटा कर भेजता था...

जामिया का इंजीनियरिंग छात्र मोहसिन अहमद निकला ISIS आतंकी, फंड जुटा कर भेजता था सीरिया: NIA ने बाटला हाउस से दबोचा, परिवार बोला – कोर्ट जाएँगे

इस फंड को आतंकी संगठन की गतिविधियों को अंजाम देने के लिए क्रिप्टोकरेंसी के माध्यम से सीरिया और अन्य देशों में भेजा जा रहा था।

NIA (राष्ट्रीय जाँच एजेंसी) ने दिल्ली के बाटला हाउस के जोहाबाई एक्सटेंशन से मोहसिन अहमद नाम के छात्र को गिरफ्तार किया है, जो खूँखार आतंकी संगठन ISIS के लिए फंड्स इकट्ठे कर रहा था। वो इस आतंकी संगठन का सक्रिय सदस्य भी था। मूल रूप से बिहार की राजधानी पटना से ताल्लुक रखने वाले मोहसिन खान के बाटला हाउस स्थित ठिकाने की NIA ने तलाशी ली। साथ ही ISIS के लिए ऑन ग्राउंड और ऑनलाइन अभियान चलाने के लिए उसे गिरफ्त में ले लिया।

इस सम्बन्ध में एजेंसी ने जून 2022 में स्वतः संज्ञान लेते हुए मामला दर्ज किया था। मोहसिन अहमद को संस्था ने एक कट्टरवादी बताया है। भारत के साथ-साथ वो विदेश से भी ISIS से सम्बन्ध रखने वालों से फंड्स इकट्ठे कर रहा था। इसके बाद इस फंड को आतंकी संगठन की गतिविधियों को अंजाम देने के लिए क्रिप्टोकरेंसी के माध्यम से सीरिया और अन्य देशों में भेजा जा रहा था। इस सम्बन्ध में आगे की जाँच फ़िलहाल जारी है। NIA पता लगा रही है कि वो कहाँ किस-किस के संपर्क में था और इसमें उसके साथ कौन-कौन है, कितने पैसे कहाँ-कहाँ भेजे जाते थे।

इससे पहले 31 जुलाई को भी NIA ने 6 राज्यों में 13 ठिकानों पर छापेमारी की थी। मोहसिन अहमद इंजीनियरिंग का छात्र है और प्रथम वर्ष में पढ़ता है। उसके परिवार का कहना है कि उस पर लगे आरोप झूठे हैं। परिवार ने अदालत में NIA के दावों को चुनौती देने की धमकी दी है। घर में मोहसिन अहमद की तीन बहनें हैं और उसके अब्बा भारतीय रेलवे में काम करते हैं। उसकी एक बहन ने कहा कि अगर वो खुद उससे कुछ दिन पहले 4000 रुपए माँग रहा था, इसीलिए उसके पाद इतने रुपए नहीं होंगे और वो फंड्स इकट्ठे नहीं कर रहा होगा।

उसका परिवार उसे एक मददगार के रूप में पेश करते हुए कह रहा है कि वो गरीबों को अनाज देता था। परिवार उसे ‘बच्चा’ बता रहा है, जिसे पता भी नहीं होगा कि वो क्या कर रहा था। वो जामिया मिल्लिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी में पढ़ता है। उसे रविवार (7 अगस्त, 2022) को गिरफ्तार किया गया। छापेमारी के दौरान उसके घर से कई आपत्तिजनक वस्तुएँ मिली हैं। उसके साथी छात्रों ने ही उसके सम्बन्ध में सूचना दी थी। वो सीरिया में मौजूद ISIS के 35 कमांडरों के संपर्क में था।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘कश्मीर समस्या का इजरायल जैसा समाधान’ वाले आनंद रंगनाथन का JNU में पुतला दहन प्लान: कश्मीरी हिंदू संगठन ने JNUSU को भेजा कानूनी नोटिस

जेएनयू के प्रोफेसर और राजनीतिक विश्लेषक आनंद रंगनाथन ने कश्मीर समस्या को सुलझाने के लिए 'इजरायल जैसे समाधान' की बात कही थी, जिसके बाद से वो लगातार इस्लामिक कट्टरपंथियों के निशाने पर हैं।

शादीशुदा महिला ने ‘यादव’ बता गैर-मर्द से 5 साल तक बनाए शारीरिक संबंध, फिर SC/ST एक्ट और रेप का किया केस: हाई कोर्ट ने...

इलाहाबाद हाई कोर्ट में जस्टिस राहुल चतुर्वेदी और जस्टिस नंद प्रभा शुक्ला की बेंच ने इस मामले की सुनवाई करते हुए कहा कि सबूत पेश करने की जिम्मेदारी सिर्फ आरोपित का ही नहीं है, बल्कि शिकायतकर्ता का भी है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -