Saturday, July 20, 2024
Homeदेश-समाजकोरोना वैक्सीन कंपनी वाले अदार पूनावाला का वॉट्सऐप मैसेज - 10101554 रुपए जल्दी भेजो,...

कोरोना वैक्सीन कंपनी वाले अदार पूनावाला का वॉट्सऐप मैसेज – 10101554 रुपए जल्दी भेजो, ऑनलाइन ट्रांसफर के बाद मैनेजर को पता चला फर्जीवाड़ा

सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के फाइनेंस मैनेजर को एक व्हाट्सएप मैसेज आया। नंबर कंपनी के सीईओ अदार पूनावाला का था। सीईओ का आदेश मान तुरंत 1,01,01,554 रुपए ऑनलाइन ट्रांसफर कर दिए। लेकिन यह निकला फर्जीवाड़ा।

कोरोना वैक्सीन कोविशील्ड बनाने वाली सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) से एक करोड़ रुपए से ज्यादा की ठगी का मामला सामने आया है। इस मामले की शिकायत महाराष्ट्र के पुणे जिले में की गई है। बताया जा रहा है कि जालसाजों ने कंपनी के सीईओ अदार पूनावाला के नाम से फर्जी मैसेज भेज कर पैसे ट्रांसफर करने के लिए कहा था। घटना बुधवार और गुरुवार (7-8 सितम्बर) के बीच की है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक घटना की FIR बुंडगार्डन थाने में हुई है। पुलिस अधिकारी इंस्पेक्टर प्रताप मानकर ने बताया कि सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया और अदार पूनावाला से संबंधित फर्जीवाड़ा मामले की शिकायत अज्ञात लोगों के खिलाफ IT एक्ट और धोखाधड़ी की धाराओं में दर्ज हुई है।

कम्पनी के फाइनेंस मैनेजर द्वारा पुलिस को दी गई शिकायत के अनुसार सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के डॉयरेक्टरों में से एक सतीश देशपांडे को एक व्यक्ति ने व्हाट्सएप मैसेज भेज कर खुद को अदार पूनावाला बताया। शिकयत में आगे कहा गया है कि मैसेज करने वाले ने देशपांडे से तुरंत पैसे ट्रांसफर करने के लिया कहा। इसके लिए कुछ बैंक खाते दिए गए।

शिकायत में आगे बताया गया है कि अज्ञात व्यक्ति के मैसेज को कम्पनी के सीईओ का आदेश मान कर सीरम इंस्टिट्यूट के आधिकारियों ने तुरंत दिए गए खाते में 1,01,01,554 रुपए ऑनलाइन ट्रांसफर कर दिए। जानकारी के मुताबिक बाद में कम्पनी के सीईओ अदार पूनावाला ने पैसे के लिए कोई भी मैसेज भेजने से इनकार किया, तब इस केस में हुई धोखाधड़ी का पता चला। पुलिस के मुताबिक मामले की जाँच की जा रही है।

गौरतलब है कि सीरम इंस्टिट्यूट का पुणे के पास एक प्लांट है, जहाँ कोविशील्ड टीकों का निर्माण चल रहा है। कुछ ही दिन पहले सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के सीईओ अदार पूनावाला ने जानकारी दी थी कि वो अपने ग्लोबल पार्टनर Novavax के साथ मिलकर मंकीपॉक्स की mRNA वैक्सीन बनाने की दिशा में काम कर रहे हैं।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बांग्लादेशी महिला के 5 छोटे बच्चे, 3 लड़कियाँ… इसलिए इलाहाबाद हाई कोर्ट ने दे दी जमानत: सपा विधायक की मदद से भारत में रहने...

इलाहाबाद हाई कोर्ट ने जेल में बंद एक बांग्लादेशी महिला हिना रिजवान को जमानत दे दी। महिला अपने बच्चों के साथ अवैध रूप से भारत में रही थी।

घुमंतू (खानाबदोश) पूजा खेडकर: जिसका बाप IAS, वो गुलगुलिया की तरह जगह-जगह भटक बिताई जिंदगी… इसी आधार पर बन गई MBBS डॉक्टर

पूजा खेडकर ने MBBS में नाम लिखवाने से लेकर IAS की नौकरी पास करने तक में नाम, उम्र, दिव्यांगता, अटेंप्ट और आय प्रमाण पत्र में फर्जीवाड़ा किया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -