Wednesday, June 19, 2024
Homeदेश-समाज'अगर फाँसी मिली तो, जन्नत में मिलेंगी हूर': आफताब को श्रद्धा की हत्या करने...

‘अगर फाँसी मिली तो, जन्नत में मिलेंगी हूर’: आफताब को श्रद्धा की हत्या करने का कोई अफसोस नहीं, पूछताछ में दिया चौंकाने वाला बयान

रिपोर्ट में पुलिस अधिकारी के हवाले से लिखा गया, "आफताब ने कहा कि श्रद्धा की हत्या के आरोप में अगर फाँसी भी हो जाए तो उसे इसका अफसोस नहीं होगा, क्योंकि जन्नत में जाने पर उसे हूर मिलेंगी।"

श्रद्धा वालकर मर्डर केस (Shraddha Walker Murder Case) में आरोपित आफताब अमीन पूनावाला (Aftab Poonawala) का पॉलीग्राफ टेस्ट के बाद पहली बार चौंकाने वाला बयान आया है। दावा किया जा रहा है कि दिल्ली में अपनी लिव-इन पार्टनर श्रद्धा की हत्या करने वाले आफताब ने पुलिस को बताया कि उसे अपने किए पर बिल्कुल भी पछतावा नहीं हो रहा है। अगर उसे फाँसी भी हुई तो भी जन्नत मिलेगी।

दैनिक जागरण की रिपोर्ट के अनुसार ये बात एक पुलिस अधिकारी ने बताई है। रिपोर्ट में अधिकारी के हवाले से लिखा गया, “आफताब ने कहा कि श्रद्धा की हत्या के आरोप में अगर फाँसी भी हो जाए तो उसे इसका अफसोस नहीं होगा, क्योंकि जन्नत में जाने पर उसे हूर मिलेंगी।” उसने पूछताछ के दौरान पुलिस अधिकारी को बताया कि श्रद्धा के शव के 35 टुकड़े करके उसे ठिकाने का लगाने का भी जरा भी पछतावा नहीं है। आरोपित ने पुलिस से स्पष्ट कहा कि उसने श्रद्धा की हत्या कर उसके टुकड़े करने की मुंबई में ही ठान ली थी।

यही नहीं उसने आगे बताया कि श्रद्धा के साथ रिश्ते में होने के दौरान उसके 20 से अधिक हिंदू लड़कियों से संबंध रहे हैं। वह बंबल ऐप पर हिंदू लड़कियों को ढूँढकर अपने जाल में फँसाता था। इससे पहले दिल्ली पुलिस ने खुलासा किया था कि श्रद्धा की हत्या के बाद वह एक मनोविज्ञानी को अपने कमरे पर लाया था, वह भी हिंदू थी। उसने इस लड़की को श्रद्धा की अँगूठी गिफ्ट में देकर उसे अपने जाल में फँसाया था। पुलिस ने वह अँगूठी भी बरामद कर ली है।

पुलिस अधिकारी के मुताबिक, “पॉलीग्राफ टेस्ट में आफताब ने कुछ ऐसे सच बताए हैं, जो बेहद चौंकाने वाले हैं। हमारी टीम नार्को टेस्ट के बाद इन तथ्यों की पुष्टि करना चाहती है। पॉलीग्राफ टेस्ट में उसने जो बताया है, उससे जाँच में हमें काफी मदद मिल रही है। इसके जरिए पुलिस ने उसके घर से 5 चाकू बरामद किए गए थे। हमें उम्मीद है कि जल्द ही इस केस से जुड़े अन्य सबूत भी जुटा लिए जाएँगे।” वहीं, जाँच में यह बात भी सामने आई है कि जिस दिन श्रद्धा की हत्या हुई, उसी दिन आफताब ने उससे झगड़ा किया था और गाँजा भी पिया था।

नार्को टेस्ट

बता दें कि श्रद्धा हत्याकांड की बिखरी कड़ियों को जोड़ने में जुटी पुलिस को आफताब ने पॉलीग्राफ टेस्ट में भी काफी गुमराह करने की कोशिश की। उसने तीन बार हुए पॉलीग्राफ टेस्ट में कई सवालों के जवाब तो दिए, लेकिन कुछ को उसने आधा-अधूरा छोड़ दिया। बताया जा रहा है कि 5 दिसंबर 2022 को आफताब का नार्को टेस्ट हो सकता है। इस टेस्ट के लिए पुलिस अभी से अपने सवालों को तैयार कर रही है।

आफताब को ले जाती पुलिस वैन पर तलवार से हमला

गौरतलब है कि आफताब को सोमवार (28 नवंबर, 2022) को पॉलीग्राफ टेस्ट के लिए फोरेंसिक साइंस लैब (एफएसएल) लाया गया था। इस टेस्ट के बाद जब पुलिस उसे वैन में बैठाकर तिहाड़ जेल ले जा रही थी, तब वहाँ मौजूद लोगों ने पत्थरबाजी करते हुए तलवार से हमला किया। इस हमले का वीडियो भी सामने आया है। वीडियो में पुलिस वैन के पास खड़े लोग पहले तो तलवार लहराते हुए दिख रहे हैं, इसके बाद वैन पर तलवार से हमला भी कर रहे हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

डीपफेक वीडियो और ऑनलाइन फेक न्यूज़ पर लगेगी लगाम, ‘मोदी 3.0’ लेकर आ रहा ‘डिजिटल इंडिया बिल’: डेटा प्रोटेक्शन के बाद अब YouTube और...

अमित शाह का वीडियो वायरल कर दिया गया और दावा किया गया कि वो आरक्षण खत्म करने की बात कर रहे हैं। कई हस्तियाँ डीपफेक की शिकार बन चुकी हैं।

कश्मीर को अलग बताने वाली अरुंधति रॉय ने गुजरात दंगों को लेकर भी बोले थे झूठ: एहसान जाफरी की बेटियों से रेप और जिंदा...

साल 2002 के गुजरात दंगों को अरुंधति रॉय ने अपने लेख के जरिए कई तरह के झूठ और भ्रम फैलाने की कोशिश की थी। इसके लिए उन्हें माफी भी माँगनी पड़ी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -