Sunday, June 26, 2022
Homeदेश-समाजबरेली के बाद अजमेर में इकट्ठी हुई कट्टरपंथी मुस्लिमों की भीड़, महंत नरसिंहानंद पर...

बरेली के बाद अजमेर में इकट्ठी हुई कट्टरपंथी मुस्लिमों की भीड़, महंत नरसिंहानंद पर कार्रवाई न होने पर दी प्रदर्शन की धमकी

चिश्ती ने कट्टरपंथी इस्लामी भीड़ को संबोधित करते हुए आरोप लगाया कि सभी को पता है कि फासीवादी ताकतों के इशारे पर डासना देवी के मंदिर के महंत ने देश में सांप्रदायिक शांति भंग करने के लिए ये टिप्पणी की है। चिश्ती ने यति नरसिंहानंद सरस्वती की तत्काल गिरफ्तारी की माँग की है।

पैगम्बर मुहम्मद पर टिप्पणी करने के मामले में गाजियाबाद के डासना देवी मंदिर के महंत यति नरसिंहानंद सरस्वती के खिलाफ कट्टरपंथी इस्लामियों ने एक बार फिर से आवाज उठाई है। इसी कड़ी में शुक्रवार को राजस्थान की अजमेर शरीफ दरगाह बाजार में जुमे की नमाज के बाद बड़ी संख्या में कट्टरपंथी मुसलमानों की भीड़ इकट्ठा हुई। मुस्लिमों ने नरिसंहानंद सरस्वती की गिरफ्तारी की माँग की।

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक, आंदोलनकारियों ने हाथों में बैनर ले रखे थे और नारेबाजी कर रहे थे। इस आंदोलन का नेतृत्व गद्दी नशीन खादिम सरवर चिश्ती ने किया।

चिश्ती ने कट्टरपंथी इस्लामी भीड़ को संबोधित करते हुए आरोप लगाया कि सभी को पता है कि फासीवादी ताकतों के इशारे पर डासना देवी के मंदिर के महंत ने देश में सांप्रदायिक शांति भंग करने के लिए ये टिप्पणी की है। चिश्ती ने यति नरसिंहानंद सरस्वती की तत्काल गिरफ्तारी की माँग की है।

अजमेर दरगाह के निजाम गेट पर इकट्ठी हुई इस्लामी भीड़ ने इस बात पर अफसोस जताया कि पैगंबर मुहम्मद पर टिप्पणी के मामले में दरगाह पुलिस थाने में एफआईआर करने के बाद भी कोई कार्रवाई नहीं की गई। भीड़ ने धमकी दी है कि अगर यति नरसिंहानंद सरस्वती के खिलाफ कार्रवाई नहीं हुई तो बड़े पैमाने पर विरोध प्रदर्शन किया जाएगा। इसके अलावा इस्लामी भीड़ ने इस्लाम के किसी भी अपमान के खिलाफ कानून बनाने की माँग की।

बता दें कि यति नरसिंहानंद सरस्वती ने जबसे कथित तौर पर पैगंबर मुहम्मद के खिलाफ टिप्पणी की है तब से मुसलमान उनके खिलाफ कार्रवाई की माँग कर रहे हैं।

हालाँकि, कट्टरपंथी इस्लामियों के इस कृत्य के बाद अब देशभर के हिंदू संत भी यति नरसिंहानंद सरस्वती के समर्थन में आ गए हैं।

बरेली में भी इकट्ठी हुई थी कट्टरपंथियों की भीड़

9 अप्रैल को उत्तर प्रदेश के बरेली में शुक्रवार की नमाज के बाद इस्लामिया ग्राउंड में लाखों कट्टरपंथी मुसलमान इकट्ठा हुए थे और यति नरसिंहानंद के खिलाफ कार्रवाई की माँग की थी। उस दौरान भी मौलानाओं ने डासना देवी मंदिर के महंत का सिर काटने की तकरीरें की।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

गे बार के पास कट्टर इस्लामी आतंकी हमला, गोलीबारी में 2 की मौत: नॉर्वे में LGBTQ की परेड रद्द, पूरे देश में अलर्ट

नॉर्वे की राजधानी ओस्लो में गे बार के नजदीक हुई गोलीबारी को प्रशासन ने इस्लामी आतंकवाद करार दिया है। 'प्राइड फेस्टिवल' को रद्द कर दिया गया।

BJP के ईसाई नेता ने हवन-पाठ करके अपनाया सनातन धर्म: घरवापसी पर बोले- ‘मुझे हिंदू धर्म पसंद है, मेरे पूर्वज हिंदू थे’

विवीन टोप्पो ने हिंदू धर्म स्वीकारते हुए कहा कि उन्हें ये धर्म अच्छा लगता है इसलिए उन्होंने इसका अनुसरण करने का फैसला किया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
199,374FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe