Monday, July 4, 2022
Homeदेश-समाजज्ञानवापी मामले में कूदा AIMPLB, मुस्लिम पक्ष को देगा 'हर तरह की' कानूनी सहायता:...

ज्ञानवापी मामले में कूदा AIMPLB, मुस्लिम पक्ष को देगा ‘हर तरह की’ कानूनी सहायता: किताबें-पैम्पलेट छपवा कर बनाएगा नैरेटिव

मुस्लिमों के सबसे बड़े संगठन ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड (AIMPLB) ने ऐलान किया है कि वह इस मामले में मुस्लिम पक्ष को हर तरह से कानूनी सहायता देगा।

वाराणसी के ज्ञानवापी विवादित ढाँचे का मुद्दा अभी सुप्रीम कोर्ट में चल रहा है। ज्ञानवापी ढाँचे (Gyanvapi Mosque) के वजूखाना में शिवलिंग मिलने के बाद से जहाँ हिंदू अपने पक्ष में आवाज बुलंद कर रहे हैं, वहीं मुस्लिम पक्ष भी इस मुद्दे पर कानूनी लड़ाई के तरीके तलाश रहा है। हिंदुओं ने ज्ञानवापी के नीचे की दीवार को तोड़ने की माँग ​की है। उधर मुस्लिमों के सबसे बड़े संगठन ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड (AIMPLB) ने ऐलान किया है कि वह इस मामले में मुस्लिम पक्ष को हर तरह से कानूनी सहायता देगा।

उधर समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, अधिवक्ता विष्णु जैन ने कहा, “कोर्ट ने एडवाइजर अजय मिश्रा को हटाने का आदेश दिया है। इसके अलावा, हमने अदालत में एक अर्जी दी है कि वुजू खाने (ज्ञानवापी विवादित ढाँचे की) के नीचे की दीवार को गिरा दिया जाए और हमें वहाँ जाने दिया जाए। उसी पर आज कोर्ट फैसला सुनाएगी।”

आपको बता दें कि AIMPLB ने मंगलवार (16 मई, 2022) शाम को इस मुद्दे पर अपनी कार्यकारिणी की वर्चुअल बैठक भी बुलाई थी। बैठक में फैसला लिया गया कि यह मामला अभी अदालतों में है, इसलिए बोर्ड की लीगल कमेटी केस को लड़ने में मुस्लिम पक्ष की हर संभव मदद करेगी। इसके साथ ही मीडिया पर सटिक और पूर्ण जानकारी नहीं देने का आरोप लगाते हुए AIMPLB ने लोगों को मुस्लिम पक्ष के बिंदुओं से जागरूक करवाने के लिए पैम्पलेट और किताबें छपवाने का भी ऐलान किया, ताकि वह सभी तथ्यों के साथ लोगों को पूरे विवाद के बारे में बता सकें।

AIMPLB क्या है

ज्ञानवापी विवादित ढाँचे के मुद्दे पर मुस्लिमों की मदद का ऐलान करने वाला ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड (AIMPLB) अक्सर अपने बयानों के कारण विवादों में रहता है। इसने देश में समान नागरिक संहिता (Uniform Civil Code) कानून पर भी आपत्ति जताते हुए इसका विरोध किया था। All India Muslim Persona Law Board खुद को मुस्लिमों का रहनुमा बताता है। इससे पहले भी यह स्कूलों में सूर्य नमस्कार, राम जन्मभूमि, CAA-NRC, तीन तलाक कानून का खात्मा, हिजाब बैन, लाउडस्पीकर बैन सहित तमाम मामलों को मुस्लिमों से जोड़कर इसका विरोध करता रहा है। यहाँ तक आतंकी गतिविधियों में शामिल मुस्लिमों के बचाव में भी कई बार यह संगठन सामने आ चुका है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

AG के पास पहुँचा TMC वाला साकेत गोखले, हमारे खिलाफ चलाना चाहता है अदालत की अवमानना का मामला: हम अपने शब्दों पर अब भी...

ऑपइंडिया की एडिटर नुपूर शर्मा के लेख की शिकायत लेकर टीएमसी नेता साकेत गोखले अटॉर्नी जनरल के पास गए हैं ताकि अदालत की अवमानना का केस चलवा सकें।

‘शौच करने गई थी, मोहम्मद जाकिर हुसैन सर पीछे-पीछे आ गए’: मिडिल स्कूल में शिक्षक ने नाबालिग छात्रा से की छेड़खानी, हुआ गिरफ्तार

बिहार के सुपौल में शिक्षक जाकिर हुसैन ने 7वीं कक्षा की लड़की के साथ छेड़छाड़ किया। परिजनों ने थाने में दर्ज कराया मामला। आरोपित गिरफ्तार।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
203,064FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe