Tuesday, October 19, 2021
Homeदेश-समाज'अजान से रोज नींद में पड़ती है खलल, कामकाज होता है प्रभावित': इलाहाबाद विवि...

‘अजान से रोज नींद में पड़ती है खलल, कामकाज होता है प्रभावित’: इलाहाबाद विवि की VC ने DM से की त्वरित कार्रवाई की अपील

कुलपति ने जिलाधिकारी को भेजे गए पत्र में कहा है कि रोज सुबह लगभग साढ़े पाँच बजे उनके आवास के नजदीक के मस्जिद से लाउडस्पीकर पर होने वाली अजान से उनकी नींद इस तरह बाधित हो जाती है कि उसके बाद तमाम कोशिश के बाद भी वह सो नहीं पातीं। जिसकी वजह से उन्हें दिनभर सिरदर्द बना रहता है और कामकाज भी प्रभावित होता है।

मशहूर गायक सोनू निगम के लाउडस्पीकर पर अजान न बजाने की अपील करने के बाद अब इलाहाबाद विश्वविद्यालय की कुलपति ने भी यह अपील की है। विवि की कुलपति प्रो. संगीता श्रीवास्तव ने प्रयागराज के जिलाधिकारी को पत्र लिख कर कार्रवाई की माँग की है। 

उनका कहना है कि अलसुबह मस्जिद के लाउडस्पीकर से गूँजने वाली अजान की आवाज उनकी दिनचर्या में खलल डाल रही है। इससे उनकी नींद प्रभावित होती है जिससे कि दिन भर उनके सिर में दर्द बना रहता है और कामकाज प्रभावित होता है।

कुलपति ने जिलाधिकारी को भेजे गए पत्र में कहा है कि रोज सुबह लगभग साढ़े पाँच बजे उनके आवास के नजदीक के मस्जिद से लाउडस्पीकर पर होने वाली अजान से उनकी नींद इस तरह बाधित हो जाती है कि उसके बाद तमाम कोशिश के बाद भी वह सो नहीं पातीं। जिसकी वजह से उन्हें दिनभर सिरदर्द बना रहता है और कामकाज भी प्रभावित होता है। 

पत्र में एक कहावत का हवाला देते हुए आगे कहा, “आपकी स्वतंत्रता वहीं खत्म हो जाती है जहाँ से मेरी नाक शुरू होती है।” यहाँ बिल्कुल सटीक बैठती है। कुलपति ने पत्र में यह भी स्पष्ट किया है कि वह किसी सम्प्रदाय, जाति या वर्ग के खिलाफ नहीं हैं। वह अपनी अजान लाउडस्पीकर के बगैर कर सकते हैं जिससे दूसरों की दिनचर्या प्रभावित न हो। आगे ईद से पहले सहरी की घोषणा भी सुबह चार बजे होगी। यह भी उनके और दूसरों की परेशानी की वजह बनेगा।

साभार: सोशल मीडिया

बड़े स्तर पर कार्रवाई की सराहना

पत्र में कुलपति ने इलाहाबाद हाईकोर्ट के आदेश (पीआईएल नंबर-570 ऑफिस 2020) का हवाला दिया है। पत्र में उन्होंने कहा कि जिलाधिकारी की त्वरित कार्रवाई की बड़े स्तर पर सराहना होगी। प्रभावित लोगों को लाउडस्पीकर के तेज आवाज से होने वाली अनिद्रा से निजात मिलेगी। उन्होंने कहा कि भारत के संविधान में सभी वर्ग के लिए पंथनिरपेक्षता और शांतिपूर्ण सौहार्द की परिकल्पना की गई है।

कार्रवाई का आश्वासन

इस बारे में डीआईजी सर्वश्रेष्ठ त्रिपाठी ने कहा कि कुछ दिनों पहले एक लेटर मिला था। इस प्रकरण में संबंधित अधिकारी को जाँच कर वैधानिक कार्रवाई करने के लिए निर्देश दिया गया है। जिलाधिकारी भानु चंद्र गोस्वामी के अनुसार इस प्रकरण से जुड़ा पत्र प्राप्त हुआ है। नियम संगत कार्रवाई की जाएगी।

बता दें कि यह पहली बार नहीं जब अजान पर इस तरह की बात कही गई है। इससे पहले बॉलीवुड सिंगर सोनू निगम ने भी अजान को लेकर सवाल खड़े किए थे। उन्होंने कहा था कि लाउडस्पीकर से दी जाने वाली अजान से उनकी नींद में खलल पड़ता है। उन्होंने सवाल किया कि वे इस धार्मिक कट्टरता को क्यों बर्दाश्त करें। ऐसे करना तो सरासर गुंडागर्दी है। 

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बांग्लादेश का नया नाम जिहादिस्तान, हिन्दुओं के दो गाँव जल गए… बाँसुरी बजा रहीं शेख हसीना’: तस्लीमा नसरीन ने साधा निशाना

तस्लीमा नसरीन ने बांग्लादेश में हिंदुओं पर कट्टरपंथी इस्लामियों द्वारा किए जा रहे हमले पर प्रधानमंत्री शेख हसीना पर निशाना साधा है।

पीरगंज में 66 हिन्दुओं के घरों को क्षतिग्रस्त किया और 20 को आग के हवाले, खेत-खलिहान भी ख़ाक: बांग्लादेश के मंत्री ने झाड़ा पल्ला

एक फेसबुक पोस्ट के माध्यम से अफवाह फैल गई कि गाँव के एक युवा हिंदू व्यक्ति ने इस्लाम मजहब का अपमान किया है, जिसके बाद वहाँ एकतरफा दंगे शुरू हो गए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,820FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe