Thursday, September 16, 2021
Homeदेश-समाजचेहरे को कुचला, हाथ को किया क्षत-विक्षत... उभरती मॉडल ख़ुशी परिहार का बॉयफ्रेंड अशरफ़...

चेहरे को कुचला, हाथ को किया क्षत-विक्षत… उभरती मॉडल ख़ुशी परिहार का बॉयफ्रेंड अशरफ़ शेख़ गिरफ़्तार

ख़ुशी अन्य लड़कों से भी दोस्ती रखती थी। यह अशरफ़ शेख़ को पसंद नहीं था। इसी बात को लेकर झगड़ा हुआ और अशरफ़ ने खुशी की हत्या कर दी।

महाराष्ट्र में नागपुर और पांडुरना के बीच राष्ट्रीय राजमार्ग 47 पर शहर से लगभग 50 किमी दूर चतरपुर में एक उभरती मॉडल का शव पाया गया। उसके सिर और चेहरे को बुरी तरह से कुचला गया था। मृतका की पहचान 20 वर्षीया ख़ुशी परिहार के रूप में हुई है। ख़ुशी परिहार ने शहर में कई फैशन शो में भाग लिया था।

इस संबंध में केलवद पुलिस ने हत्या का मामला दर्ज कर जाँच शुरू की। शुरुआती जाँच में ख़ुशी के बॉयफ्रेंड अशरफ़ शेख़ का नाम सामने आया, जो गिट्टीखदान के कथित ड्रग्स का धंधा करने वाले का बेटा है। पुलिस के अनुसार हत्या के बाद सबूत को नष्ट करने का भरपूर प्रयास किया गया लेकिन अशरफ़ गिरफ़्तारी से बच नहीं पाया

कैसे पकड़ाया हत्यारा

घटनास्थल पर मृतका की पोशाक को देखकर पुलिस ने अंदाज़ा लगाया कि उसका संबंध शहरी क्षेत्र से है। जल्द ही पुलिस ने आसपास के थानों में गुमशुदगी की जाँच शुरू कर दी। मृतका के शरीर पर तीन टैटू थे। पहला टैटू-
‘ख़ुशी’ नाम से उसकी पीठ पर था, दूसरा टैटू- उसके सीने पर मुकुट के साथ ‘क्वीन’ था। तीसरा टैटू- उसके एक हाथ में – ‘आशु’ नाम से देखा गया।

मृतका की पहचान करने में इन तीनों टैटुओं ने पुलिस की काफ़ी मदद की। एक मुखबिर ने पुलिस को बताया कि यह शव शायद एक उभरती मॉडल खुशी परिहार का है। इसके बाद पुलिस ने उसके सोशल मीडिया अकाउंट्स को भी सर्च किया और टैटू से उसकी पहचान का पता लगाया।

जब पुलिस ने ख़ुशी की तस्वीरों में अशरफ़ को देखा तो उसकी तलाश शुरू कर दी। फिर अशरफ़ को जल्द ही केलवद पुलिस ने ढूँढ़ निकाला।

मोबाइल लोकेशन से खेल खत्म!

अशरफ़ से पूछताछ के दौरान पुलिस को यह अनुमान हो गया था कि वो उन्हें गुमराह करने की कोशिश कर रहा है। दरअसल, ख़ुशी शुक्रवार (12 जुलाई) की रात 9 बजे उससे मिली थी। जब पुलिस ने उसके मोबाइल की लोकेशन चेक की, तो पता चला कि वो दोनों शुक्रवार को देर रात तक एकसाथ थे।

उभरती मॉडल ख़ुशी परिहार की बेरहमी से की गई हत्या (तस्वीर सौजन्य: नागपुर टुडे)

पुलिस की सख्ती के बाद अशरफ़ ने क़बूल किया कि वो और ख़ुशी कलामना के एक ढाबे में गए थे जहाँ उन्होंने शराब पी थी और खाना खाया था। वहाँ से वे पांढुर्ना की ओर चले गए जहाँ ख़ुशी की अन्य लोगों से दोस्ती को लेकर उनमें आपस में झगड़ा हो गया। इसी झगड़े के बाद उसने खुशी की हत्या कर दी।

अशरफ़ ने पुलिस को बताया कि आने वाले 10 दिनों में उनकी शादी होने वाली थी। अशरफ़ ने हाल ही में किराए पर गिट्टीखदान में एक फ्लैट भी लिया था, जहाँ ख़ुशी रहती थी। उसने उसे एक मोबाइल और एक कार भी दी थी। इस मामले में पुलिस अन्य एंगल से भी जाँच कर रही है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

प्राचीन महादेवम्मा मंदिर विध्वंस मामले में मैसूर SP को विहिप नेता ने लिखा पत्र, DC और तहसीलदार के खिलाफ कार्रवाई की माँग

विहिप के नेता गिरीश भारद्वाज ने मैसूर के उपायुक्त और नंजनगुडु के तहसीलदार पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए SP के पास शिकायत दर्ज कराई है।

कोहाट दंगे: खिलाफ़त आंदोलन के लिए हुई ‘डील’ ने कैसे करवाया था हिंदुओं का सफाया? 3000 का हुआ था पलायन

10 सितंबर 1924 को करीबन 4000 की मुस्लिम भीड़ ने 3000 हिंदुओं को इतना मजबूर कर दिया कि उन्हें भाग कर मंदिर में शरण लेनी पड़ी। जो पीछे छूटे उन्हें मार डाला गया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
122,733FollowersFollow
409,000SubscribersSubscribe