Saturday, June 22, 2024
Homeदेश-समाजमुख्तार को लाए अब अहमद की बारी: गुजरात में बंद अतीक अहमद को यूपी...

मुख्तार को लाए अब अहमद की बारी: गुजरात में बंद अतीक अहमद को यूपी लाने की योगी सरकार के मंत्री ने दिया संकेत

उच्चतम न्यायालय के आदेश पर मुख्तार को पंजाब की रोपड़ जेल से यूपी की बांदा जेल में लाया गया। यहाँ मुख्तार को कड़ी निगरानी में रखा गया है। वहीं अब दूसरी ओर यूपी के कुख्यात अपराधी अतीक अहमद को भी गुजरात से यूपी लाने की माँग उठ रही है।

पंजाब सरकार की तमाम रुकावटों के बावजूद भी उत्तर प्रदेश की योगी सरकार मुख्तार अंसारी को यूपी लाने में सफल हुई। उच्चतम न्यायालय के आदेश पर मुख्तार को पंजाब की रोपड़ जेल से यूपी की बांदा जेल में लाया गया। यहाँ मुख्तार को कड़ी निगरानी में रखा गया है। वहीं अब दूसरी ओर यूपी के कुख्यात अपराधी अतीक अहमद को भी गुजरात से यूपी लाने की माँग उठ रही है। उत्तर प्रदेश के संसदीय कार्य राज्यमंत्री आनंद स्वरूप शुक्ला ने कहा है कि मुख्तार अंसारी को पंजाब से लाए जाने के बाद अब अतीक अहमद को भी गुजरात से यूपी लाया जाएगा।

मंत्री के इस बयान के बाद अब यह कहा जा रहा है कि यूपी सरकार अतीक अहमद को भी वापस लाने की कार्रवाई कर सकती है। अहमद फिलहाल गुजरात के अहमदाबाद की साबरमती जेल में बंद है।

17 वर्ष की उम्र में हत्या करके पहली बार अपराध के क्षेत्र में कदम रखने वाले अतीक अहमद को लगातार राजनैतिक संरक्षण प्राप्त होता रहा। अहमद प्रयागराज के एक थाने में हिस्ट्री शीटर अपराधी के रूप में सूचित है। उसके गिरोह को अंतरराज्यीय गिरोह के रूप में लिस्टेड किया गया है।

अहमद अपराधी होने के साथ यूपी की राजनीति का सक्रिय सदस्य भी था। निर्दलीय रूप में अपने राजनैतिक कैरियर की शुरुआत करने वाला अहमद बाद में समाजवादी पार्टी और अपना दल का सदस्य बना। 2004 में सपा के टिकट पर चुनाव जीतने वाला अहमद 2014 लोकसभा और 2018 के लोकसभा उपचुनाव में हार चुका है। 2005 में अहमद का नाम बीएसपी विधायक राजू पाल की हत्या में आया था। राजू पाल ने अहमद के भाई अशरफ को चुनाव में हराया था।

19 अप्रैल 2019 में चुनाव आयोग ने अहमद को देवरिया जेल से नैनी जेल भेज गया। इसके बाद उच्चतम न्यायालय के आदेश पर अहमद को गुजरात की जेल भेज दिया गया। वर्तमान में अतीक अहमद अहमदाबाद की साबरमती जेल में है।

उत्तर प्रदेश में योगी सरकार के आने के बाद माफियाओं और कुख्यात अपराधियों पर न केवल आपराधिक शिकंजा कसा जा रहा है अपितु उनकी अवैध संपत्तियों को भी नष्ट किया जा रहा है। मुख्तार अंसारी के अलावा अतीक अहमद की अवैध संपत्तियों पर भी कार्यवाई की जा रही है।  

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

NEET पेपरलीक का मास्टरमाइंड निकाल बिहार का लूटन मुखिया, डॉक्टर बेटा भी जेल में: पत्नी लड़ चुकी है विधानसभा चुनाव, नौकरी छोड़ खुद बना...

नीट पेपर लीक के मास्टरमाइंड में से एक संजीव उर्फ लूटन मुखिया। वह BPSC शिक्षक बहाली पेपर लीक कांड में जेल जा चुका है। बेटा भी जेल में है।

व्यभिचारी वैष्णव आचार्य, पत्रकार ने खोली पोल, अंग्रेजों के कोर्ट में मुकदमा… आमिर खान के बेटे को लेकर YRF-Netflix की बनाई फिल्म बहस का...

माँ भवानी का अपमान करने वाले को जवाब देने कारण हकीकत राय नामक बच्चे का खुलेआम सिर कलम कर दिया गया था। इस पर फिल्म बनाएगा बॉलीवुड? या सिर्फ वही 'वास्तविक कहानियाँ' चुनी जाती हैं जिनमें गुंडा कोई साधु-संत हो?

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -