Tuesday, July 27, 2021
Homeदेश-समाज'बाबा का ढाबा' वाले कांता प्रसाद को आत्महत्या के लिए उकसाया गया? यूट्यूबर गैंग...

‘बाबा का ढाबा’ वाले कांता प्रसाद को आत्महत्या के लिए उकसाया गया? यूट्यूबर गैंग का है हाथ? पुलिस में शिकायत दर्ज

"बाबा का ढाबा" के मालिक कांता प्रसाद सफदरजंग अस्पताल से घर लौट आए हैं। उन्होंने आत्महत्या की कोशिश की थी। उन्होंने कहा कि कई यूट्यूबर उन्हें कॉल करते थे, यूट्यूबर गौरव वासन से माफी माँगने के लिए कहते थे। इसी कारण वो...

“बाबा का ढाबा” के मालिक कांता प्रसाद घर लौट आए हैं। वो सफदरजंग अस्पताल में भर्ती थे। उन्होंने शराब के साथ नींद की गोलियाँ ली थीं और आत्महत्या की कोशिश की थी। कांता प्रसाद मतलब “बाबा का ढाबा” के मालिक के घर लौटने से बड़ी खबर है उनका यूट्यूबर (YouTuber) गौरव वासन पर आरोप लगाना।

मीडिया रिपोर्ट की मानें तो कांता प्रसाद ने पुलिस के सामने अपना बयान दर्ज कराया है। उन्होंने आरोप लगाया है कि कई यूट्यूबर उन्हें कॉल करते थे। कॉल करके उनसे यूट्यूबर गौरव वासन से माफी माँगने के लिए कहते थे। इसी कारण से अवसाद में चले गए थे और आत्महत्या की कोशिश की थी।

“बाबा का ढाबा” के मालिक कांता प्रसाद और उनके द्वारा यूट्यूबर गौरव वासन पर लगाए गए आरोप के मामले में अभी तक कोई प्राथमिकी दर्ज नहीं की गई है। पुलिस शुरुआती जाँच में उन यूट्यूबर की भूमिका की जाँच कर रही है, जो कांता प्रसाद को कॉल करते थे।

दिल्ली पुलिस के डीसीपी (दक्षिण जिला) अतुल कुमार ठाकुर ने मीडिया को बताया है कि 81 वर्षीय कांता प्रसाद की हालत स्थिर है और वह घर वापस आ गए हैं।

कांता प्रसाद के बेटे ने इससे पहले पुलिस को बताया था कि उसके पिता ने शराब और नींद की गोलियां खाई थीं। उनकी पत्नी बादामी देवी ने कहा था कि उन्होंने मालवीय नगर में अपना नया रेस्तरां बंद कर दिया था, जो पिछले साल दिसंबर में खुला था, और अपने पुराने सड़क किनारे स्टॉल पर वापस चले आए थे क्योंकि नई दुकान को चलाने की लागत लगभग 1 लाख रुपए थी, जबकि आय थी केवल 30,000 रुपए के आसपास।

जिस वीडियो से फेमस, उसी यूट्यूबर गौरव वासन पर आरोप

‘बाबा का ढाबा’ के मालिक कांता प्रसाद का आर्थिक तंगी के कारण रोता हुआ वीडियो पिछले साल 2020 में इंटरनेट पर वायरल हुआ था। यूट्यूबर गौरव वासन द्वारा शेयर किए गए वीडियो में वह असहाय दिख रहे थे। इस वीडियो के वायरल होने के बाद उनका ढाबा चल निकला। लेकिन कुछ दिनों बाद ही कहानी में ट्विस्ट आ गया था।

कांता प्रसाद ने यूट्यूबर गौरव वासन पर धोखाधड़ी, विश्वासघात, पैसों के हेर-फेर, आपराधिक साजिश का आरोप लगाया था। इसके अलावा वासन पर यह भी आरोप लगा था कि उन्होंने जानबूझकर केवल अपने और अपने परिवार/दोस्तों के बैंक डिटेल और मोबाइल नंबर दानदाताओं के साथ साझा किए और कांता प्रसाद को कोई भी जानकारी दिए बिना विभिन्न प्रकार के भुगतानों के माध्यम से दान की भारी राशि इकट्ठा की।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘कारगिल कमेटी’ पर कॉन्ग्रेस की कुण्डली: लोकतंत्र की सुरक्षा के लिए राष्ट्रीय सुरक्षा राजनीतिक दृष्टिकोण का न हो मोहताज

हमें ध्यान में रखना होगा कि जिस लोकतंत्र पर हम गर्व करते हैं उसकी सुरक्षा तभी तक संभव है जबतक राष्ट्रीय सुरक्षा का विषय किसी राजनीतिक दृष्टिकोण का मोहताज नहीं है।

असम-मिजोरम बॉर्डर पर भड़की हिंसा, असम के 6 पुलिसकर्मियों की मौत: हस्तक्षेप के दोनों राज्‍यों के CM ने गृहमंत्री से लगाई गुहार

असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने ट्वीट कर बताया कि असम-मिज़ोरम सीमा पर तनाव में असम पुलिस के 6 जवानों की जान चली गई है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,362FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe