Sunday, July 21, 2024
Homeदेश-समाजबिहार: आमना खातून के नवजात बच्चे की हुई चोरी, गुस्साई भीड़ ने की आगजनी,...

बिहार: आमना खातून के नवजात बच्चे की हुई चोरी, गुस्साई भीड़ ने की आगजनी, पुलिस पर पथराव

बिहार में एक नर्स द्वारा कथित तौर पर बच्चा चुराए जाने पर आगजनी कर रही गुस्साई हुई भीड़ ने पुलिसबल पर पथराव कर दिया। जवाबी कार्रवाई में पुलिस ने तीन राउंड फायरिंग की। मामला काबू में न आते देख डीएसपी को....

बिहार में एक नर्स द्वारा कथित तौर पर बच्चा चुराए जाने पर आगजनी कर रही गुस्साई हुई भीड़ ने पुलिसबल पर पथराव कर दिया। जवाबी कार्रवाई में पुलिस ने तीन राउंड फायरिंग की। मामला काबू में न आते देख डीएसपी को दलबल के साथ मौके पर ही कैम्पिंग करनी पड़ रही है। मामला मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के गृह जिले नालंदा का है।

आगजनी रोकने पहुँची थी पुलिस

पुलिस नालंदा के इस्लामपुर में आगजनी रोकने और सड़क-जाम खत्म कराने पहुँची थी। शुक्रवार रात इस्लामपुर के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र से एक नवजात बच्चे की चोरी हो गई थी। जब चोरी का पता चला तो परिजनों ने विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया। समाचार एजेंसी ANI के के मुताबिक उन्होंने अस्पताल पर पत्थरबाजी की और सम्पत्ति को क्षतिग्रस्त कर दिया:

जन्म और चोरी के समय को लेकर विरोधाभास

मामले को लेकर मीडिया में विरोधाभासी वृत्तांत सामने आ रहे हैं। एक ओर इंडिया टुडे के मुताबिक हिलसा, नालंदा के सब डिवीजनल अफसर (एसडीओ) वैभव चौधरी ने ANI से बात करते हुए कहा कि शुक्रवार देर रात लाई गई महिला ने शनिवार (29 जून) सुबह 9 बजे शिशु को जन्म दिया

वहीं न्यूज़ 18 ने शुक्रवार रात के तीन बजकर 20 मिनट के आसपास चोरी होने का दावा किया है। न्यूज़ 18 यह भी कहता है कि आमना ने एक नर्स पर ही बच्चे की चोरी का आरोप लगाया है। लेकिन ड्यूटी पर तैनात डॉ. प्रभाकर के हवाले न्यूज़ 18 ने यह भी लिखा है कि जिस महिला पर बच्चा चुराने का आरोप है, उसने नर्स से रात में कहा कि वह आमना खातून के ही साथ है, और वह आमना की सेवा करने लगी। रात करीब तीन बजकर 20 मिनट वह बच्चे को भाप दिलाने के नाम पर निकली और फरार हो गई

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

शुक्र है मीलॉर्ड ने भी माना कि वो इंसान हैं! चाइल्ड पोर्नोग्राफी देखने को मद्रास हाई कोर्ट ने नहीं माना था अपराध, अब बदला...

चाइल्ड पोर्नोग्राफी को अपराध नहीं बताने वाले फैसले को मद्रास हाई कोर्ट के जज एम. नागप्रसन्ना ने वापस लिया और कहा कि जज भी मानव होते हैं।

आरक्षण के खिलाफ बांग्लादेश में धधकी आग में 115 की मौत, प्रदर्शनकारियों को देखते ही गोली मारने के आदेश: वहाँ फँसे भारतीयों को वापस...

बांग्लादेश में उपद्रवियों को देखते ही गोली मारने के भी आदेश दिए गए हैं। वहाँ हिंसा में अब तक 115 लोगों की जान जा चुकी है और 1500+ घायल हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -